28 जुलाई 2014

विश्वविद्यालय में आमरण अनशन टूटा: मान ली गई मुख्य मांगें

|समीक्षा यदुवंशी|28 जुलाई 2014|
मंडल विश्वविद्यालय में अनियमितता के खिलाफ चल रहा अमंरण अनशन आज समाप्त हो गया. बीएन मंडल विश्वविद्यालय के वीसी विनोद कुमार ने अनशन पर बैठे सभी पाँचों छात्रों को जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया.
      अनशन से पहले वीसी ने छात्रों से मिलकर बताया कि उनकी हिन्दी विभाग कि परीक्षा भी इसी 31 अगस्त से सबों के साथ ही ली जायेगी. इस सम्बन्ध में उन्होंने पटना में रहकर सक्षम पदाधिकारी को एक मार्मिक पत्र लिखकर उनकी अनुमति प्राप्त कर ली है. छात्रों के भविष्य को बर्बाद होने नहीं दिया जाएगा. वे यहाँ छात्र हित में काम करने आये हैं. बी.एड. की धांधली के बारे में वीसी ने कहा कि मामला उनके संज्ञान में आया है और उन्होंने जांच के आदेश दे दिए हैं. वीसी ने कहा कि मैं किसी के दवाब में काम करने वाला नहीं हूँ और न ही नियम के विरूद्ध काम करने वाला हूँ. वीसी ने छात्रों की बाकी मांगों के बारे में कहा कि वे उनकी समस्या सुनने के लिए तैयार हैं और उन समस्याओं को जल्द ही बातचीत से हल करने के प्रयास किये जायेंगे.
      इससे पूर्व आज दिन में सुपौल की सांसद रंजीत रंजन ने भी अनशनकारियों से मुलाक़ात कर उनकी मांगों का समर्थन किया.
      इस तरह साथ दिन से चल रहे विश्वविद्यालय में आमरण अनशन और उससे उपजे तनाव का पटाक्षेप हो गया.

मुरलीगंज में सांसद पप्पू यादव तथा रंजीत रंजन के द्वारा दावत-ए-इफ्तार का आयोजन

|अमित कुमार|28 जुलाई 2014|
मधेपुरा जिला के मुरलीगंज प्रखंड मुख्यालय के एलपीएम महाविद्यालय के प्रागंण में रविवार को मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव तथा सुपौल के सांसद रंजीत रंजन के द्वारा में दावत-ए-इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया. दावत-ए-इफ्तार में नगर पंचायत सहित प्रखंड के सैकड़ों रोजेदारों तथा अन्य समुदायों के लोगों ने भी हिस्सा लिया. अजान के उपरान्त विधिवत समय अनुसार रोजा तोड़ा गया. रोजा तोड़ने के साथ ही महाविद्यालय प्रांगण में नवाज अदा किया गया.
दावत-ए-इफ्तार में उपस्थित रोजेदारों एवं प्रखंड के गनमान्य व्यक्तियों को संबोधित करते हुए सांसद राजेश रंजन ने कहा रमजान का यह पवित्र महीना समाज में अमन चैन बनाये रखने का संदेश देता है और आपसी द्वेष को मिटाकर आपसी भाईचारा के सूत्र में बंधने का अवसर देता है. इस महीने की कद्र समाज के सभी वर्गों, धर्म और जाति के लोगों को करनी चाहिए. रमजान ए मुबारक का महीना इनसानियत का पैगाम देता है. साथ ही उन्होंने कहा रोजा रख लेने से नही होता, बल्कि गरीब, कमजोर एवं बेसहारों का दर्द समझना, समाज के अंतिम व्यक्ति का सम्मान करना उसके बाद ही अल्लाह इबादत कबूल करते हैं.
मौके पर जिला परिषद अध्यक्षा श्री मति मंजू देवी ने कहा कि रोजा सिर्फ भूखे रहने का नाम नही हैं, रोजा झूठ एवं बदजुबानी से परहेज कर अल्लाह की इबादत करने का नाम है. नपं पार्षद सह जिला योजना समिति सदस्य श्वेत कमल बौआ ने कहा कि इस पवित्र रमजान पर्व में जो सासंद राजेष रंजन उर्फ पप्पु यादव के द्वारा ईफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया है, इससे दोनो ही समप्रदाय के लोगों के बीच आपसी प्रेम बढ़ेगा. इफ्तार पार्टी हिन्दू एवं मुसलमान भाइयों के बीच ऐतिहासिक एकता का प्रतीक हैं, और यह समाज को नई दिशा देगी.
दावत-ए-इफ्तार के मौके पर बीडीओ नवीन कुमार कंठ, सीओ रामावतार यादव, थानाध्यक्ष मुकेश कुमार मुकेश, जिप सदस्य मो जाकीर अली, मो. अजीम उद्दीन साहब, नगर मुख्य पार्षद सर्जना सिद्धी, प्रो नागेन्द्र यादव समेत कई स्थानीय नेता तथा आमलोग मौजूद थे.

पत्रकार पर जानलेवा हमला मामले में पुलिस की सुस्ती शर्मनाक

|नि० सं०|28 जुलाई 2014|
गत 22 जुलाई को बिहारीगंज थाना के गोरपार गाँव में एक घटना की रिपोर्टिंग के दौरान अपराधियों के हमले का शिकार बने एक स्थानीय पत्रकार दिलीप कुमार दीप के मामले में पुलिस की सुस्ती कुछ और ही कहती है.
      मिली जानकारी के अनुसार घटना के दिन गोरपार गाँव में गंगानंद सिंह तथा उनके लोगों के साथ मो० इलियास अपने सहयोगियों के साथ मारपीट की घटना को अंजाम दे रहा था. एक स्थानीय दैनिक अखबार के संवाददाता दिलीप कुमार दीप समाचार संकलन के लिए जैसे ही घटनास्थल पर जाकर अपने कैमरे से फोटोग्राफी करनी चाही तो दर्जनों संगीन मामलों के आरोपी मो० इलियास ने रायफल के बट से दिलीप के सर पर प्रहार किया और उसके एक सहयोगी मो आदिल ने लोहे के रॉड से दिलीप का हाथ तोड़ दिया. बुरी तरह घायल दिलीप आज पूर्णियां से इलाज कराकर भले ही घर पर हों, पर उस घटना के बाद पुलिस की भूमिका को याद कर दिलीप आक्रोशित हो जाते हैं.

शर्मनाक रही बिहारीगंज पुलिस की भूमिका: घटना किसी पत्रकार पर जानलेवा हमले का था. घायल दिलीप की हालत को देखकर भी बिहारीगंज थाना एफआईआर दर्ज करने में आनाकानी करती रही. बाद में कई पत्रकारों को आक्रोशित देखकर घटना के दो दिनों के बाद हत्या के प्रयास का मामला तो दर्ज कर लिया गया, पर अभी तक इस शर्मनाक घटना को अंजाम देकर सारे अपराधी छुट्टा घूम रहे हैं.
      हम अपने पाठकों को ये बता दें कि ये वही बिहारीगंज थाना है जिसके क्षेत्र में दो लड़कों के सर को पंचायत ने मुंड कर कालिख-चूना लगाकर गाँव घुमाया था. थानाध्यक्ष ने पहले तो घटना को नकारा था और बाद में सबूत न होने का भी बहाना किया था. हम पाठकों को ये भी बता दें कि मधेपुरा टाइम्स ने घटना का पूरा वीडियो भी बिहारीगंज थानाध्यक्ष को उपलब्ध करा दिया था. पर इनदिनों पुलिस एक्शन लेने से ज्यादा डील करने में भरोसा रखती है. अब देखें इस पत्रकार पर हमले के मामले में बिहारीगंज पुलिस कुछ करती है या फिर अपने नपुंसक होने का सबूत दे डालती है.

विकलांगों को मिला तीन माह के कोर्स के बाद छात्रवृत्ति और प्रमाणपत्र

|नि० सं०|28 जुलाई 2014|
जिला मुख्यालय की महत्वपूर्ण कम्प्यूटर संस्था गौतम इन्फोटेक में नेशनल हैंडीकैप्ड फायनांस एंड डेवेलपमेंट कॉरपोरेशन (एनएचएफडीसी) के द्वारा विकलांगों को दो हजार रूपये की छात्रवृत्ति और प्रमाणपत्र का वितरण किया गया.
      भारत सरकार के द्वारा संचालित नेशनल हैंडीकैप्ड फायनांस एंड डेवेलपमेंट कॉरपोरेशन के द्वारा यह प्रमाणपत्र गौतम इन्फोटेक के द्वारा विकलांगों के लिए संचालित तीन महीने के सफल कोर्स के बाद प्रदान किया गया.
      प्रमाणपत्र वितरण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पश्चिम बंगाल के पूर्व खेल मंत्री और एनएचएफडीसी के राष्ट्रीय महासचिव कान्ति गांगुली, सम्मानित अतिथि एनएचएफडीसी के संयुक्त मंत्री मुरलीधरन, मधेपुरा कॉलेज, मधेपुरा के प्राचार्य डा० अशोक कुमार आदि उपस्थित थे.
      इस मौके पर पश्चिम बंगाल के पूर्व खेल मंत्री और एनएचएफडीसी के राष्ट्रीय महासचिव कान्ति गांगुली ने कहा कि यह प्रशिक्षण कोशी के इलाके के प्रतिभाशाली विकलांगों के मील का पत्थर साबित होगा और उन्हें इससे आगे बढ़ने और रोजगार हासिल करने में काफी सहायता मिलेगी.

दावते इफ्तार बन रहा हिन्दू-मुस्लिम एकता का प्रतीक

|नि० सं०|28 जुलाई 2014|
रमजान का पाक महीना और मुस्लिमों का सबसे बड़ा पर्व ईद. मधेपुरा में ईद बड़े ही सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाया जाता है और इसमें हिन्दू भी जमकर हिस्सा लेते हैं.
      राजनीतिक दल या राजनेताओं के द्वारा इफ्तार पार्टियों का तो कुछ अलग अर्थ भी निकला जा सकता है, परन्तु मधेपुरा में दल से ऊपर उठकर भी कई लोग और संगठन इफ्तार पार्टियों का आयोजन करते हैं.
      जिला मुख्यालय में कर्पूरी चौक के पास कल शाम आयोजित इफ्तार पार्टी कई मायनों में खास रही. डाक बम (बोल बम) सेवा समिति और युवा कला परिषद (सरस्वती पूजा समिति) की ओर से आयोजित इफ्तार पार्टी में जहाँ करीब दो सौ रोजेदारों ने शिरकत की वहीं इफ्तार के बाद उसी जगह नमाज का भी आयोजन किया गया.
      मौके पर भिरखी स्थित मस्जिद के इमाम तथा अन्य रोजेदारों ने हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे पर बल दिया और कहा कि हमें मिलकर देश और समाज की तरक्की में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए.
      दावते इफ्तार के अंत में सभी रोजेदारों को उपहार में तौलिया भी भेंट किया गया. इस मौके पर रोजेदारों ने सभी लोगों को ईद के रोज मस्जिद आने का भी न्यौता दिया.

27 जुलाई 2014

विश्वविद्यालय अनशन: छात्रों को मरने के लिए छोड़ दिया प्रशासन ने ?

|नि० सं०|27 जुलाई 2014|
मंडल विश्वविद्यालय यानि स्थापना काल से ही लूट-खसोट का अड्डा. अधिकारी और कर्मचारी को हराम की खाने की आदत इतनी गहरी कि कोई भी विरोध इन्हें फूटी आँख नहीं सुहाता. यहाँ साजिशें इतनी गहरी रची जाती हैं कि पाकिस्तान की आईएसआई भी शर्मा जाय.
      पांच छात्र पहले तो विश्वविद्यालय की साजिश का शिकार होने के बाद कोई रास्ता न देखकर आमरण अनशन पर बैठे और अब ये फिर अगली साजिश का शिकार हो रहे हैं. मधेपुरा टाइम्स टीम जब आज सुबह अनशन स्थल पर पहुंची तो अनशनकारियों की स्थिति काफी नाजुक थी. बताया गया कि कल इन्हें देखने अस्पताल से डॉक्टर भी नहीं आये थे जबकि इससे पूर्व इनका चेकअप डॉक्टरों के द्वारा कराया जाता रहा है. कल एक अनशनकारी को जब उल्टियां होने लगी तो भी अस्पताल से कोई नहीं आया. बताया गया कि विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से भी कल किसी तरह की बातचीत करने कोई आगे नहीं आया. बस देर शाम प्रो० वीसी आये, दो मिनट बैठे और चले गए. जाहिर है इसे विश्वविद्यालय प्रशासन की संवेदनहीनता की पराकाष्ठा कहा जा सकता है और इस बात कि आशंका जाहिर की जा सकती है कि ये छात्र किसी साजिस का शिकार हो रहे हैं. छात्र नेता ने मधेपुरा के एसडीपीओ पर यह आरोप लगाया कि उन्होंने कहा कि आप जिस आका से गाइड हो रहे हैं, उनसे भी बात कर लीजिए.
      आज दिन में मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव भी अनशनस्थल पर पहुंचे और अनशनकारियों की स्थिति देखकर चिंता जाहिर की. उन्होंने अनशनकारियों की समस्या विस्तार से सुनी और कहा कि जायज समस्याओं का निराकरण जरूर करवाएंगे. विश्वविद्यालय प्रशासन को जगना ही होगा.

लड़की की जल्द बरामदगी के लिए निकाला मशाल जुलूस

|प्रिय रंजन|27 जुलाई 2014|
जिला मुख्यालय से भगाई गई लड़की को अबतक बरामद नहीं किये जाने से आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने आज शहर में मशाल जुलूस निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया.
      देर शाम जिला मुख्यालय के विभिन्न सड़कों पर भाजपा के कई दर्जन कार्यकर्ताओं ने मशाल जुलूस निकला और मधेपुरा पुलिस से लड़की को अविलम्ब बरामद करने की मांग की.
      जुलूस में शामिल भाजपा के जिला महामंत्री दिलीप सिंह ने कहा कि एक लड़की बीच शहर से गायब हो जाती है और मधेपुरा पुलिस अबतक ख़ाक छान रही है. उन्होंने कहा कि हाल में जिले में अपराध चरम पर पहुँच गया है. रोज ही हत्याएं, लूट आदि की घटना हो रही है और मधेपुरा के पुलिस अधीक्षक अपराध रोकने में नाकाम साबित हो रहे हैं. यदि लड़की अविलम्ब बरामद नहीं होती है तो वे अनिश्चितकालीन बाजार बंद करेंगे.

मधेपुरा से भगाई लड़की का कराया धर्म परिवर्तन: अंकिता से बन गई एलिना खान!

|कुमारी मंजू| 28 जुलाई 2014|
मधेपुरा से भगाई लड़की अंकिता उर्फ गोल्डी अब एलिना खान बन गई है. मधेपुरा टाइम्स को सूत्रों से जो जानकारी मिली है वो बेहद चौंकाने वाले हैं और नई परिस्थिति में परिजनों और पुलिस को अलग ढंग से सोचना पड़ सकता है. मामले (मधेपुरा थाना कांड संख्यां 390/2014) में पीड़िता की माँ के बयान पर मुख्य आरोपी मो० सोहैल खान, उसके पिता और माता समेत कुल ग्यारह लोगों को नामजद बनाया गया है. मामले में जहाँ मुख्य अभियुक्त के पिता सोएब आलम को गिरफ्तार कर भेज दिया गया है वहीँ अंकिता को भगाने और मोटरसाइकिल से पटना पहुंचाने के आरोपी सुमंत ने न्यायलय में आत्मसमर्पण कर दिया है. बताया गया कि अंकिता मधेपुरा के फाउन्डेशन ट्यूटोरियल नाम के कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ती थी जहाँ उसकी नजदीकी सोहैल से बढ़ी.
      सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सोहैल अंकिता को मधेपुरा से पटना पहुँचने के बाद दिल्ली लेकर चला गया. दिल्ली में गत 20 जुलाई को अंकिता का दिलकुशा मस्जिद, नया बाजार, लाहौरी गेट, नई दिल्ली-6 में धर्म परिवर्तन कराया गया जहाँ अंकिता अब एलिना खान बन गई. बताया जाता है कि उक्त मस्जिद नं. 2727, नया बाजार, लाहौरी गेट के मंदिर में अंकिता के धर्म परिवर्तन कराये जाने के रसीद का नंबर 44 है.
      सूत्रों के मुताबिक़ अंकिता के साथ निकाह की सारी जिम्मेवारी दिल्ली के एक वकील ने भारी भरकम ली और उसने फर्जीवारा कर कालिंदी सी डायग्नोस्टिक सेंटर, संत नगर, नई दिल्ली के डॉक्टर आर. कुमार से अंकिता का जन्म प्रमाणपत्र बनवाया जिसमें अंकिता की उम्र 19 वर्ष के लगभग दिखाई गई है. यहाँ हम पाठकों को बता दें कि नगरपालिका मधेपुरा से निर्गत अंकिता के जन्म प्रमाणपत्र पर उसकी जन्मतिथि 29 सितम्बर 1998 अंकित है. मतलब उम्र 16 साल से भी कम. हालाँकि दिल्ली के उस फर्जी डॉक्टर, जिसने अंकिता की उम्र 19 बताई, उसके जन्म प्रमाणपत्र पर नीचे छोटे अक्षर में This is not for medico legal purpose भी लिखा हुआ है पर उसी आधार पर मस्जिद ने अंकिता का धर्म परिवर्तन कर दिया और अंकिता बन गई एलिना खान. और फिर 22 जुलाई को ही अंकिता उर्फ एलिना ने दिल्ली के तीसहजारी कोर्ट में शपथपत्र बनवाया जिसमें उसने सोहैल से निकाह करने की बात कही. शपथ पत्र में ही इन्होने रहने का पता हाउस नं. 87, C ब्लॉक पॉकेट-4, बिंदापुर जे.जे. कॉलोनी लिखाया.
      इधर जहाँ मधेपुरा पुलिस ने मुख्य आरोपी सोहैल के पिता को गिरफ्तार के जेल भेज दिया है वहीँ सोहैल के घर की कुर्की की तैयारी की जा रही है.

क्या कहता है कानून?: भारतीय अपराध कानून के मुताबिक नाबालिग लड़की के भागने या गायब होने पर भगाने वाला लड़की को बहला-फुसला कर भगाने (भा.द.वि. कि धारा 366 (A) ) का आरोपी होगा जिसके लिए दस वर्ष के सश्रम कारावास की सजा है. नाबालिग के साथ सहमति से सेक्स भी बलात्कार की श्रेणी में रखा जाएगा. इन परिस्थितियों में यदि अंकिता नाबालिग है तो जाहिर है उसको भगाना, फर्जी मेडिकल सर्टिफिकेट जिसमें साफ़ लिखा हो कि इसका कानूनी उपयोग नहीं किया जा सकता है, के आधार पर धर्म परिवर्तन कर देना और निकाह संपन्न कराना सारे संगीन अपराध के दायरे में आते हैं. नई परिस्थिति में मधेपुरा पुलिस को चाहिए कि लड़की को जल्द बरामद करे और सोहैल को सलाखों के पीछे पहुंचाए, चूंकि मामला मधेपुरा थाना में दर्ज है.

26 जुलाई 2014

जिला मुख्यालय में छोटे भाई ने चाकू से किया बड़े भाई पर हमला: लहूलुहान

|मुरारी कुमार सिंह|26 जुलाई 2014|
कभी एक दूसरे के लिए जान दे देने का दम भरने वाले जब आपस में दुश्मन बनते हैं तो वे दुश्मनी भी निभाने में पीछे नहीं रहते.
      जिला मुख्यालय के वार्ड नं. 18 में स्टेट बैंक के पास बीती रात हुई घटना ने भाई-भाई के सम्बन्ध को शर्मशार कर दिया. बुरी तरह जख्मी मधेपुरा के सदर अस्पताल पहुंचे वैद्य रामानंद गिरी के पुत्र संजय गिरी ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि रात में करीब 8 बजे उसका छोटा भाई अशोक गिरी उर्फ मिट्ठू गिरी दारू पीकर आया और गालीगलौज करने लगा. उसने जब मना किया तो मिट्ठू अपने दोस्तों के साथ उसपर चाकू से हमला कर दिया. छोटा भाई उसका गला काटने का प्रयास कर रहा था, जिससे बचने में उसके सर, गाल और कंधे पर चाकू के वार लगे.
      मामला पुलिस में जा चुका है.

5 शिक्षकों और पंचायत सचिव पर एफआईआर दर्ज: मामला फर्जी प्रमाणपत्र पर नौकरी का

|बी. सिंह|26 जुलाई 2014|
नौकरी पाने के लिए जालसाजी का इतिहास दुनियां में काफी पुराना रहा है. जाली प्रमाणपत्र और फर्जी टीईटी प्रमाणपत्र के आधार पर नियोजित पांच पंचायत शिक्षक और तत्कालीन पंचायत सचिव तथा नियोजन इकाई के सचिव के खिलाफ मधेपुरा में एफआईआर दर्ज हुआ है. मामले का खुलासा तब हुआ जब मधेपुरा जिले के आलमनगर बीडीओ अब्दुल खालिक ने आलमनगर प्रखंड के कुंजौरी ग्राम पंचायत नियोजन इकाई के द्वारा भेजे गए शिक्षकों के मानदेय भुगतान के दौरान एडवाइस तैयारी के क्रम में उन्हें शिक्षकों के फर्जी होने का अहसास हुआ. और फिर जब उन्होंने बिहार बोर्ड के वेबसाईट पर मौजूद शिक्षक पात्रता परीक्षा के परिणाम का अवलोकन किया तो सारा मामला खुल गया.
      आलमनगर बीडीओ ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि पवन कुमार, मंजौरा उदाकिशुनगंज निवासी, जो प्राथमिक विद्यालय जगदीशपुर में नियोजित हैं, इंदु कुमारी, बजराहा, आलमनगर निवासी, जो प्राथमिक विद्यालय बजराहा मुसहरी में नियोजित हैं, हिना कौसर बजराहा निवासी प्राथमिक विद्यालय सुलेमान टोला में नियोजित हैं, राम कुमार, भान टेकठी घैलाढ़ निवासी जो प्राथमिक विद्यालय जगदीशपुर में नियोजित हैं तथा वंदना कुमारी कबैला परवत्ता खगड़िया निवासी का प्रमाणपत्र जाली पाया गया है.
      उपर्युक्त शिक्षकों के अलावे बीडीओ के आदेश पर इनके नियोजन इकाई सचिव सह पंचायत सेवक युगल किशोर रजक के द्वारा कुंजौरी पंचायत के पंचायत सचिव प्रदीप विश्वास जो वर्तमान में मधेपुरा प्रखंड में पंचायत सेवक हैं, के भी विरूद्ध मामला दर्ज कराया गया है.

अनशन जारी, सुलग रहा है विश्वविद्यालय: कई छात्र संगठनों ने किया प्रदर्शन

|मुरारी कुमार सिंह|26 जुलाई 2014|
भ्रष्टाचार का गढ़ रहा मंडल विश्वविद्यालय एक बार फिर सुलगता दीख रहा है. विश्वविधालय में हिन्दी विभाग में विश्वविद्यालय प्रशासन की गलती भले ही वीसी मान रहे हों, पर समाधान निकाल पाने में अपनी लाचारी व्यक्त कर रहे हैं और नतीजा कि छात्रों का आमरण अनशन जारी है.
      एनएसयूआई के छात्र नेता और अन्य छात्रों के द्वारा जारी आमरण अनशन को अब लगभग सभी छात्र संगठन ने अपना समर्थन दे दिया है और आज छात्र राजद ने तो यहाँ तक कह दिया कि अब हमारा नारा है, वीसी भगाओ, विश्वविद्यालय बचाओ.
      आज भी जहाँ कई छात्र संगठन अनशन स्थल पर मौजूद थे वहीँ छात्र युवा संघर्ष समिति (CYSS) के बैनर तले आज छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में तथा बाहर जमकर प्रदर्शन किया और विश्वविद्यालय प्रशासन को कोसा.
      मौके पर छात्र राजद तथा अन्य संगठनों ने भी सीवाईएसएस के साथ मिलकर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार को बंद कर दिया और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे बाजी की. छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष मो० आलम ने कहा कि ये दुर्भाग्य्पूर्व है कि यहाँ छात्र आमरण अनशन पर बैठे हैं और वीसी एसी में बैठकर पटना से बयान जारे कर रहे हैं.
      एक बात तो तय है कि छात्रों कि मांग जायज है और विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही का खामियाजा छात्र क्यों भुगते???

25 जुलाई 2014

मुरलीगंज में स्कूलों की स्थिति असंतोषजनक: नप अध्यक्षा का औचक निरीक्षण

|अमित कुमार|25 जुलाई 2014|
मुरलीगंज नगर पंचायत के अंतर्गत पड़ने वाले कई स्कूलों में न तो छात्रों की उपस्थिति संतोषजनक है और न ही शिक्षा की गुणवत्ता.मुरलीगंज नगर पंचायत की अध्यक्षा सर्जना सिद्धि ने शिक्षा समिति के सदस्य अरूण जायसवाल तथा वार्ड पार्षद अनिता शर्मा के साथ गुरूवार को नगर पंचायत स्थित विभिन्न विद्यालय का औचक निरिक्षण किया.  
       निरीक्षण के क्रम में उन्होने भुवनेश्वरी मुरहो उच्च विधालय, आनंदी प्रसाद कॉलेजिएट स्कूल, सोनी मध्य विद्यालय तथा प्रोजेक्ट कन्या उच्च विधालय में छात्रों की उपस्थिति असंतोषजनक पाने पर मुख्य पार्षद सर्जना सिद्धि ने विधालय के प्रधानाध्यापक को विधालय में नामांकित छात्रों के अभिभावक की एक सूची तैयार कर विधालय में प्रत्येक माह अभिभावको की एक बैठक आयोजित करने के साथ अभिभावको के सामने छात्र-छात्राओ द्वारा विद्यालय में उपस्थित नही होने की कारण की पुष्टि करने की बात कही. निरीक्षण के दौरान भुवनेश्वरी मुरहो उच्च विधालय के प्रधानाध्यापक सदानन्द यादव ने नप के मुख्य पार्षद से विद्यालय में चाहरदीवारी एवं छात्र-छात्राओ के लिए शौचालय की मांग की. प्रोजेक्ट कन्या उच्च विधालय के प्रधानाध्यापक सुभाषचन्द्र ठाकुर एवं आनंदी प्रसाद कॉलेजिएट स्कूल के प्रधानाध्यापक सियाराम यादव ने विद्यालय में जर्जर भवन, डेक्स, बेन्च, शौचालय के मरम्मत की मांग की.
निरीक्षण के क्रम में शिक्षा के गुणवत्ता को देखकर मुख्य पार्षद सर्जना सिद्धि ने विधालय प्रधान एवं प्रभारी प्रधानाध्यापक की जमकर क्लास ली.

छात्रा के अपहरण के आरोपी लड़के के पिता को पुलिस ने किया गिरफ्तार: घर की कुर्की के लिए पुलिस तैयार

|मुरारी कुमार सिंह|25 जुलाई 2014|
जिला मुख्यालय के इंटर की छात्रा के गायब होने के मामले में पुलिस के खिलाफ लोगों तथा राजनीतिक दल के विरोधों के बीच पुलिस ने आज मुख्य आरोपी के पिता को मामले में संलिप्त होने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया.
      नाबालिग छात्रा के अपहरण के मुख्य आरोपी मो० सोहैल के पिता मो० शोएब को पुलिस ने छात्रा के अपहरण में संदिग्ध संलिप्तता के आरोप में आज गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार मो० शोएब मधेपुरा जिला के सिंहेश्वर के पोस्ट ऑफिस में रात्रि प्रहरी का काम करता है. गिरफ्तार मो० शोएब से पुलिस पूछताछ कर रही है.
      मधेपुरा के सदर थानाध्यक्ष नवीन सिंह ने बताया कि आरोपी अभियुक्त मो० सोहैल के घर के कुर्की की तैयारी की जा रही है और उससे पूर्व की प्रक्रिया के तहत अभियुक्त के घर पर उसके मामा की उपस्थिति में इश्तेहार चिपका दिया गया है. श्री सिंह ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि लड़की की जल्द बरामदगी और आरोपी के सरेंडर के लिए पुलिस लगातार दवाब बनाये हुई है और सभी संभावित ठिकानों पर पुलिस की छापामारी जारी है.
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...