19 दिसंबर 2014

भाजपा पंचायती राज मंच का मधेपुरा में धरना

भारतीय जनता पार्टी पंचायती राज मंच के बैनर तले आज जिला मुख्यालय के कला भवन के सामने एक दिवसीय धरना कार्यक्रम का आयोजन किया गया.
      बिहार सरकार के द्वारा पंचायती राज प्रतिनिधियों को सभी अधिकार नहीं दिए जाने के विरोध में भाजपा पंचायती राज के जिलाध्यक्ष आभाष आनंद झा की अध्यक्षता में आयोजित धरना कार्यक्रम में श्री झा ने कहा कि बिहार सरकार ने पंचायती राज व्यवस्था को महज कागजी तौर पर लागू किया है और वास्तविक तौर पर अबतक त्रिस्तरीय पंचायती राज प्रतिनिधियों को अभी तक समुचित संसाधन तक उपलब्ध नहीं कराये गए हैं.
      इस बावत एक मांगपत्र जिलाधिकारी मधेपुरा को सौंपा गया. मौके पर उपस्थित बतौर अतिथि पंचायती राज मंच के प्रदेश मंत्री सह क्षेत्रीय प्रभारी सरोज कुमार पप्पू ने कहा कि पंचायती राज प्रतिनिधियों को आवश्यक अधिकारों से वंचित रखा जाना जनता के साथ एक बड़ा धोखा है. यदि शीघ्र सरकार इसपर ध्यान नहीं देती है तो एक बड़ा आंदोलन शुरू किया जाएगा.
      धरना के बाद पेशावर मे मारे गए निर्दोष बच्चों की निर्मम हत्या से आहत सभी धरनार्थियों ने दो मिनट का मौन रखा. मौके पर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अरविन्द कुमार अकेला, जिला महामंत्री सह प्रवक्ता दिलीप सिंह, भजपा नेता शौकत अली समेत दर्जनों नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे.

संपर्क यात्रा के दौरान पूर्व सीएम नीतीश कुमार मधेपुरा में: कल उदाकिशुनगंज में कार्यक्रम

संपर्क यात्रा के दूसरे चरण में आज बिहार के पूर्व मुख्यमत्री नीतीश कुमार देर शाम मधेपुरा पहुंचे.
      पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने सम्पर्क यात्रा के दूसरे चरण में कल उदाकिशुनगंज के एचएस कॉलेज मैदान में कार्यकर्ता सम्मेलन को सम्बोधित करेगें. सम्पर्क यात्रा की तैयारी को लेकर जदयू के स्थानीय नेताओं और विधायक ने कार्यक्रम का जाएजा लिया. कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा इंतजाम को देखने के लिए मधेपुरा एसपी आनंद कुमार सिंह, एसडीपीओ और एसडीएम के साथ कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे और सारी स्थिति का जायजा लिया.
      बिहार के राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री तथा आलमनगर के विधायक नरेन्द्र नारायण यादव भी कार्यक्रम के देखरेख में व्यस्त रहे. उन्होंने बताया कि कल बिहार सरकार के कई मंत्री और जिले के एमपी और एमएलए भी इस मौके पर उपस्थित रहेंगे.
      बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मधेपुरा जिला मुख्यालय के मेन रोड मे अपने मित्र और विधान पार्षद ललन सर्राफ के आवास पर ठहरे हुए हैं.

मधेपुरा में फिर मरीज की मौत पर डॉक्टर की क्लिनिक पर तोड़फोड़

|दिव्य प्रकाश|19 दिसंबर 2014|
मधेपुरा में चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप मानो अब दिनचर्या का हिस्सा बनते जा रहे हों. मरीज की मौतों के जिम्मेवार डॉक्टर ठहराए जाने लगे हैं और अब लोगों के आक्रोश का निशाना भी चिकित्सक बन रहे हैं.
      ताजा मामले में एक महिला मरीज की गत रात मौत हो जाने से आक्रोशित परिजनों ने मधेपुरा जिले के बिहारीगंज के एक चिकित्सक डा० विनोद के क्लिनिक पर जमकर तोड़फोड़ कि और उनपर हमला भी कर दिया. परिजनों ने क्लिनिक पर लगे सीसीटीवी कैमरे को भी तोड़ दिया. उनका आरोप था कि मोहनपुर के हीरालाल दरवे की पत्नी सीता देवी को देखने में डॉक्टर ने देरी लगा दी जिसकी वजह से सीता देवी की मौत हुई है.
      जबकि डा० विनोद ने कहा कि पेशेंट उनके यहाँ मृत अवस्था में लाई गई थी और उनपर लगाये परिजनों के सारे आरोप बेबुनियाद हैं.

और प्यार जग उठा: यौन शोषण पीडिता को आरोपी ने अपनाया, लिए सात फेरे

गत दिनों मधेपुरा अस्पताल में बेहोश पड़ी लड़की के उस हालात तक ले जाने के जिम्मेवार आरोपी से अपनी प्रेमिका की हालत देखी नहीं गई और उसने समाज के सामने उसे अपना लिया.
      मिली जानकारी के अनुसार इस बार जब लड़की को उसके प्रेमी अमन कुमार अब्बू ने रात भर रखने के बाद बेहोशी की हालत में छात्रा को उसके घर पहुँचाया तो छात्रा की स्थिति सदमे की वजह से अत्यंत ही नाजुक हो चली थी. छात्रा के पिता ने पुलिस में भी अमन कुमार अब्बू के खिलाफ शिकायत की थी.
      क़ानून और समाज के बढते दवाब में अमन ने छात्रा को अपना लेने में ही भलाई समझी. नजदीकी लोगों का कहना है कि छात्रा साथ बिताए दिनों को याद करते अमन का प्यार जग उठा. और फिर अमन ने छात्रा को अपनाते हुए दोनों तरफ के कई शुभचिंतकों की मौजूदगी में सिंहेश्वर मंदिर में बाबा भोले को साक्षी मानकर सात फेरे लगा लिए.

पेशावर में मारे गए बच्चों की याद में मधेपुरा में कैंडल जलाकर दी श्रद्धांजलि

पाकिस्तान के पेशावर में तालिबान के द्वारा मारे गए 132 स्कूली बच्चों की आत्मा की शान्ति के लिए आज मधेपुरा में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई. आज की श्रद्धांजलि में कई नेता और जनप्रतिनिधियों के साथ स्कूली बच्चों और अभिभावकों ने भी भाग लिया.
      मधेपुरा जिला मुख्यालय के रासबिहारी हाई स्कूल के मैदान में बसपा लोकसभा प्रत्याशी गुलजार कुमार उर्फ बंटी यादव के द्वारा आयोजित इस श्रद्धांजलि कार्यक्रम में बच्चों तथा मौजूद लोगों ने पेशावर के उन मासूमों की याद में कैंडल जलाकर दुःख का इजहार किया जिन्हें गत 16 दिसंबर को पेशावर के आर्मी स्कूल में आतंकवादियों ने मौत के घाट उतार दिया था.
      इस दौरान उपस्थित नगर परिषद् में मुख्य पार्षद विशाल कुमार बबलू, भाजपा पंचायती राज मंच के जिलाध्यक्ष आभाष आनंद झा, वार्ड पार्षद ध्यानी यादव, वार्ड पार्षद पति मो० इसरार, ओम प्रकाश श्रीवास्तव समेत उपस्थित सभी लोगों ने दो मिनट का मौन रखा. बसपा नेता गुलजार कुमार ने कहा कि हम सभी आतंकवादियों के इस कायरतापूर्ण कदम की निंदा करते हैं. जेहाद के नाम पर वे निर्दोषों का खून बहाना बंद करें. हम सबों से अपील करते हैं कि जात-धर्म-मजहब से ऊपर उठकर इंसानियत के धर्म को सबसे पहले मानें.

कस्तूरबा विद्यालय से तीन गूंगी छात्रा भागी: लगाया वार्डेन पर दुर्व्यवहार का आरोप

|पुरैनी से अख्तर वसीम/चौसा से आरिफ आलम|19 दिसंबर 2014|
कस्तूरबा विद्यालय पुरैनी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. आज विद्यालय की तीन गूंगी छात्राओं  के साथ स्कूल वार्डेन द्वारा अभद्र व्यवहार एवं मारपीट करने का मामला प्रकाश में आया है. इसे लेकर छात्राओं के परिजनों ने चौसा थाना में वार्डेन के खिलाफ कार्यवाही की गुहार लगाई है.  
      मिली जानकारी के मुताबिक़ लौआलगान खोपड़िया के वर्ग सात की छात्रा रूखसाना खातून, लौआलगान के वर्ग 6 की छात्रा सोनी प्रवीण एवं पैना के वर्ग 6 की छात्रा अजमीना खातून  सभी तीनों चौसा प्रखण्ड क्षेत्र की ही रहने वाली है, जो कस्तुरबा विद्यालय पुरैनी में पढ़ती है. जानकारी दी गई कि अजमीना खातून के पिता की मौत कुछ वर्ष पहले हो चुकी है. रूखसाना खातून एवं सोनी प्रवीण के पिता मजदूरी करने पंजाब गये है. छात्रा रूखसाना की माँ नूरजहाँ, सोनी प्रवीण की माँ नजमून खातून एवं अजमीना खातून  की माता टुबली खातून ने विद्यालय के वार्डेन स्वेता भारती पर अपनी गूंगी बेटियों पर अभद्र व्यवहार एवं मारपीट का आरोप लगाया है और पुलिस ने इन्साफ की गुहार लगाई है.
      घटना के बारे में और ज्यादा मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीणों ने बच्चियों को चौसा में भटकते देख पूछताछ की तो पता चला कि सभी लड़कियां गूंगी है. ग्रामीणों ने चौसा के ही मो० मोसीन शाह की सुरक्षा में तीनों लड़कियों को रात में रखा. बताया गया कि वहीं दूसरी तरफ छात्रा के भागने की सूचना पाकर देर रात में ही कस्तूरबा की वार्डेन श्वेता भारती अपने सहकर्मियों के साथ छात्रा की खोजबीन करते हुए लड़कियों के घर पहुंची जहां बच्ची नहीं मिली. इससे बच्चियों के परिजनों और विद्यालय के प्रबंधन हड़कंप मच गया. बाद में विद्यालय के वार्डेन को पता चला कि सभी तीनों बच्ची चौसा में है. जानकारी पाकर वार्डेन बच्ची को लाने चौसा स्थित मो. शाह के घर पहुंची, जहां मो. शाह एवं अन्य ग्रामीणों ने बच्चे का डरे सहमे देख वार्डेन साथ नहीं जाने दिया व इस दौरान विद्यालय के वार्डेन और अन्य सहकर्मियों को देख बिलख-बिलख कर रोने जिससे ग्रामीणों एवं वार्डेन में कुछ कहा सुनी भी हुई. खबर यह भी है कि वार्डेन द्वारा छात्राओं को रात में आश्रय देने वाले एवं ग्रामीणों को धमकी भी दिया गया, लेकिन ग्रामीणों ने बच्चियों को ले जाने से साफ इंकार करते हुए कहा कि सुबह होने पर बच्चियों के परिजनों समक्ष बच्चियों को जाने दिया जाएगा. सुबह में परिजन भी जानकारी पाकर अपनी बच्चियों के पास पहुँच गए. वहीं एक प्रत्यक्षदर्शी की माने तो इन मासूम तीनों बच्चियों द्वारा दिए इशारे से इस बात का भी अंदाजा है कि कहीं ना कहीं उक्त विद्यालय में बच्चियों के साथ विद्यालय प्रबंधन द्वारा अमानवीय और गलत व्यवहार किया गया होगा.

उधर कस्तूरबा पुरैनी वार्डेन श्वेता भारती का कहना है कि कल शाम तीनो गूंगी छात्राओं को स्कूल के बच्चों के साथ खेलने के लिए बाहर निकाला गया था. उसी समय तीनो छात्रा वहाँ से निकल गई. मारपीट जैसी कोई बात नहीं है और ऐसा आरोप मुझे फसाने की साजिस है. पुरैनी बीईओ राजदेव पासवान ने बताया कि मामले की सारी जानकारी मधेपुरा के डीएम को भेज दिया गया है.
देखें वीडियो में किस तरह गूंगी बच्चियों ने लगाया आरोप, यहाँ क्लिक करें.

पूर्णिया के एमवीआई समेत दो की मौत, एक अन्य घायल: घटना वाहन चेकिंग के दौरान

पूर्णियां जिले के जलालगढ़ थाना अंतर्गत काली मंदिर के पास एक ट्रक ने पूर्णियां एमवीआई की जीप को सामने सामने टक्कर मारी जिसमें  एमवीआई सुशील पाण्डेय समेत दो लोगो की मौत हो गई जबकि एक व्यक्ति बुरी तरह घायल है.
घटना के विषय में बताया जा रहा है कि काली मंदिर के पास फ़ोर लेन पर एमवीआई अपनी टीम के साथ गाडियों की जाँच कर रहे थे. उसी क्रम में तेज रफ़्तार से आ रही ट्रक ने एमवीआई एस के पाण्डेय की गाड़ी में सीधी टक्कर मार दी. इस दुर्घटना में चन्दन नाम के व्यक्ति की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी जबकि अस्पताल में इलाज के क्रम में एमवीआई सुशील पाण्डेय ने दम तोड़ दिया. एमवीआई सुशील पाण्डेय बक्सर के रहने वाले है. इस मामले को लेकर जिलापदाधिकारी का कहना है कि एमवीआई अपनी टीम के साथ गाडियों की जाँच कर रहे थे, उसी क्रम में यह हादसा हुआ है. ट्रक को जब्त कर लिया गया है मगर  आरोपी ड्राईवर फरार हो गया है. मामले की जाँच की जा रही है.

सहरसा में अपराधियों का लगातार दूसरे दिन भी तांडव: शराब दुकान को लूटा

सहरसा में कल जहाँ नया बाजार में अपराधियों का तांडव देखने को मिला वहीँ आज दिन-दहाड़े अपराधियों ने एक शराब दुकान को हथियार की नोक पर लूट लिया.
      शहर के गांधी पथ में मौजूद उर्वशी वाइन सेंटर में आज अपराधियों का कहर बरपा. शहर के बीच में मौजूद इस दुकान में कई अपराधी आग्नेयास्त्र के साथ घुस गए और अंधाधुंध गोलियाँ चलानी शुरू कर दी. दुकान में मौजूद कर्मचारी भय से इधर-उधर दुबक गए. इसी बीच अपराधियों ने कैश काउंटर में मौजूद लाखों रूपये लूट लिए और चलते बने. गोलीबारी में शराब की टूटी हुई बोतलें दुकान में चारों तरफ बिखरी हुई थी.
      अपने स्वभाव के अनुसार सहरसा पुलिस ने बाद में जाकर स्थिति का जायजा लिया. सहरसा में अपराध इन दिनों चरम पर है और पुलिस महज अपराध घटित होने के बाद खानापूर्ति के लिए ही पहुँच रही है.

18 दिसंबर 2014

दूसरी लड़की से शादी के चक्कर में जहर खिलाकर पत्नी को मारा था, पिता ने दिया था साथ: दोनों को सजा

मधेपुरा के एक न्यायालय ने आज एक बाप और उसके बेटे को छ:-छ: साल की सजा देते हुए पांच-पांच हजार रूपये का अर्थदंड भी लगाया है. आरोप एक विवाहिता की हत्या का है.
मधेपुरा जिले के घैलाढ़ भतरंधा के महेंद्र यादव की पोती प्रियंका का विवाह करीब तेरह साल पूर्व पड़ोसी अनमोल यादव के साथ हुआ था. उस समय कन्या नाबालिग थी. लड़की के परिवारजनों ने लड़की को मायके में ही रखा. जब लड़की बालिग़ हुई तो उसे ले जाने का दवाब लड़के वालों पर जब डाला गया तो लड़का पक्ष ने आनाकानी कि आप लड़की की शादी कहीं और कर दीजिए. पंचायत हुई. पंचायत ने लड़के से लड़की को ले जाने को कहा ले तो लड़की के पिता ने कहा कि उसके पुत्र का गाँव के ही किसी अन्य लड़की से सम्बन्ध है, वो उसी से शादी करेगा. वर्ष 2011 की इस घटना में पंचायत ने फिर दवाब दिया तो अनमोल यादव पत्नी को विदा कराके सामान के साथ ले गया. पर घर पर लड़के ने फिर लड़की पर दवाब डाला कि कहीं और शादी कर लो.
लड़की के भाइयों ने बहनोई को समझाया, पर नहीं माना. 1.2.2011 के सुबह छ: बजे दादा महेंद्र यादव को खबर मिली कि पोती को जहर दे दिया है. पहुँचने से पहले लड़की मर चुकी थी. मामले में पिता बिशो यादव और पुत्र अनमोल यादव को हत्या का दोषी पाया गया.
मधेपुरा के द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री मिथिलेश कुमार द्विवेदी ने दोनों बाप-बेटों को सजा सुनाते हुए कठोर कारावास भुगतने के लिए जेल भेज दिया है.
(नि.सं.)

‘हुजूर, मेरी पत्नी मुझे मारती है और जान से मारना चाहती है’: पत्नी के खौफ से डरा पति पहुंचा एसपी के जनता दरबार

हुजूर, मेरी पत्नी मुझे मारती है और मुझे जान से मारना चाहती है क्योंकि मेरे मरने के बाद मेरी संपत्ति पर उसका हिस्सा होगा. उसके भाई यानि मेरे साले भी मुझे मार देना चाहते हैं.
      मधेपुरा जिले के पुरैनी के वंशगोपाल गाँव के कैलाश साह ने जब जनता दरबार में मधेपुरा के पुलिस अधीक्षक के सामने अपना दुखड़ा सुनाना शुरू किया तो पहले तो लगा कि इस देहाती दिखने वाले व्यक्ति के साथ अन्याय हुआ है, पर जब उसने पूरी कहानी सुनाई तो जानकर लोगों की मिश्रित प्रतिक्रियाएँ सामने आई. कैलाश ने आगे साफ़ किया कि उसने दो शादी की है और दूसरी पत्नी के साथ रहता है. उसे प्रताड़ित करने वाली उसकी पहली पत्नी है.
      खैर, जो भी हो, जान की सुरक्षा की गुहार लगाने का अधिकार तो सबको है और फिर पूरी वस्तुस्थिति क्या है इसकी जाँच तो होनी ही चाहिए.

अभी-अभी: मधेपुरा में भूकंप के झटके, अबतक किसी नुकसान की खबर नहीं

मधेपुरा समेत करीब पूरे बिहार में भूकंप का हल्का झटका महसूस किया गया. अभी थोड़ी देर पहले 09:03 बजे अचानक आये भूकंप के झटके से मधेपुरा में कई परिवार दहशत में आ गए. हालाँकि झटका मामूली था और जबतक में लोग कुछ समझ पाते तबतक में फिर सबकुछ शांत हो गया.
      झटका मुश्किल से तीन सेकेण्ड का रहा होगा. रिक्टर स्केल पर तीव्रता 5.2 मापी गई है. जिले में अबतक कहीं से किसी नुकसान की खबर नहीं मिली है. हालाँकि कई जगह कुछ लोग घर से बाहर निकल गए थे.
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...