पंचायत प्रतिनिधि प्रक्षिक्षण

महुआ शराब,8 महिलाएं गिरफ्तार

किड्स ग्लो वर्ल्ड की प्रस्तुति

बीपी मंडल जयंती कल

खेलकूद पर नजरिया बदलें

भूमि विवाद में 6 जख्मी

शराब सहित तस्कर गिरफ्तार

डॉ. बोस की याद में शोकसभा

शिक्षक ने किया दुष्कर्म

पंचायत सरकार भवन

डिबेट में पप्पू यादव नं.1

विदेशी शराब बरामद

शौचालय टैंक में दवा

पुलिस-पब्लिक बैठक

डॉ. बोस की अंतिम यात्रा

नाबालिग शादी और अपहरण!

स्पेलिंग बी प्रतियोगिता

'बिन तेरे सब सून'

सोशल मीडिया का 'गेट टुगेदर'

नहीं रहे डॉ. देवाशीष बोस

सोशल मीडिया मिलन समारोह

फुटपाथ विक्रेताओं का धरना

मौके पर चोर धराए

सद्भावना दिवस मनाया

बीडीओ पहुंचे गर्ल्स स्कूल

जनप्रतिनिधियों की करतूत

चिकित्सकों की हड़ताल

आखिर चला बुलडोजर

फुटपाथ दुकानदारों का प्रदर्शन

लोहिया प्रतिमा से छेड़छाड़

रंगदारी मांगने वाला गिरफ्तार

पिता ने की बेटी की हत्या

छेड़खानी में एचएम गिरफ्तार

मंदिर में अब नहीं गांजा

हत्याकांड में आए विशेषज्ञ

खुला नीलकमल शोरूम

घंटों में अपराधी गिरफ्तार

कुसहा त्रासदी के 8 साल

'लव के सौदा' इंटरनेट पर

रक्षा बंधन की तैयारी

शिक्षकों का धरना जारी

50 हजार और बाइक लूटे

डूबकर दो बच्चों की मौत

सीपीआई का प्रदर्शन

चोरों ने की हत्या

आपदा मंत्री का दौरा

सहरसा ग्रुप मिलन समारोह

गुरुवार, 25 अगस्त 2016

मधेपुरा: पंचायत प्रतिनिधियों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण 26 अगस्त से शुरू

मधेपुरा जिले के सभी त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण 26 अगस्त से शुरू हो रहा है, जिसमें पंचायत प्रतिनिधियो को क्षमतावर्द्धन बनाने के लिये प्रशिक्षित किया जायेगा.
    सभी पंचायत प्रतिनिधियों को उनके दायित्व के प्रति सजग और जागरुक किया जायेगा, तथा उन्हे अपने कर्तव्य और अधिकार की जानकारी दी जायेगी, जिसमें केन्द्र एवं राज्य सरकार के योजनाओ का चयन एवं कार्यान्वयन, कैश बुक संधारण, चौदहवीं वित्त, पांचवीं एसएफसी, राज्य सरकार के सात निश्चय, वित्तीय प्रबंधन, ई-गवर्नेन्स, निबंधन, लोक अधिकार, आवास योजना आदि की जानकारी विस्तार से दी जायेगी.
     इसके तहत 26 अगस्त से 28 अगस्त तक जिला परिषद् सदस्यों का प्रिशिक्षण जिला परिषद् सभागार मधेपुरा में होगा. समिति सदस्यो का भी प्रशिक्षण 26 से 28 तक निर्धारित स्थल पर होगा. मधेपुरा और धैलाढ के प्रमुख, उप प्रमुख, पंचायत समिति, लेखापाल और रोकडपाल का सभा भवन, प्रखंड परिसर मधेपुरा, सिंहेश्वर और गम्हरिया का कला भवन सिंहेश्वर और शंकरपुर, कुमारखंड का कृषि भवन, कुमारखंड में, मुरलीगंज और बिहारीगंज का प्रखंड स्थित सभा भवन मुरलीगंज में, उदाकिशुनगंज और ग्वालपाडा का प्रखंड स्थित विकास भवन उदाकिशुनगंज में, पुरैनी,चौसा और आलमनगर का किसान भवन पुरैनी में होगा.
     उसके बाद मुखिया, वार्ड सदस्य और पंचायत सचिव को प्रशिक्षण दिया जायेगा. प्रथम बैच 29 से 31 अगस्त, प्रखंड सिंहेश्वर में रुपौली, लालपुर सरोपटटी, सुखासन प्रखंड शंकरपुर में मौरा झरकाहा, बेहरारी, परसा द्वितीय बैच 2 से 4 सितंम्बर क्रमश: सिंहेश्वर से बैहरी, दुलार पीपराही, सिहेश्वर तथा शंकरपुर में रायभीड़, रामपुर लाही, गिद्धा तृतीय बैच 5 से 7 सितंम्बर सिंहेश्वर में जजहट सबैला, गौरीपुर, पटौरी तथा शंकरपुर में जीरवा मधैली, मौरा कवियाही, सोनबर्षा चतुर्थ बैच में 9 से 11 सितंम्बर को सिहेंश्वर के ईटहरी गोहमनी, मानपुर, कमरगामा, भवानीपुर के जनप्रतिनिधियों को सक्षम बनाया जायेगा. वहीँ कुमारखंड में प्रति दिन दो बैच को प्रशिक्षण दिया जायेगा.

मधेपुरा: महुआ शराब की बरामदगी, 8 महिला एवं 1 पुरुष गिरफ्तार

मधेपुरा जिले के बिहारीगंज के कठौतिया संथाली टोला में एसपी मधेपुरा के निर्देश पर उत्पाद विभाग एवं पुलिस द्वारा  की गई छापेमारी मे 40 लीटर महुआ शराब, 4 गांजा का पौधा, लंबाई 7 से आठ फीट पुलिस ने बरामद किया. इसके अलावे 8 महिला एवं 1 पुरुष को भी पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया. कुल 9 लोगों को उत्पाद अधीक्षक मधेपुरा अपने साथ लेकर गए.                        
       महिलाओं के नाम हैं, बड़की देवी, रानी देवी, सूर्यमणि देवी, मंजूला देवी, मझली देवी, संझली देवी, शांति देवी, सूर्यमणि देवी एवं साथ ही दयानंद किस्कू को मौके पर गिरफ्तार किया गया. छापेमारी अभियान में बिहारीगंज, मुरलीगंज एवं उदाकिशुनगंज की पुलिस शामिल थी.
(रिपोर्ट: रानी देवी)

मधेपुरा में जन्माष्टमी की धूम: कृष्ण भक्ति में सराबोर हुआ जिला

देखो फ़िर जन्माष्टमी आई है,    
माखन की हाडी ने 
फ़िर मिठास बढाई है!
कान्हा  की लीला 
है सब से प्यारी,
दे आपको वो 
दुनिया की खुशियाँ सारी.          

       कृष्ण जन्माष्टमी की जोर शोर से तैयारी पूरे जिले में चल रही है और आज रात में जहाँ भगवान् श्रीकृष्ण के जन्म के साथ ही कल रथयात्राओं के साथ मधेपुरा में श्री कृष्ण जन्माष्टमी की धूम रहेगी वहीँ मधेपुरा जिला मुख्यालय के श्री श्री 108 बड़ी महावीर स्थान पुरानी कचहरी कम्पाउण्ड मॆ हर साल की तरह इस वर्ष भी भव्य तैयारी जोरों पर है.
     जन्माष्टमी के पावन  मौके पर भगवान कान्हा की मोहक छवि देखने के लिये श्रधालुओं की काफी भीड़ लगती है. वर्षों से यहाँ कचहरी कम्पाउण्ड मधेपुरा मॆ बड़े धूमधाम से जन्माष्टमी पर्व मनाया जाता है.
     इस बार युवा जन्माष्टमी समिति के कार्यकर्ताओं ने जानकारी दी है कि इस बार जन्माष्टमी के उत्सव मॆ श्रद्धालुओं के लिये 25 और 28 तारीख को जागरण का प्रोग्राम होने जा रहा है, जिस जागरण मॆ पूरा माहौल कृष्णमय हो जाता है इस मौके पर भी जागरण मॆ लोगों को आने के लिये आमंत्रित किया गया है. मूर्तियों को पूरा रंग और रुप देने मॆ कारीगर दिन रात लगे हुए हैं.  25 अगस्त यानि आज रात मॆ श्री कृष्ण जी का जन्म होगा और इस मौके पर पूरे मंदिर को सजा दिया जाता है और पूरा माहौल फिर कृष्ण भक्ति में डूब कर रह जाता है.

कॉस्टयूम प्रतियोगिता में किड्स ग्लो वर्ल्ड के बच्चों की मनमोहक प्रस्तुति

मधेपुरा जिला मुख्यालय में प्ले स्कूल में अग्रणी स्थान रखने वाले किड्स ग्लो वर्ल्ड में आयोजित कॉस्टयूम प्रतियोगिता ने उपस्थित लोगों का मन मोह लिया. 

विभिन्न वेशभूषा में भाग लिए 42 बच्चों की खूबसूरती देखते ही बनती थी जो दर्शकों को तालियाँ बजाने पर मजबूर करती रही.

     जिला मुख्यालय के बांगला दुर्गा कॉलोनी स्थित स्तरीय प्ले स्कूल किड्स ग्लो वर्ल्ड में आयोजित कॉस्टयूम प्रतियोगिता का उद्घाटन मुख्य अतिथि स्वर शोभिता संगीत महाविद्यालय की निदेशिका सुश्री हेमा कुमारी, मीनाक्षी कुमारी तथा स्कूल की डायरेक्टर पिंकी मंदिरवार ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया.

    42 बच्चों के बीच हुए कॉस्टयूम कॉम्पिटिशन का मुख्य थीम जन्माष्ठमी को देखते हुए राधा-कृष्ण कॉस्टयूम था. बच्चों के कैटवाक का उत्साहवर्धन बड़ी संख्याम में मौजूद अभिभावक कर रहे थे.

    अंत में हुए पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथियों ने राधा-कृष्ण कैटेगरी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार देकर बच्चों को प्रोत्साहित किया. बाकी सभी बच्चों को सांत्वना पुरस्कार देकर प्रोत्साहित किया गया.

      कॉस्टयूम कॉम्पिटिशन में जहाँ राधा के लिएआर्या,शाम्भवी श्रीवास्तव और कशिश को क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार दिया गया वहीँ कृष्ण की भूमिका के लिए दक्ष  कुमार सिंह, वैभव और युवराज को प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार मिला.

     

बुधवार, 24 अगस्त 2016

बी० पी० मंडल की जयंती कल: राजकीय समारोह में प्रो. चंद्रशेखर करेंगे मुख्यमंत्री का प्रतिनिधित्व 

पिछड़ों के मसीहा माने जाने वाले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री बी. पी. मंडल की 98वीं जयंती के अवसर पर कल यानि 25 अगस्त को जिला प्रशासन मधेपुरा की ओर से राजकीय समारोह का आयोजन किया जा रहा है.
    प्रशासन के हवाले से मिली सूचना के अनुसार कल 25 अगस्त को राजकीय समारोह के अवसर पर बीपी मंडल के पैतृक गांव मधेपुरा प्रखंड के मुरहो में इस अवसर कई कार्यक्रम भी आयोजित किये गये हैं. इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का प्रतिनिधित्व आपदा प्रबंधन मंत्री और मधेपुरा सदर विधायक प्रो. चंद्रशेखर करेंगे.
     इससे पहले सुबह छह बजे मुरहो तथा मधेपुरा में स्कूली बच्चों की ओर से प्रभातफेरी निकाली जायेगी. सुबह सात बजे मैराथन दौड़ का आयोजन मधेपुरा जिला मुख्यालय स्थित बीपी मंडल प्रतिमा स्थल से मुरहो गांव तक होगा. दिन के दस बजे मुरहो में बीपी मंडल की समाधि पर माल्यार्पण किया जायेगा. 10.15 बजे सर्वधर्म प्रार्थना का आयोजन होगा और 10.30 बजे आगत अतिथि श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे. 10.40 बजे मुरहो में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया है. कार्यक्रम की अध्यक्षता डीएम मो सोहैल के द्वारा किया जाएगा.

खेल के प्रति अपना नजरिया बदले अभिभावक: डीएम

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और मंडल मसीहा बीपी मंडल की जयंती 25 अगस्त को उनके पैतृक भूमि मुरहो में आयोजित राजकीय समारोह में मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के तौर पर बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन मंत्री प्रो चंद्रशेखर की उपस्थिति रहेगी. वहीं आज जिला मुख्यालय के बी. एन. मंडल स्टेडियम में जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का उद्घाटन जिलाधिकारी मो सोहैल ने झंडोत्तोलन व मशाल प्रज्ज्वलित कर किया.
      खेलकूद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीएम मो० सोहैल ने कहा कि लोगों को खेल के प्रति अपना नजरिया बदलना होगा. इतने बड़े देश होने के बावजूद ओलंपिक गेम में पिछड़ना यह बताता है कि अभिभावक खेल कूद को अधिक महत्त्व नहीं देते हैं. जबकि खेल कूद में भी कैरियर काफी बेहतर तरीके से संवर सकता है. डीएम ने जानकारी दी कि कला संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा प्रत्येक साल जयंती समारोह हेतु दस लाख मिलेगा. 
       मौके पर सदर एसडीओ संजय कुमार निराला ने कहा कि खेल को खेल के भावना से खेलना चाहिए. मौके पर जिला खेल पदाधिकारी मुकेश कुमार, खेल प्रशिक्षक संत कुमार, प्रदीप कुमार, अनिल कुमार आदि उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन जिला कबड्डी संघ के सचिव अरूण कुमार कर रहे थे. बाद में डीएम मो० सोहैल ने सफल बच्चों को पुरस्कृत भी किया.

मंगलवार, 23 अगस्त 2016

सुपौल: जमीन विवाद में आधा दर्जन जख्मी, सीओ पर भी किया गया पथराव

सुपौल जिले के राघोपुर सीओ उस समय हक्का-बक्का रह गये जब वे प्रखंड के बौराहा पंचायत के वार्ड नंवर 09 में वासडीह पर्चा के दखल दिलाने गए और लोगों ने उस पर पथराव करना शुरू कर दिया. वहीं पुलिस जवानों के हथियारों को भी छीनने की कोशिश की गयी. घटना में सीओ श्यामकिशोर यादव को मामूली चोट आयी लेकिन दो पक्षों के बीच हुए झडप में आधा दर्जन लोग जख्मी हो गये.
       जख्मी को सिमराही रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मामले को लेकर सीओ द्वारा करजाइन थाना में आवेदन देकर प्राथमिकी दर्ज कराया गया है. जानकारी के अनुसार उक्त पंचायत निवासी नूर हसन के पर्चावाली जमीन पर उनके सौतेले भाई द्वारा जबरन कब्जा कर लिये जाने के विरोध में अंचलाधिकारी पीड़ित के आवेदन पर करजाइन थाना पुलिस के साथ जमीन को खाली करने पहुंचे थे. जहां जमीन पर अवैध रूप से काबिज मो जमालुद्दीन एवं उनके परिवार प्रशासन से उलझ गये और अवैध कब्जा खाली जमीन नहीं करने की धमकी दे डाली.
     प्रशासन द्वारा अवैध रूप से कब्जा की गयी जमीन को खाली करने का आदेश दिया गया। लेकिन अतिक्रमणकारी नहीं माने तब जाकर प्रशासन द्वारा सख्त रूख अख्तियार किया गया।लेकिन विरोधी पक्ष द्वारा  पथराव शुरू कर दिया गया. जिसके कारण प्रशासन के लोगों को वहां से हटना पड़ा. इधर प्रशासन के हट जाने के बाद दोनों पक्षों में मारपीट शुरु हो गया. जिसमें दोनों पक्षों के करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गये.
     इधर वर्षो से अवैध कब्जा कर जमीन को अपने कब्जे में लिए मो जमालउद्दीन एवं समर्थकों ने प्रशासन के विरोध में एनएच 106 को जाम कर प्रदर्शन करने लगे, जिसे कुछ स्थानीय लोग व् जनप्रतिनिधियों की पहल पर खत्म कराया गया.
    थानाध्यक्ष उदय कुमार ने बताया कि अंचलाधिकारी व उनके  साथ गए पुलिस बल के साथ अवैध कब्जाधारी द्वारा दुर्व्यवहार किया गया है. परचाधारी के साथ मारपीट भी की गयी है. प्रशासन के हथियार छीनने की कोशिश की गयी, जिसे लेकर प्रशासन द्वारा कार्रवाई प्रारंभ कर दी गयी है.

सुपौल: 36 बोतल शराब के साथ शराब तस्कर गिरफ्तार

सुपौल। पूर्ण शराबबंदी के बाद सूबे की सरकार द्वारा बनाये के कठोर कानून के बावजूद सीमावर्ती इलाके में शराब तस्करी पर विराम लगता नहीं दिख रहा है. आये दिन पुलिस व उत्पाद विभाग के कार्रवाई में शराब तस्कर पुलिस के हत्थे चढ रहे हैं.
      वीरपुर थाना को मिली गुप्त सूचना के आधार पर बलभद्रपुर से 36 बोतल शराब के साथ एक शराब के कारोबारी को पकड़ने में कामयाबी मिली है.
    जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष पवन कुमार ने बताया कि शराब और शराब कारोबारी के खिलाफ अभियान चलाते हुए गुप्त सूचना के आधार पर 50 वर्षीय शराब कारोबारी राम प्रसाद मुखिया को 36 बोतल शराब के साथ बलभद्रपुर से गिरफ्तार किया गया है. उत्पाद संशोधन अधिनियम 2016 के तहत कांड संख्या 196/ 16 के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय दर्ज कर आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है.

डॉ देवाशीष बोस की याद में शोकसभा

बिहार के जानेमाने कोसी के वरिष्ठ पत्रकार व अधिवक्ता डॉ देवाशीष बोस की आत्मा की शांति हेतु बिहार भर में शोकसभा का दौर जारी है.
          मधेपुरा जिले के मुरलीगंज में दुर्गा मंदिर परिसर में मंगलवार को मुरलीगंज पत्रकार संघ द्वारा शोक सभा कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें उपस्थित शहर के समाजसेवी, जनप्रतिनिधि के साथ व्यवसायियों ने भी हिस्सा लेकर भाग लेते हुए दो मिनट का मौन रखते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.
     श्रद्धांजलि कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधि व समाजसेवियों ने कहा कि कोशी के कलम के सिपाही मधेपुरा के लाल डॉ देवाशीष बोस अपने कलम व अखंडता के बल पर जिले का नाम देश स्तर तक पहचान दिलाने वाले जुझारू पत्रकारों में से एक थे, जो अपने जीवन काल हमेशा लोगों के हितो के लिए खड़े रहते थे.
      मौके पर बीडीओ अनुरंजन कुमार, प्रमुख मनोज कुमार साह, नपं अध्यक्षा सर्जना सिद्धि, इन्दर चंद्र बोथरा, सुरेन्द्र प्रसाद यादव, प्रशांत यादव, बाबा दिनेश मिश्र, प्रवेश यादव, विजय यादव, विश्वजीत कुमार, बिनोद वाफना, संजय सुमन, शैलेन्द्र कुमार, चंदन कुमार, संतोष कुमार उर्फ सिंटु यादव, प्रभात रंजन उर्फ छोटू यादव, उदय कुमार चौधरी, रंजीत कुमार, अरूण कुमार जयसवाल, मिथिलेश कुमार आर्य, नवीन सिंह, संतोष पासवान, प्रमोद कुमार, देवनाराण साह, आमोद कुमार यादव, रंधीर कुमार यादव, पप्पू चौधरी, रंजीत कुमार, रविन्द्र यादव, सुनील मंडल, टुनटुन साह, शंकर कुमार यादव, अमलेश कुमार यादव, चक्रवर्ती कुमार, मुकेश कुमार, पत्रकार बिनोद कुमार उर्फ राजा बाबू, अर्जुन भगत, संजय कुमार, शुभकरण, रविकांत कुमार, रमण कुमार के साथ अन्य व्यवसायीगण उपस्थित थे.

शर्मनाक!: शिक्षक ने किया चौथी कक्षा की छात्रा के साथ दुष्कर्म

सुपौल जिले में एक बार फिर गुरू व शिष्या के रिश्ते को तार-तार करने की घटना सामने आयी है. किसनपुर थाना क्षेत्र के बौराहा पंचायत स्थित कमलदाहा गांव में एक बहसी शिक्षक ने चौथी कक्षा की छात्रा के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.
      घटना की सूचना मिलते ही महिला थानाध्यक्ष प्रेमलता भूपाश्री ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी शिक्षक नरेश साह को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी शिक्षक नरेश साह सरायगढ-भपटियाही प्रखंड के छिटही हनुमान नगर पंचायत स्थित मध्य विद्यालय में सहायक शिक्षक पद पर कार्यरत है. मूल रुप से निर्मली थाना क्षेत्र के बेला श्रृंगार मोती गांव निवासी आरोपी शिक्षक कमलदाहा गांव स्थित अपने ससुराल में वर्षों से घर जमाई के रुप में रह रहे हैं.
     पीड़ित बच्ची की दादी ने बताया कि आरोपी शिक्षक नरेश साह की पत्नी गीता देवी गांव में सिलाई कटाई का काम करती है. रविवार की संध्या पीड़ित बच्ची अपने भाई का कपड़ा लाने आरोपी शिक्षक के घर गयी थी. जहां आरोपी शिक्षक की पत्नी गीता देवी घर में मौजूद नहीं थी. आरोपी ने बच्ची को बहला फुसला कर अपने घर के अंदर ले गया ओर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. घटना के बाद पीड़ित बच्ची अपने घर पहुंची और परिजनों को घटना की जानकारी दी. पीड़ित बच्ची की दादी ने बताया कि रविवार की संध्या मूसलाधार बारिश होने के कारण परिजन मजबूर होकर घर में बैठे रहे. सोमवार को घटना की जानकारी ग्रामीणों को दी गयी. ग्रामीणों के कहने पर सोमवार की संध्या घटना की सूचना महिला थानाध्यक्ष को दिया गया. दुष्कर्म की इस घटना को लेकर जहाँ ग्रामीणों में आक्रोश का माहौल व्याप्त है, वहीँ महिला थानाध्यक्ष, सुपौल प्रेमलता भूपाश्री बताती है कि पीड़ित बच्ची के फर्द बयान पर कांड संख्या 84/16 दर्ज कर घटना के मुख्य आरोपी शिक्षक नरेश साह को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है. गिरफ्तार शिक्षक को न्यायिक हिरासत में भेजने की कार्रवाई जारी है. (नि.सं.)

विधायक ने किया पंचायत सरकार भवन का उद्घाटन

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत सिंग्यिान पंचायत में पंचायत सरकार भवन का उद्घाटन मंगलवार को बिहारीगंज विधानसभा क्षेत्र के विधायक निरंजन कुमार मेहता ने किया. इस अवसर पर उन्होंने सिंग्यिान पंचायत की आम जनता एवं नवनिर्वाचित पंचायत के सभी प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए बताया कि पंचायत सरकार भवन बनने से यहां की तमाम जनताओं को अपने छोटे-छोटे कार्यो के लिए प्रखंड कार्यालय व अंचल कार्यालय का चक्कर नही लगाना पड़ेगा. छोटे से लेकर बड़े कार्यो का निष्पादन अब पंचायत सरकार भवन से ही होगा. साथ ही आम लोगों को हर संभव सुविधा देने की कोशिश की जाएगी. 
     वहीं बीडीओ अनुरंजन कुमार ने बताया कि पंचायत के प्रतिनिधि अब इस पंचायत सरकार भवन में अपने अपने कक्ष में बैठेंगे और वही से पंचायत की समस्याओं का निपटारा हो जाएगा. सिंग्यिान के पंचायत प्रतिनिधियों ने अपनी अपनी कुछ समस्याएं रखी. इसमें मुख्य रूप से बिजली एवं विधालय की समस्या थी।. जिसके समाधान के लिए स्थानीय विधायक द्वारा विभागीय पदाधिकारियों से बात कर जल्द से जल्द समस्या का समाधान हेतु कार्य करने को कहा गया.
        दूसरी ओर जोरगामा पंचायत में बने पंचायत सरकार भवन का भी उदघाटन स्थानीय विधायक ने ही किया. वहां भी पंचायत के नवनिर्मित पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए आम जनताओं के समस्या से रूबरू हुए. उदघाटन के बाद विधायक ने प्रतिनिधि के साथ मिलकर जोरगामा पंचायत सरकार भवन परिसर में वृक्षारोपण भी किया.                        
     मौके पर सीओ जयप्रकाश स्वर्णकार, प्रखंड प्रमुख मनोज साह, मुखिया रीता देवी, प्रखंड अध्यक्ष जदयू के राजीव यादव, जिला उपाध्यक्ष जदयू के सुरेन्द्र यादव, बाबा दिनेश मिश्र, विजय यादव, प्रकाश झा, सुरेन्द्र यादव, प्रभात रंजन उर्फ छोटू यादव, समेत कई दर्जन लोग उपस्थित थे.

पार्लियामेंट की ‘डिबेट’ में बिहार में नंबर 1 पर मधेपुरा के सांसद पप्‍पू यादव

पटना : हाल में समाप्‍त हुए लोकसभा के सत्र के बाद बिहार के सभी चालीस सांसदों के परफार्मेंस की रिपोर्ट कार्ड सामने है. मानक पोर्टल http://www.prsindia.org को देखा जा सकता है. रिपोर्ट कार्ड कहता है कि मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने संसद में बिहार के सांसदों के बीच सर्वाधिक 153 डिबेट में हिस्‍सा लिया. ये सभी डिबेट कई सब्‍जेक्‍ट्स से रिलेटेड थे. बक्‍सर के भाजपा सांसद अश्विनी कुमार चौबे का दूसरा स्‍थान है. इनका पार्टिसिपेशन कुल 138 डिबेट्स में है. तीसरा स्‍थान नालंदा के जदयू के सांसद कौशलेन्‍द्र कुमार का है, जिन्‍होंने 128 डिबेट्स में बहस संसद के भीतर की.
    निगेटिव रिपोर्ट अररिया के राजद के सांसद तसलीमुद्दीन की है, जो किसी भी डिबेट्स में शामिल नहीं हुए हैं ट्रैक रिपोर्ट के मुताबिक सबसे बुरा हाल पटना साहिब के सांसद सिने स्‍टार शत्रुघ्‍न सिन्‍हा का है, जिन्‍होंने संसद में न किसी बहस में हिस्‍सा लिया और न ही कोई सवाल पूछा. प्राइवेट मेंबर बिल्‍स के खाते में भी शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के नाम के आगे जीरो की रिपोर्ट है.
     क्‍वेश्‍चन संसद में पूछने के मामले में शिवहर की भाजपा सांसद रमा देवी लगातार आगे चल रहीं हैं. उन्‍होंने संसद में सरकार से 323 क्‍वेश्‍चन पर आंसर की मांग की. 275 क्‍वेश्‍चन के साथ दरभंगा के सांसद कीर्ति झा आजाद दूसरे नंबर पर और 238 क्‍वेश्‍चन के साथ महाराजगंज के मेंबर आफ पार्लियामेंट जनार्दन सिंह सिग्रीवाल तीसरे पायदान पर स्‍टैंड करते दिखते हैं. किशनगंज के सांसद असरारुल हक ने मात्र 1 और खगडि़या के सांसद महबूब अली कैसर ने सिर्फ 2 सवाल पूछे. तसलीमुद्दीन के भी 2 ही क्‍वेश्‍चन थे. समस्‍तीपुर के सांसद रामचंद्र पासवान ने 3 क्‍वेश्‍चन पूछे.
    प्राइवेट बिल मेंबर्स में भी राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव 15 की संख्‍या के साथ पहले स्‍थान पर स्‍टैंड कर रहे हैं, दूसरा पोजीशन नंबर 14 के साथ सीवान के एमपी ओमप्रकाश यादव का है. तीसरे स्‍थान पर महाराजगंज के सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल नंबर 8 के साथ खड़े होते हैं.
(ए.सं.)

मधेपुरा: फिर 10 बोतल विदेशी शराब बरामद, एक गिरफ्तार

मधेपुरा जिले में पुलिस की तत्परता से लगातार शराब बरामदगी हो रही है. मिल रही गुप्त सूचनाओं पर त्वरित कार्रवाई से शराब कारोबार से जुड़े लोगों के हौसले पस्त हो रहे हैं. आज देर शाम जिले के चौसा प्रखंड के कलासन चौक पर जय माता दी लाइन होटल से गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने 10 बोतल महँगी विदेशी शराब बरामद किया है. होटल का मालिक अखिलेश यादव भले ही मौके से फरार हो गया हो पर पुत्र ललटू कुमार यादव को गिरफ्तार कर लिया गया.
       बता दें कि इससे पहले चौसा थाना क्षेत्र के लौआलगान पश्चिमी पंचायत के अभिरामपुर बासा से गुप्त सुचना के आधार पर चौसा पुलिस ने 10 लीटर देशी शराब बरामद करने में सफलता मिली थी. जिसमें गुप्त सूचना के आधार पर चौसा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह के नेतृव में लौआलगान के अभिरामपुर बासा निवासी दील्लो सिंह के घर छापेमारी के दौरान 10 लीटर देशी शराब बरामद किया गया था.

शौचालय के टैंक में मिली करोड़ों की दवा, घोटाले की जांच में जुटी टीम

सुपौल। जिले में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा गत तीन-चार वर्षों के दौरान दवा खरीद में की गयी करोड़ों रूपये के घोटाले की जांच प्रशासन द्वारा शुरू कर दी गयी है. कोसी प्रमंडल के क्षेत्रीय अपर निदेशक स्वास्थ्य सेवक डॉ शशि भूषण शर्मा के निर्देश पर मंगलवार को पहुंचे जांच टीम के सदस्यों ने दंडाधिकारी सह नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी सुशील कुमार मिश्रा के नेतृत्व में सदर अस्पताल परिसर स्थित जिला औषधि भंडार केंद्र सहित अन्य कमरों का ताला तोड़कर करोड़ों रूपये मूल्य की दवा, सिरप समेत चिकित्सकीय उपकरण जप्त किया है.
      जांच टीम ने इस दौरान जिला औषधि केंद्र के बगल में स्थित शौचालय के सेप्टिक टैंक में भरकर रखा गया भारी मात्रा में टेबलेट और सिरप भी बरामद किया है. जांच टीम सदर अस्पताल में बंद पड़े अन्य कई कमरों का ताला तोड़कर दवाओं की छानबीन में जुटी हुई थी.
              ज्ञात हो कि स्वास्थ्य विभाग ने वर्ष 2012 से लेकर 2015 तक जिला स्तर पर दवा खरीदने के दौरान भारी धांधली बरते जाने की शिकायत मिल रही थी. स्वास्थ्य विभाग में तैनात अधिकारी एवं कर्मियों की मिली भगत से दवा क्रय करने के नाम पर करोड़ों रूपये का बंदरबांट किया गया.
              इस मामले को लेकर राजद अल्प संख्य प्रकोष्ठ के नगर अध्यक्ष समशूल कमर सिद्दीकी ने जिला प्रशासन सहित कोसी प्रमंडल के आयुक्त को लिखित आवेदन देकर जांच की मांग किया था. आयुक्त ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इसे स्वास्थ्य विभाग को क्षेत्रीय अपर निदेशक को सौंपते हुए मामले की सूक्ष्मता से जांच का निर्देश दिया था. स्वास्थ्य विभाग के क्षेत्रीय अपर निदेशक ने जांच के पहले चरण में स्वास्थ्य विभाग के भंडार में रखे गये दवाओं को सूचीबद्ध करने का आदेश दिया.
               साथ ही जांच के लिये वरिष्ठ चिकित्सक डॉ के. के. झा के नेतृत्व में क्षेत्रीय लेखा प्रबंधक सह प्रभारी क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक विवेक चतुर्वेदी, प्रधान सहायक चंदेश्वरी प्रसाद यादव, औषधि निरीक्षक नवीन कुमार एवं खुर्शीद आलम के टीम का गठन किया. दंडाधिकारी सह नप के कार्यपालक पदाधिकारी सुशील कुमार मिश्रा की निगरानी में मंगलवार को  जांच टीम सदर अस्पताल पहुंच कर जांच प्रारंभ कर दिया. जांच के दौरान औषधि भंडार के अलावा अन्य कई कमरों व शौचालय के सेप्टिक टैंक में दवा मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं घोटाले में शामिल कर्मियों के होश गुम हो गये हैं. जांचोपरांत करोड़ों का घोटाला उजागर होने की संभावना जतायी जा रही है.

सोमवार, 22 अगस्त 2016

पुलिस-पब्लिक बैठक में हुई पुलिस के कार्यशैली की जमकर खिंचाई

आमतौर पर कमजोर तबके के लोगों को प्रताड़ित करने का आरोप झेल रहे मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर थानाध्यक्ष को सोमवार को थाने में आयोजित पुलिस-पब्लिक बैठक में लोगों की शिकायतों से से दो-चार होना पड़ा. बैठक में मौजूद लोगों ने सिंहेश्वर पुलिस के कार्यशैली की जमकर खिंचाई की. कई मामलों में चर्चा के दौरान पूरी पुलिस टीम डिफेंसिव मूड में दिखी. थानाध्यक्ष बीडी पंडित ने भी माना कि जल्दबाजी में बैठक का आयोजन करने के कारण आधे से भी कम लोग ही बैठक में शामिल हो पाये. आगे से होने वाली बैठकों की पूर्व से तैयारी की जाएगी.

शुरुआत से ही हावी हो गए लोग: बताया गया कि बैठक की सूचना जिस प्रकार के शब्दों का चयन कर लोगों को दी गई थी, इससे लोगों में नाराजगी थी. कई लोगों ने बताया कि सूचना का मजमून इस प्रकार था जैसे कोर्ट-कचहरी से भेजे जाने वाले नोटिस का होता है. इस पर कई सदस्यों ने बैठक में ही आपत्ति जता दी. दूसरा यह कि प्रमुख और उपप्रमुख को उनके पद नाम से संबोधित करने के बजाए पंचायत समिति सदस्य के नाम से संबोधित किया गया था. इस कारण प्रमुख चंद्रकला देवी बैठक में नहीं आ पाई, जबकि बैठक की अध्यक्षता के लिए उन्हीं का नाम प्रस्तावित था. चर्चा है कि थानाध्यक्ष ने जब उनके पति व राजद नेता जयप्रकाश यादव से बात की तो उन्होंने ऐसे संबोधन पर कड़ी आपत्ति जतायी.

पीड़ित को हाजत में बंद करने का भी उठा मामला: बताया गया कि जब थानाध्यक्ष ने लोगों से अपराध पर नियंत्रण करने के लिए सहयोग की अपेक्षा जतायी, तो कुछ लोगों ने कहा कि पिछले दिनों बाजार के एक पीड़ित को ही पुलिस ने हाजत में बंद कर दिया था. यह मानवाधिकार का उल्लंघन है. पुलिस को ऐसा नहीं करना चाहिए। इस पर थानाध्यक्ष सफाई देते रहे.
      हालांकि इन सबके बावजूद उपस्थित जनप्रतिनिधियों और गणमान्य लोगों ने थानाध्यक्ष श्री पंडित को आश्वासन दिया कि थानाक्षेत्र में बढ़ते अपराध को रोकने में उन्हें आमजन का हर संभव सहयोग मिलेगा.
     मौके पर जदयू के वरीय नेता सियाराम यादव, जिप सदस्य सूरज सिंह, मुखिया संघ अध्यक्ष किशोर कुमार पप्पू, जदयू के जिला महासचिव दीपक कुमार, उपप्रमुख कृष्ण कुमार यादव, व्यापार संघ महासचिव अशोक कुमार भगत, मुखिया किशोरी सिंह, मुखिया मोहन मिश्र, मुखिया पिंकी देवी, मंजूर आलम, कैलाश भगत, पूर्व उपप्रमुख राजेश कुमार झा, मो लुकमान आलम, सरपंच राजीव कुमार, सरपंच किरण देवी, बबलू यादव, लालबहादुर साह व अन्य मौजूद थे.

पुत्रधर्म निभाते बेटी ने दी डॉ. देवाशीष बोस के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि: पत्रकारिता के एक युग का अंत

पत्रकार, लेखक, समाजसेवी, अधिवक्ता, पर्यावरणप्रेमी समेत दर्जनों कार्यों में अपना उल्लेखनीय और अविस्मरणीय योगदान देकर दुनियां को महज 54 साल से भी कम की आयु में अलविदा कह देने वाले मधेपुरा के डॉ. देवाशीष बोस के पार्थिव शरीर को जब उनकी बेटी मेहुल बोस ने मुखाग्नि दी तो मधेपुरा जिला मुख्यालय के भिरखी घाट पर मौजूद लोगों की नम आँखों से आंसू गिरना स्वाभाविक था.
    कल 11:30 बजे दिन में डॉ. देवाशीष बोस के निधन के बाद उनका पार्थिव शरीर उनकी एकलौती पुत्री मेहुल बोस के इन्तजार में रखा गया था. आज दाह-संस्कार से पहले दिन में डॉ. बोस के पार्थिव शरीर को राष्ट्रीय गानों की धुन के साथ शहर के मुख्य जगहों से लोगों के अंतिम दर्शन के लिए ले जाया गया. कल से आज तक जहाँ लोगों के बीच सिर्फ उनकी ही उपलब्धियों की चर्चा होती रही वहीं आज शहर की हर ऑंखें आधुनिक मधेपुरा के एक इतिहास पुरुष के लिए नम थी और वे अंतिम दर्शन करना चाहते थे. यही वजह रही कि निर्धारित समय से काफी विलम्ब से उनकी चिता सजाई जा सकी.
     देहरादून में लॉ की विशिष्ट पढ़ाई कर रही डॉ. बोस की पुत्री मेहुल बोस ने पिता के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि देकर धर्म का निर्वाह किया. इसके साथ ही कोसी में पत्रकारिता के एक युग का अंत हो गया. पर एक बात तय है कि जब भी मधेपुरा में पत्रकारिता का इतिहास लिखा जाएगा, डॉ. देवाशीष बोस की उपलब्धियों की चर्चा के बिना पूरा नहीं हो सकता.
(रिपोर्ट: महताब अहमद के साथ मुरारी सिंह)

लड़का 9वीं का, लड़की 11वीं की: नाबालिग की दोस्ती, प्यार और शादी के बाद अपहरण व रंगदारी का मामला दर्ज

''ना उम्र की सीमा हो, न जन्म का हो बंधन
 जब प्यार करे कोई तो देखे केवल मन
 नई रीत चलाकर तुम ये रीत अमर कर दो."
       वर्ष 1981 में बनी हिन्दी फिल्म 'प्रेमगीत' में मशहूर गजल गायक जगजीत सिंह की ये पंक्तियाँ आज भी कई वास्तविक प्रेम कहानियों में सटीक लगती है. कहते है प्यार अंधा होता है जिसमे किस ने किस से मुहब्बत कर ली उसमे उम्र शायद मायने नहीं रखता. बिहार के सुपौल जिले के हरदी पंचायत के अजान टोला में ऐसा ही कुछ देखने को मिला है जंहा एक नवीं क्लास में पढ़ने वाले छात्र और ग्याहरवीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा का प्यार परवान चढ़ गया.
     परिजनों ने जब दोनों को एक साथ देखा तो छात्र की पहले तो बांध कर पिटाई कर दी गयी और फिर भी दोनों ने जहर खा कर मर जाने की बात कही तो उसी पंचायत के लोगो ने उस दोनों की मंदिर में शादी करवा डाली. वही इस बात से नाराज छात्र के पिता ने सदर थाना में लिखित शिकायत दी है कि उसके बेटे को अपहरण कर लिया गया है तो पुलिसिया जांच भी आरम्भ हो चुका है.
     छात्र विकास ने स्कूल ड्रेस में ही दूल्हा बनकर शादी रचाई और पंचायत के ग्रामीणों ने बतलाया कि दोनों की जान बचाने के ख्याल से शादी करवाई गयी, जिसमे लड़के के मां-बाप नहीं आये. उधर लड़के के पिता ने अपहरण के साथ दो लाख रंगदारी की मांग करने की बात सदर थाने की पुलिस को दिये आवेदन में दिया है.
   सदर थानाध्यक्ष राम इकबाल यादव ने बताया कि मामला प्रेम प्रसंग का है. वहीं दोनों नाबालिग हैं, पुलिस अनुंसधान कर रही है.

मधेपुरा: थर्ड इंटर स्कूल स्पेलिंग बी कम्पटीशन का पुरस्कार वितरण समारोह संपन्न

राज मैनेजमेंट द्वारा 07 अगस्त 2016 को संपन्न हुई थर्ड इंटर स्कूल स्पेलिंग बी कम्पटीशन- 2016 का पुरस्कार वितरण समारोह पार्वती साइंस कॉलेज, मधेपुरा में आयोजित किया गया. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा के कुलानुशासक सह आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ विश्वनाथ विवेका ने कहा कि बच्चों की प्रतिभा को बढाने के लिए उनमे प्रतियोगिता की भावना जगाना जरूरी है. उन्होंने इस तरह की प्रतियोगिता लगातार आयोजित करने की बात कही. संरक्षक डॉ० मधेपुरी ने बच्चों को मिसाइल मैन डॉ कलाम के आदर्शो को अपनाने की बात कही.
      इस अवसर पर  पूर्व एसपी मधेपुरा एवं वर्तमान एसपी नालंदा श्री कुमार आशीष ने फ़ोन पर बच्चों को संबोधित कर कहा कि इस तरह की प्रतियोगिता मेरे पढाई के समय में नहीं हुआ करती थी. आपलोग खुशनसीब है कि ऐसी प्रतियोगिता कराई जा रही जिससे आप सही तरीके से शब्दों को लिखे और बोले और इसी तरह आप अपने लक्ष्य के प्रति सजग रहे. उन्होंने आयोजको से कहा कि इस तरह की प्रतियोगिता आयोजित करते रहे, मै कहीं भी रहूँ सहयोग करता रहूँगा.
                  आयोजन सचिव श्री सावंत ने बताया कि यह प्रतियोगिता दो चरणों में छः कोटियों में बांटकर की गयी थी, जिसमे वर्ग प्रथम से दशम तक के विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने भाग लिया था. इसमें 29 बच्चों को मेधा पुरस्कार एवं 62 बच्चों को सांत्वना  पुरस्कार दिया गया  मेधा पुरस्कार पाने वाले छात्रों की सूचि इस प्रकार है-
        किडोस-1 कोटि में  प्रथम एवं द्वितीय स्थान क्रमशः लिटिल बर्ड्स स्कूल की सुप्रिया एवं प्रज्ञा सिंह ,एवं न्यू सेंट जोंस स्कूल के जिया और हिमांशु रंजन को तृतीय, किडोस-2 में दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी के प्रियांशु कुमार राज को प्रथम, किरण पब्लिक स्कूल की शालिनी कुमारी द्वितीय एवं डिज्नी किड्स स्कूल की सृष्टि कुमारी, दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी की रूचि राज और ज्ञान विहार स्कूल के सुमित राज को संयुक्त तृतीय, सब-जूनियर कोटि में दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी के सत्यम शानू को प्रथम, स्वामी विवेकानंद गुरुकुल सिंघेश्वर के चेम्पियन राज तथा दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी के आनंद राज को संयुक्त द्वितीय एवं न्यू सेंट जोन्स स्कूल की कुमारी तृप्ति, सार्क इंटरनेशनल स्कूल की समृद्धि मोना, मधेपुरा पब्लिक स्कूल के आयुष आनंद राज तथा दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी के शुभम सागर राणा इन तीनों को संयुक्त रूप से तृतीय, जूनियर कोटि में दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी के प्रिंस कुमार को प्रथम, मधेपुरा पब्लिक स्कूल के बाबुल कुमार बबलू तथा दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी के सत्यम सागर राणा को संयुक्त द्वितीय एवं होली क्रॉस स्कूल की कोमल कुमारी तथा किरण पब्लिक स्कूल की रागिनी रानी को संयुक्त तृतीय, सीनियर कोटि में दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी के प्रशांत कुमार को प्रथम, होली क्रॉस स्कूल के जयंत राज तथा जीतेन्द्र पब्लिक स्कूल के मनीषा अग्रवाल को संयुक्त द्वितीय, एवं किरण पब्लिक स्कूल के गुफरान खान तथा ब्राइट एंजल स्कूल के हर्ष मोहन को संयुक्त तृतीय, सुपर सीनियर कोटि में होली क्रॉस स्कूल के आयुष आनंद  को प्रथम, हर्ष राज भदौरिया को  द्वितीय तथा श्रीमी राज को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया. सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार दमयंती शत्रुघ्न एकेडमी  के प्रशांत कुमार को प्रदान किया गया
          इस  अवसर  पर मीडियाकर्मियों को भी पुरस्कृत किया गया. इस अवसर पर सोनी पुस्तक भंडार के कुंदन कुमार, मधेपुरा क्रिकेट एकेडमी के अध्यक्ष प्रशांत कुमार, रिषभ टीवीएस के प्रतिनिधि, ऑटो जोन के प्रबंधक मोनी सिंह, माँ एडवरटाइजिंग एजेंसी के धर्मेन्द्र कुमार, न्यू राज इन्फोटेक के प्रबंधक श्याम कुमार, बाबा इलेक्ट्रिकल्स के मुकेश कुमार झा और सेफ्टी जोन के सद्दाम जी एवं प्रतिभागी विद्यालय किरण पब्लिक स्कूल, होली क्रॉस स्कूल, जीतेन्द्र पब्लिक स्कूल, ज्ञान विहार, यु एस ए इंटरनेशनल स्कूल, दमयंती शत्रुघ्न अकादमी, ब्राइट एंजेल स्कूल, न्यू सेंट जोन्स स्कूल, डी० एस० इंग्लिश बोर्डिंग स्कूल पिपरा,  के प्राचार्य, शिक्षक एवं अमित कुमार अंशु, रवि, मनीष, निशिकांत गोविंदा एवं अन्य उपस्थित थे. मंच संचालन सोनी राज ने किया. कार्यक्रम के अंत में मधेपुरा के वरीय जर्नलिस्ट देवाशीष बोस के आत्मा के शांति के लिए मौन धारण किया गया.
(नि.सं.)

रविवार, 21 अगस्त 2016

‘बिन तेरे सब सून’: डॉ. बोस का निधन पत्रकारिता जगत के लिए अपूरणीय क्षति, कल होगा दाह संस्कार

डॉ देवाशीष बोस का निधन कोसी और बिहार की पत्रकारिता जगत में अपूरणीय क्षति है. उनके निधन की खबर से न सिर्फ पत्रकारिता जगत में बल्कि उनके जानने वालों में शोक की लहर फ़ैल गई. जिसने भी सुना, सन्न रह गया. मधेपुरा टाइम्स के माध्यम से डॉ देवाशीष बोस के निधन की खबर मिलने के बाद पूरे भारत से शोक सन्देश आने का सिलसिला जारी है. आज देश के कई हिस्सों में शोक सभाओं की खबर हमें मिल रही है. झारखण्ड जर्नलिस्ट एसोसियशन द्वारा धनबाद में डॉ देवाशीष बोस को 2 मिनट मौन रहकर श्रधांजलि दी गयी तो कल 22 अगस्त को मधेपुरा में  होंने वाली दाह संस्कार में शामिल होने के लिये जर्नलिस्ट्स यूनियन ऑफ़ बिहार की एक टीम अध्यक्ष शशिभूषण प्रसाद सिंह, प्रमोद दत्त, मोहन कुमार, अभिजीत पाण्डेय के नेतृत्व में पटना से मधेपुरा के लिए रवाना हो गयी है. इस के साथ सहरसा, मधुबनी, सुपौल, किसनगंज, दरभंगा, मुजफ्फपुर आदि जिलों से संगठन के सदस्य कल सुबह रवाना होंगे.
   बता दें कि स्व० डॉ. बोस पिछले 36 वर्षों से न सिर्फ कलम के समर्पित सिपाही थे बल्कि उन्हें आम लोगों के अधिकारों के लिए भी लड़ने के लिए आगे रहने का प्रतीक माना जाता था. एक अद्भुत मंच संचालक और कुशल वक्ता स्व० डॉ. देवाशीष बोस से जुड़े पत्रकारों के द्वारा हमें उनकी सैंकड़ों तस्वीरें भेजी जा रही है जो दर्शाती है कि बहुमुखी आयाम के धनी डॉ देवाशीष बोस की कमी कोसी, बिहार और उनके चाहने वालों को कब तक खलती रहेगी, शायद कोई नहीं जानता.
   उनकी एक-एक उपलब्धियों की चर्चा की जाय तो शायद एक मोटी किताब लिखी चली जाय, पर आइये जानते हैं डा. देवाशीष बोस को संक्षेप में:

नाम-  डा. देवाशीष बोस, पिता का नाम- स्व. नरेन्द्र कुमार, माता का नाम- श्रीमति शेफाली बोस, जन्म तिथि -22 दिसम्बर 1962, जन्म स्थान-मधेपुरा, शिक्षा:  एम.ए. द्वय, पी.एच-डी., एलएलबी, मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा, प्रशिक्षण: नेशनल कैडेट कोर का ‘सी’ प्रमाण पत्र, भाषा ज्ञान- हिन्दी, बांग्ला, मैथिली, अंगिका तथा अंग्रेजी
कार्यानुभव- प्रिन्ट और इलेक्ट्रानिक ( रेडियो, चैनल तथा वेब ) पत्रकारिता में सक्रिय 34 वर्ष, ब्यूरो प्रभारी, राष्ट्रीय सहारा, पटना, ब्यूरो प्रभारी, कोसी, प्रभात खबर; रांची,        ब्यूरो प्रभारी, दैनिक जागरण, दिल्ली, उपसंपादक, राष्ट्रीय नवीन मेल, डालटेनगंज
संवाददाता, यू.एन.आई./यूनीवार्ता, संवाददाता, आकाशवाणी/ दूरदर्शन, संवाददाता, सहारा समय, संवाददाता, आर्यावर्त; पटना, संवाददाता, आज, पटना, संवाददाता, हिन्दुस्थान समाचार.

आलेख प्रकाशित:- नवभारत टाईम्स, हिन्दी दैनिक; पटना, हिन्दुस्तान, हिन्दी दैनिक, पटना,  दैनिक जागरण, पटना, प्रभात खबर, हिन्दी दैनिक, पटना, आज, हिन्दी दैनिक; पटना, आर्यावर्त हिन्दी दैनिक, पटना, हिन्दी साप्ताहिक रविवार (कलकत्ता), हिन्दी साप्ताहिक संडे मेल, ( कलकत्ता ), हिन्दी साप्ताहिक संडे आब्र्जवर, ( नेशनल हेराल्ड ग्रूप, दिल्ली ), इण्डिया टूडे, ( दिल्ली ), पाञ्चजन्य, ( दिल्ली ),  लोकतांत्रिक चौखम्भा (दिल्ली  संस्कार पत्रिका ( मुम्बई )आदि में फीचर, लेख तथा रचना प्रकाशित.              
इलेक्ट्रौनिक मीडिया:  बिहार टेलीविजन, जीन्यूज, आजतक, इंडिया टीवी, सहारा समय,
स्टार न्यूज, एनडीटीवी, टाईम्स नाउ, मीडिया मोर्चा, भड़ास4मीडिया तथा बियोंड हेडलाईन के लिए कार्यानुभव. संवाददाता, आकाशवाणी और दूरदर्शन
शोध: भारत में सूफी सम्प्रदाय का उद्भव और विकास
सम्पादन-  जनतरंग 1996 में मधेपुरा जिला प्रगतिशील लेखक संघ, जयहिन्द 1997
सम्मान/पुरस्कार- -हिन्दी पत्रकारिता हेतु वर्ष 1993 में राजेन्द्र माथुर कुल कलाधर की उपाधि से सम्मानित ( सौजन्य समय साहित्य सम्मेलन, पुनसिया,  भागलपुर)  -हिन्दी पत्रकारिता हेतु वर्ष 1993 में विद्यावाचस्पति की उपाधि से सम्मानित (सौजन्य-विक्रमषिला हिन्दी विद्यापीठ, ईशीपुर, भागलपुर)  -हिन्दी पत्रकारिता हेतु वर्ष 1993 में मधेपुरा जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित तथा पुरस्कृत. मिथिला रत्न, वर्ष 2008 (सौजन्य-अन्तर्राष्ट्रीय मैथिली सम्मेलन, चेन्नई )
अध्यापन- आरपीएम कॉलेज, मधेपुरा
विधिवेत्ता- व्यवहार न्यायालय, मधेपुरा
विदेश यात्रा- नेपाल,  भूटान, बांग्लादेश, श्रीलंका
सामाजिक कार्य-   उप संयोजक, जिला साक्षरता समिति, मधेपुरा, संयुक्त सचिव, जिला क्रीडा संघ, मधेपुरा, संस्थापक अध्यक्ष, जिला टेबुल टेनिस संघ, मधेपुरा,  सदस्य, जिला फुटबाल संघ, मधेपुरा,  सदस्य, नेहरु युवा केन्द्र, मधेपुरा,  सचिव, जिला सांस्कृतिक समिति, मधेपुरा,  सदस्य, केन्द्रीय सलाहकार समिति, इण्डियन एयरलाईन्स, दिल्ली  2002 में सदस्य, टेलीफोन सलाहकार समिति, कटिहार 2003 में  सदस्य, जिला रेड क्रास सोसायटी, मधेपुरा,  सचिव, प्रगतिशील पत्रकार संघ,  महासचिव, श्रमजीवि पत्रकार संघ, प्रदेश उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय पत्रकार परिषद (एनयूजे), अपर लोक अभियोजक, मधेपुरा,         सदस्य, स्थायी लोक अदालत, मधेपुरा.  प्रदेश महासचिव, जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ  बिहार ( आइएफडब्लूजे से संम्बद्ध ), प्रदेश उपाध्यक्ष, यूथ हॉस्टल एसोसियेशन ऑफ  इण्डिया, बिहार,  प्रदेश उपाध्यक्ष, पीयूसीएल, बिहार.
      (ब्यूरो रिपोर्ट)

'सोशल मीडिया को विनाशकारी हथियार नहीं बल्कि सृजनात्मक बनावें': सहरसा में सोशल मीडिया के ‘गेट टुगेदर’ में कई हस्तियाँ सम्मानित

सोशल मीडिया पर सबसे अधिक लोकप्रिय फेसबुक पर कोसी के सबसे बड़े ग्रुप ‘सहरसा’ के द्वारा आयोजित मिलन सह सम्मान समारोह में आज जहाँ वर्तमान समय में सोशल मीडिया की ताकत और इसके दुरूपयोग पर कई जानकार हस्तियों ने अपने विचार प्रकट किये वहीँ कई नामचीन साहित्यकारों, पत्रकारों और सोशल मीडिया पर सक्रिय लोगों को कार्यक्रम में सम्मानित भी किया गया.
    सहरसा जिला मुख्यालय के रेड क्रॉस भवन में फेसबुक ग्रुप सहरसा द्वारा आयोजित समारोह की अध्यक्षता भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. रामनरेश सिंह, (विभागाध्यक्ष मैथिली विभाग, पीजी सेंटर सहरसा) ने की तो इस मौके पर मुख्य अतिथि सोशल मीडिया व ब्लागिंग जगत के चर्चित शख़्सियत डॉ० रवीन्द्र प्रभात (लखनऊ), विशिष्ट अतिथि सहरसा के सदर अनुमंडल पदाधिकारी मो. जहाँगीर आलम, सहरसा के एसडीपीओ सुबोध विश्वास, गज़लकार व शायर अनिरूद्ध सिन्हा, समकालीन कविता के कुमार विजय गुप्त (मुंगेर), डॉ० के एस ओझा (प्राचार्य एस०एन०एस कॉलेज, सहरसा), कवि अरविन्द प्रसाद मिश्र नीरज आदि की महत्वपूर्ण उपस्थिति ने समारोह को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की.
    समारोह को संबोधित करते हुए डॉ. राम नरेश सिंह ने कहा कि सहरसा में सोशल मीडिया पर कार्यक्रम होना अपने आप में बड़ी बात है. सोशल मिडिया ज्ञान का एक सशक्त माध्यम है. आज के समय जिसके पास जितनी सूचना होगी वो ज्ञानतंत्र में उतना ही आगे होगा. उन्होंने सोशल मीडिया यूजर्स से कहा कि जो खबर या तस्वीर समाज हित में नहीं हो, उसे पोस्ट नहीं करना चाहिए नहीं तो सोशल मीडिया वरदान नहीं अभिशाप साबित होगा.
    लखनऊ से ये भारत के प्रसिद्ध ब्लॉगर और पत्रकारिता जगत से जुड़े डॉ. रविन्द्र प्रभात ने कहा कि सोशल मीडिया प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से अधिक कारगर है. उन्होंने कई उद्धरण के माध्यम से बताया कि सोशल मीडिया ने समाज हित में कैसे सटीक काम किया. उन्होंने इसके नकारात्मक पहलू को हटाते हुए इसकी ताकत का प्रयोग करने की सलाह दी.
    सहरसा के एसडीओ जहाँगीर आलम ने कहा कि कई मामलों में सोशल मीडिया के बेहतरीन रूप अब सामने आ रहे हैं और बाकी मीडिया इससे कमतर हैं. हालाँकि कुछ मामलों में सामजिक सौहार्द बिगाड़ने में भी इसकी भूमिका देखी जा रही है. इसे विनाशकारी हथियार नहीं बल्कि सृजनात्मक बनावें. वहीँ सहरसा के एअसद्र एसडीपीओ सुबोध विश्वास ने कहा कि सोशल मीडिया एक सशक्त माध्यम के रूप में सामने आया है और ये सामजिक क्रान्ति लाने में सक्षम है. कहा जाता है कि मीडिया मुर्दों में भी जान डाल सकती है. मुर्दों का मतलब सबकुछ करते हुए न हिलने वाले लोगों से है.
    एनएसयूआई के केसर सिंह ने सहरसा ग्रुप तथा अन्य सोशल मीडिया से स्थानीय समस्याओं को उठाते हुए इसके दुरूपयोग से बचने की सलाह दी.
    जबकि मधेपुरा टाइम्स के संस्थापक राकेश सिंह ने मौके पर कहा कि सोशल मीडिया का प्रयोग ताकत के रूप में करना चाहिए. पर वर्तमान समय में सोशल मीडिया का संक्रमण काल चल रहा है. बिना तथ्य के पोस्ट से लोग दिग्भ्रमित होते हैं और इसके नकारात्मक पहलू समाज पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं. जरूरत है सोशल मीडिया पर सोच-समझ कर सूचना पोस्ट करने की और खबर पोस्ट करने वाले बिना किसी तथ्य के किसी पर आरोप न लगावें जिससे किसी की मानहानि हो. जबकि गौतम इन्फोटेक, मधेपुरा के संचालक अमित गौतम ने कहा कि सोशल मीडिया का असर अच्छा भी है और बुरा भी, इसलिए इसका प्रयोग सोच-समझ कर करना चाहिए.
    कार्यक्रम में मधेपुरा के वरिष्ठ पत्रकार डॉ. देवाशीष बोस के निधन पर मौजूद लोगों ने शोक भी व्यक्त किया. अगले चरण से पहले सहरसा के शशि सरोजनी मंच के कलाकारों ने जट-जटिन, कत्थक नृत्य और गायन से दर्शकों का मन मोह लिया.
    इसके बाद शुरू हुए कवि सम्मलेन में रविन्द्र प्रभात, मुंगेर से आए गजल गायक अनिरूद्ध प्रसाद सिन्हा, कुमार विजय गुप्त, श्यामल किशोर सिंह, अरविन्द प्रसाद मिश्र नीरज, श्यामल किशोर सिंह पथिक, अरविन्द श्रीवास्तव समेत कई नए कवियों और गजलकारों ने भी अपनी प्रस्तुति से सभागार में शमां बांधे रखा.
    सोशल मीडिया पर आयोजित इस कार्यक्रम में डॉ. राम नरेश सिंह, रविन्द्र प्रभात, अनिरूद्ध प्रसाद सिन्हा, कुमार विजय गुप्त, एसडीओ जहाँगीर आलम, एसडीपीओ सुबोध विश्वास, डॉ. के. एस. ओझा, राकेश सिंह और केसर सिंह को मिथिला संस्कृति के मुताबिक़ पाग और शॉल तथा मोमेंटो से सम्मानित किया गया जबकि इनके अलावे कवि अरविन्द प्रसाद मिश्र नीरज, अरविन्द श्रीवास्तव, कोसी एक्सप्रेस के कुणाल किशोर, सहरसा टाइम्स के चन्दन सिंह, व्यवसायी शशि शेखर सम्राट आदि को अपने क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया.
    मंच सञ्चालन सहरसा ग्रुप के कुमार रविशंकर, सोमू आनंद और कवि अरविन्द श्रीवास्तव ने किया और कार्यक्रम के सफल सञ्चालन में इनके अलावे सूरज यादव, लुकमान अली, अभिजीत सिंह चौहान आदि का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा. कुल मिलाकर सोशल मीडिया फेसबुक पर कोसी के सबसे बड़े और सबसे सकारात्मक ग्रुप ‘सहरसा’ के द्वारा आयोजित कार्यक्रम ने फिर एक बार अपनी छाप छोड़ी तो सोशल मीडिया के सदुपयोग और दुरूपयोग पर चर्चा और विमर्श कोसी के इंटरनेट यूजर्स को एक नई दिशा देने में कारगर साबित हुआ.
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...