आलमनगर में कड़ी सुरक्षा

11वीं की वार्षिक परीक्षा

'जाको राखे साइयां'

मौत का सफ़र

चिलम पर वोट का जुगाड़

भोज खाने से सैंकड़ों बीमार

व्यवसायी से लूट

मसीहा का इन्तजार

दारोगा के घर चोरी

बढे प्रेम-प्रसंग के मामले

भैंस की मौत पर हंगामा

एसपी चौसा में

रेल इंजन फैक्ट्री का भूमिपूजन

नशे की हालत में गिरफ्तार

50% शिक्षक ही होंगे BLO

आलमनगर में चुनाव तैयारी पूरी

शराबबंदी:एक तीर दो शिकार

अपहृता के परिजनों से मुलाकात

मुख्यमंत्री सहरसा में

कार दुर्घटना में मौत

चेचक से 300 आक्रांत

मृतकों के घर सांसद

महिला के शव से सनसनी

उदाकिशुनगंज में चुनाव

107 के नोटिस से परेशानी

होटल में छापेमारी

करेंट से गाय की मौत

डकैतों का उत्पात

शराबबंदी से ख़ुशी का इजहार

निखिल मंडल से बातचीत

गुरुवार, 5 मई 2016

आलमनगर में चाक-चौबंद व्यवस्था: दियारा इलाके में लगाये गए तेज तर्रार अधिकारी

मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखण्ड परिसर में आयोजित मतदान शिविर में लगाये गये वरीय पदाधिकारीयों एवं सभी प्रतिनियुक्त मजिस्टेट को संबोधित करते हुए जिला पदाधिकारी मो० सोहैल ने कहा कि पिछले तीन चरण में निष्पक्ष एवं स्वच्छ मतदान जिले में कराया गया है. जैसे जैसे मतदान का चरण आगे बढ़ रहा है हमलोगों को अनुभव मिलता जा रहा है जिसे हम लोग लागू करते जा रहे हैं.
        उन्होने कहा कि कल शुक्रवार को चुनाव के दौरान असमाजिक तत्व या बूथ पर गड़बड़ी करने वालों को तुरन्त चिन्हित कर उन्हे गिरफ्तार कर कारवाई करने का आदेश दिया. उन्होने सभी पदाधिकारियों को मतदान में तेजी लाने के कई दिशा निर्देश देते हुए कहा कि जिस मतदान पर 400 से ज्यादा मतदाता हो उन पर तीन मतपेटी के साथ-साथ वोट गिराने की व्यवस्था कराने की बात कही. उन्होने कहा कि किसी भी हालत में किसी प्रत्याशी का आतिथ्य स्वीकार नहीं करना है साथ हीं किसी भी आदमी को मतदान के दौरान मतदानकर्मियों द्वारा कोई सामान लाने के लिए नहीं भेजना है. मतदान केन्द्रों पर ही खाने पीने की व्यवस्था सस्ते दर पर की गई है. उन्होने कहा कि स्वच्छ निष्पक्ष मतदान हेतु सारी व्यवस्था कर ली गई है और किसी भी मतदान केन्द्र पर गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर पांच मिनट में जोनल बीस मिनट में डी एम,एसपी सहित अन्य पदाधिकारी पहुँच जायेंगे. उन्होने बी डी ओ आलमनगर को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि अबिलम्ब सभी मतदान केन्द्रों पर धूप से बचाव हेतु सामियाना लगाने के साथ-साथ बिजली की व्यवस्था सुनिश्चत करने को कहा.
            मौके पर पुलिस अधिक्षक मधेपुरा विकास कुमार ने मतदानकर्मी सहित पुलिस पदाधिकारी को संबोधित करते हुए कहा कि मतदान के दौरान असामाजिक तत्व सहित दबंगों की एक भी नहीं चलेगी. उन्होने कहा कि जिलावर्ती सीमा पर विशेष चौकसी रखी जायेगी और प्रखण्ड के चार पंचायत जो दियारा क्षेत्र में है उस में तेज तर्रार पुलिस अधिकारी को लगाया गया है. साथ हीं मोटर साईकिल सवार कमांडो दस्ता को भी लगाया गया है एवं भारी मात्रा में टीयर गैस से लैस पुलिस बल लाठी पुलिस बल एवं महिला पुलिस को लगाया गया है. उन्होने कहा कि प्रखण्ड के दियरा क्षेत्र में स्थित चार पंचायत किशनपुर रतवारा, खापुर, गंगापुर एवं बड़गाँव में मुस्तैदी के साथ ससमय मतदान कराना सुनिश्चित किया जाय. उन्होने किसी भी प्रत्याशी या उनके समर्थकों के पास से पांच हजार से ज्यादा राशि मिलने पर तुरन्त गिरफ्तार कर कारवाई करने का निर्देश दिया.
         इस दौरान डीडीसी मधेपुरा, एसडीओ उदाकिशुनगंज मुकेश कुमार, सभी प्रखंड के अंचलाधिकारी, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, थानाअध्यक्ष सहित अन्य अधिकारियों के साथ-साथ सभी मैजिस्ट्रेट मौजूद थे.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

11वीं की वार्षिक परीक्षा हो रही है शांतिपूर्ण तरीके से

बिहार विद्यालय उच्च माध्यमिक परीक्षा समिति के निर्देश पर मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड मुख्यालय स्थित बाबा बिशू राउत इंटर महाविद्यालय चौसा में 11 वीं की वार्षिक परीक्षा शांति-पूर्ण ढ़ंग से बीते दिन शुरू हुई. परीक्षा के प्रथम पाली में विज्ञान संकाय एव द्वितीय पाली में कला संकाय की परीक्षा ली गयी. परीक्षा में कुल 1074 छात्र-छात्राएं शामिल थे.
     इस बावत  प्राचार्य सह केन्द्राधीक्षक प्रो. उत्तम कुमार ने जानकारी देते हुए  बताया कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (उ.मा.) के आदेशानुसार कदाचार मुक्त परीक्षा ली जा रही है. परीक्षा दस मई को संपन्न होगा. इस परीक्षा में अनुपस्थित रहने वाले छात्र-छात्राओं का 12 वीं कक्षा में दाखिला नहीं लिया जायेगा. परीक्षा नियंत्रक डॉ. सुरेश प्रसाद साह ने बताया कि विज्ञान संकाय में 621 और कला संकाय में 453 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल हो रहीं हैं. परीक्षा का संचालन कदाचार मुक्त अवस्था में इंटर की वार्षिक परीक्षा की तरह ली जा रही है.

“जाको राखे...”: भयानक सड़क दुर्घटना में बाल-बाल बचे

कभी-कभी जहाँ छोटी सी दुर्घटना में भी लोगों की जान चली जाती है, वहीँ कभी-कभी जब देखने में बड़ी दुर्घटना में चोटें हलकी होती हैं तो अक्सर लोगों के मुंह से निकल जाता है, ‘जाको राखे साइयां, मार सके न कोय.
     आज सुबह मधेपुरा जिले के मुरलीगंज में भी एक दुर्घटना ऐसी घटी जो भयानक थी, पर दो वाहनों के जोरदार टक्कर में सवारों को हलकी चोटें और खरोचें आई. टक्कर सुबह के करीब 11 बजे एन एच 107 पर एक मोटरसायकिल और सवारी ढोने वाले मैक्सी टेम्पो के बीच हुई. सौभाग्य से दुर्घटना के वक्त टेम्पो मे सवारी नहीं थी और वह पूर्णियां से आ रही थी. मोटरसायकिल (BR43 E 2924) पूर्णियां की ओर जा रही थी पर मुरलीगंज गौशाला चौक पर दोनों भयानक दुर्घटना का शिकार हो गए.
      दुर्घटना स्थल को देखने ऐसा प्रतीत होता है कि शायद ही मोटरसायकिल सवार बचा होगा. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि टेम्पो का ड्राइवर नींद मे झपकी लेने के चक्कर मे यह हादसा कर बैठा. पर मुरलीगंज दुर्गा स्थान चौक निवासी मोटरसायकिल चालक सागर सिंह पिता राजकुमार सिंह को हादसे के हिसाब से हल्की चोटें हैं, हालांकि चेहरे पर खरोचें आई हैं. शरीर का कोई अंग भंग नहीं हुआ है और वे बाल-बाल बच गए हैं.

चौसा की सड़कों पर मौत का सफ़र: अधिकारियों का आदेश बेअसर

मधेपुरा जिला के चौसा प्रखंड की जर्जर सड़कों पर दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से चौसा में ओवर लोडिंग वाहन पर प्रतिबंध लगाया था. पदाधिकारियों के आदेश बेअसर हो रहे हैं. चौसा की सड़कें अबतक आधा दर्जन मौत की गवाह बन चुकी है. चौसा की सड़कों पर चलना मौत को गले से लगाने के बराबर है.
          मालूम हो कि परिवहन विभाग एवं पुलिस प्रशासन की उदासीनता के कारण चौसा में धड़ल्ले से ओवर लोड वाहनों का परिचालन हो रहा है. जबकि जिला प्रशासन की ओर से नो इंट्री लगाने का बोर्ड कई जगह लगाया गया है. बावजूद इसके वाहन चालक  जिला प्रशासन के निर्देश का खुलेआम उल्लघंन कर रहें हैं. जिला प्रशासन ने ओवर लोडिंग वाहन को रोकने के लिये बेरिकेटिंग भी लगाया है. मालूम हो कि नदी के विजय घाट पर बाबा विशु राउत सेतु के निर्माण होने से उत्तर बिहार को दक्षिण बिहार से जोड़ने के अलावे विभिन्न जिलों की दूरी कम हो जाने से सैकड़ों की संख्या में प्रत्येक दिन भारी वाहन चलने लगे हैं. और सड़क जर्जर होने के कारण सड़क दुर्घटना होने की घटना जोर पकड़ लिया.
     चौसा में बढ़ती सड़क दुर्घटना से आमलोगों में प्रशासन के विरूद्ध आक्रोश को देखते हुए चौसा थानाध्यक्ष सुमन कुमार सिंह ने पुलिस अधीक्षक मधेपुरा को लिखित आवेदन भेजकर चौसा में नो इंट्री लगाने और जिला परिवहन पदाधिकारी से चौसा में वाहन की नियमित जाच करने का अनुरोध किया था. पथ निर्माण विभाग मधेपुरा के कार्यपालक अभियंता ने भी पुलिस अधीक्षक मधेपुरा को पत्र भेजकर दक्षिण बिहार से विजय घाट के रास्ते एवं पूर्णिया, कटिहार से अरजपुर मार्ग से भारी वाहन के प्रवेश करने पर पाबंदी लगाने का अनुरोध किया. अपने पत्र में कार्यपालक अभियंता ने कहा है कि सस्ता एवं सुलभ मार्ग होने के कारण इस रास्ते को वाहन चालक के द्वारा अवैध रूप से माल ढोने के लिए बिना परमिट अनाधिकृत रूप से प्रयोग किया जाता है. चौसा की सभी सड़कें महज दस फीट चौड़ी है जो इन भारी ओवर लोडेड वाहनों के अवैध परिचालन के लिए नहीं है.
     चौसा थाना अध्यक्ष एवं पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता के लिखित प्रतिवेदन पर पुलिस अधीक्षक ने अपने ज्ञापाक 3276 और जिला पदाधिकारी ने अपने ज्ञापाक 3272 के माध्यम से चौसा थाना क्षेत्र में ओवरलोड ट्रक के प्रवेश पर पूर्णत:रोक लगाने का आदेश निर्गत किया है. जिला पदाधिकारी ने जिला परिवहन पदाधिकारी एवं मोटर यान निरीक्षक को चौसा थाना क्षेत्र में नियमित रूप से जांच करने का आदेश भी प्रदान किया है. चौसा में नो इंट्री लगाने का आदेश तो जारी किया गया लेकिन इस पर किसी तरह का कोई अमल नही किया जाता है. धड़ल्ले से ओवरलोड वाहनों का परिचालन हो रहा है. स्थानीय पदाधिकारी का भी ध्यान इस ओर नहीं है, ना ही कभी जिला परिवहन पदाधिकारी एवं मोटर यान निरीक्षक ने चौसा में जाच पड़ताल की. इससे चौसा की प्राय: सभी सड़के जर्जर हो गई और पैदल चलने लायक भी नही बची है.
      मालूम हो कि चौसा से अरजपुर पूर्णिया जिला सीमा, चौसा से फुलौत चौसा से उदाकिशुनगंज, चौसा से भटगामा और भटगामा से मनोहरपुर की सड़क अत्यन्त ही जर्जर हो गई है. यदि जल्द जिला प्रशासन इस पर ध्यान नहीं देती है तो दुर्घटनाओं की संख्यां में काफी वृद्धि हो जायेगी और लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना होगा.

‘चिलम की सोंट’ पर वोट की जुगाड़ में जुटे प्रत्याशी

मधेपुरा जिले के पुरैनी प्रखंड क्षेत्र में आठवें चरण में 22 मई को होनेवाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की सरगर्मी काफी तेज हो चुकी है. अहले सुबह से ही प्रत्याशी जहाँ वोट की जुगाड़ में घर से निकलकर घर-घर का चौखट चूमते नजर आ रहे हैं, वहीं नामांकन के समय से ही प्रखंड क्षेत्र में शराब की पूर्णतः बंदी की वजह से जहाँ शराबी के हाथ खाली नजर आते हैं वहीं गंजेड़ियों की अहले सुबह से लेकर देर रात्रि तक चांदी ही चांदी हैं. क्योंकि मुख्य बाजार तो क्या ग्रामीण क्षेत्रों में भी जहाँ गांजा आसानी से उपलब्ध हो जाया करती है वहीं दरवाजे व बगीचों में बने मचान पर बैठे युवा व कई अधेड़ उम्र के ग्रामीणों को चिलम की चाकड़ी लगाते देख समर्थक भी सोंट लगाने से बाज नहीं आ रहे है.
      प्रत्याशी व उनके समर्थक शराबियों को शराब उपलब्ध नहीं होने का वास्ता देकर गांजा से ही काम चला लेने की दुहाई देते नजर आ रहे हैं. वहीं चुनाव के इस मौसम में पान, सिगरेट व रजनीगंधा की बिक्री ने भी काफी जोर पकड़ लिया है. वैसे मतदाता जो अपने पैसे से बीड़ी व गुटखा से ही काम चलाते हैं वह प्रत्याशियों को देखते ही दुकानदारों से सिगरेट व रजनीगंधा की मांग कर बैठते हैं. प्रत्याशी की मानें तो उन्हें बस किसी भी तरीके से अपने वोट बैंक को सुरक्षित करने की मजबूरी है.

मधेपुरा: संपीडन का भोज खाने से 110 लोग बीमार

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर प्रखंड के रूपौली पंचायत के कटैया गाँव में मृतक सुकेन शर्मा के संपीडन का भोज खाने से लगभग 110 लोग बीमार हो गए. बीमारों का इलाज पीएचसी सिंहेश्वर में चल रहा है.
       मिली जानकारी के अनुसार कटैया वार्ड नंबर 7 मे संपीडन के भोज में खाने में कोई जहरीला पदार्थ मिल जाने से आधी रात के बाद लोगों को पेट दर्द, दस्त, उलटी होने से गाव में हंगामा मच गया. एक के बाद एक मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए ग्रामीणों ने उसे लाद-लाद कर पीएचसी लाने लगे. देखते ही देखते पीएचसी सिंहेश्वर मे मरीजों की बढती संख्या को देखते हुए भी चिकित्सकों ने धैर्य नही खोया. सीमित संसाधनों के बावजूद सबों का इलाज ससमय होने के कारण किसी भी तरह की अनहोनी घटना टल गई.
       बीमारों में अधिकांश बच्चे हैं. कुछ बीमारों जैसे प्रिंस कुमार 5, सौरभ कुमार 7,  सरोज कुमार 3, मिनोय कुमार 5, मुन्नी शर्मा, रूची कुमारी 6, बन्टू कुमार 8, अनिल कुमार 18, रविना कुमार 20,  विजेंद्र कुमार 35, प्रणब कुमार 15, रमेश विश्वास 35, अरूण चौहान 20, नरेश यादव 35, अनिता देवी 30, मनीष कुमार 8, पवन कुमार 16, रंजन कुमारी 10, संजीम कुमार 21, सौरभ कुमार 18, अमरेन्द्र कुमार 21, ललटू कुमार 16,  साजन कुमार 12, लालोदेवी 23,  दुखी कुमार 8, अंकेश कुमार 2,  रंजन देवी 25, दर्बल कुमार 7,  आरती कुमारी 11, गुंजन 13, विमला देवी 50 , कविता देवी 21, निधी प्रिया 21, सुमन कुमार 10, ननकी देवी 10,  आशु कुमार 7,  आरती कुमारी 13, लालबाबू 38, चांदनी देवी  20, पियूष देवी 45 वर्ष को सलाईन चढ़ाना पड़ा है.
      गनीमत कहिये कि गाँव एक बड़े हादसे से उबर गया है.

अभी-अभी: मुरलीगंज के कपड़ा व्यवसायी के कर्मचारियों को अपराधियों ने लूटा

अभी देर शाम मधेपुरा जिले के कुमारखंड थानाक्षेत्र में मुरलीगंज के एक कपडा व्यवसायी के दो कर्मचारियों की मोटरसायकिल अपराधियों ने रूकवा कर उनके रूपये उस समय लोट लिए जब वह तगादा से वापस लौट रहा था.
    मिली जानकारी के अनुसार मुरलीगंज के कपडा व्यवसायी राजेश भूत के दो कर्मचारी बबलू सिंह (42 वर्ष) तथा बिजेंद्र पोद्दार (28 वर्ष) त्रिवेणीगंज से तगादा कर रूपये लेकर वापस मुरलीगंज लौट रहे थे कि उसी दौरान कुमारखंड थानाक्षेत्र के रहटा के निकट तीन मोटरसायकिल पर सवार छ: अज्ञात हथियारबंद अपराधियों ने इनकी मोटरसायकिल रूकवाई और गाली-गलौज करते हुए व्यापारियों से 25 हजार रूपये लूट लिए.
    हालांकि कुमारखंड थाना में दिए आवेदन में व्यापारियों ने 15 हजार 680 रूपये लूटे जाने की शिकायत दर्ज कराई है.

बुधवार, 4 मई 2016

बचपन बना बोझ: क्षतिग्रस्त नाक और आँख वाले अविनाश को है मसीहा का इन्तजार

सहरसा जिले के सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के मटिहानी गाँव के नौ महीने के अविनाश को जो कोई भी देखता है, आह भरने के सिवा कुछ नहीं कर पाता है. नौ महीने के इस मासूम को भगवान् ने धरती पर तो भेजा, लेकिन क्या सोचकर, ये हर किसी के समझ से बाहर है. जन्म से ही अविनाश की आँखें और नाक बुरी तरह खराब है. अविनाश को सांस तक लेने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. पिता राज कुमार सादा हताश हैं और सोच नहीं पा रहे हैं कि इस बच्चे की जिन्दगी आगे कैसे चलेगी. अविनाश मुश्किल से जिन्दा है और यदि उसका इलाज न हुआ तो उसकी मौत कभी भी हो सकती है. राज कुमार बताते हैं कि बेटे के जन्म को लेकर वे बहुत ही खुश थे पर उनकी ख़ुशी उस वक्त गम में बदल गया जब जन्म के बाद उन्होंने बच्चे का चेहरा देखा. हैसियत भर इलाज भी कराया पर क्या कमायें, क्या खाएं और क्या बचा कर इलाज कराएँ. हालांकि आवाज देने पर अविनाश गर्दन घुमाता है जो इस बात का संकेत है कि बच्चे में बहुत कुछ बाकी है.
       बता दें कि सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के बलवा हाट ओपी में मटिहानी गाँव करीब सौ घर का एक महादलित टोला है. इसी टोले में शुरू में ही इस बदनसीब बच्चे अविनाश के पिता राज कुमार सदा का घर है. बच्चे की तस्वीर सबसे पहले सोशल मीडिया पर कोसी के जाने-माने फोटोग्राफर अजय कुमार ने पोस्ट की तो अविनाश के प्रति सहानुभूति प्रदर्शित करने कई लोग सामने आए.
        पर चिकित्सकों का कहना है कि सर्जरी से अविनाश का इलाज तो संभव है, पर इसमें लाखों रूपये खर्च आ सकते हैं. मजदूरी कर दो जून की रोटी का इंतजाम करने वाला पिता बेबस है और शायद अविनाश को जिन्दगी तब ही मिल सकती है जब कोई संस्था या नेता-अभिनेता या फिर कोई मसीहा इस मासूम को गोद लेकर इसका इलाज करा दे. वैसे इस मासूम को बचाने सहरसा प्रशासन या सांसद आदि भी यदि आगे जाएँ तो वो एक सुखद क्षण होगा. यदि ऐसा नहीं हुआ तो इस मासूम की साँसें थमते ही परिवार की खुशियों का उजड़ जाना तय है.
(वि.सं.)

मधेपुरा में दारोगा के घर 15 लाख की चोरी

मधेपुरा थानान्तर्गत भर्राही ओपीक्षेत्र में एक दारोगा के घर चोरों ने बड़ी संपत्ति पर हाथ साफ़ कर दिया. दारोगा नवादा जिले में पोस्टेड बताए जाते हैं.
    मिली जानकारी के अनुसार मधेपुरा थानान्तर्गत भर्राही ओपीक्षेत्र में गोढेला गाँव ke वार्ड नं. 7 में बीती रात चोरों ने दो घरों के ताले तोड़कर लाखों गहने और नकदी आदि चुरा लिए. बताया गया कि नवादा में पदस्थापित एएसआई कौशल कुमार के घर में शादी के उद्येश्य से काफी मात्रा में जेवर खरीद कर रखे गए थे और घर से सारे सदस्य किसी अन्य शादी में गए हुए थे. मौके का फायदा उठाकर चोरों ने करीब 15 लाख के जेवर, करीब एक लाख रूपये की नकदी तथा अन्य कीमती सामान चुरा लिए.
    वहीँ बगल के छेदी यादव और बद्री यादव के घर से जेवर और नकदी चोरी की बात बताई जाती है.

चौसा में प्रेम-प्रसंग के मामले में बढ़ोतरी को लेकर अपहरण के कई मामले दर्ज

मधेपुरा जिला के चौसा थाना क्षेत्र में इन दिनों प्रेम प्रसंग को लेकर कथित अपरहण की घटना बढ़ने लगी है. अभी एक विवादित अंतर्जातीय प्रेम विवाह और कथित अपहरण का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि बीते दिन दो अलग अलग क्षेत्रों में प्रेम प्रसंग को लेकर दो अपरहण का मामला दर्ज कराया गया है.
      मामले में रसलपुर धुरिया पंचायत की निवर्तमान उप मुखिया नन्दनी देवी समेत 11 लोगों पर अपहरण का मामला दर्ज कर लिया गया है. एक मामले में पुलिस ने लड़का लड़की को बरामद कर लिया गया है, जबकि दूसरे की खोज चौसा पुलिस कर रही है.
       बताया जाता है की रसलपुर धुरिया पंचायत के ग़ांधी टोला गोड़ियारी निवासी बिपिन ठाकुर ने चौसा पुलिस को आवेदन देकर अपने ही गॉव के राहुल कुमार और पंचायत के निवर्तमान उप मुखिया नंदनी देवी समेत नौ लोगों  पर अपनी नाबालिग बहन का अपरहण कर लिए जाने का मामला दर्ज कराया है. जबकि दूसरी घटना पैना की है. पैना निवासी फारूक हुसैन ने चौसा थाना के नाराडीह निवासी अवधेश यादव एवं नवगछिया पुलिस जिला के मिल्की धोबिनिया निवासी बबलू कुमार अपनी नाबालिग पुत्री को अपरहण का मामला दर्ज कराया है. थाना को दिए आवेदन में  हुसैन ने कहा है  कि घटना को उस समय अंजाम दिया गया है जब मेरी पुत्री मेरी चचेरी बहन के साथ चिरौरी बहियार से संध्या में मजदूरी कर घर वापिस आ रही  थी कि  रस्ते में उसका अपहरण कर लिया गया.
      पुलिस ने तक्षण कारवाही करते हुवे ग़ांधी टोला गोढ़ियारी से अपहृत लड़की को बरामद कर लिया है और नामजद अभियुक्त राहुल कुमार को जेल भेज दिया है. थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह ने बताया की पैना से अपहृत लड़की की तलाश जारी है.
     उधर हाल ही में चौसा थाना में दर्ज एक मामले में करीब डेढ़ माह बाद लड़की फ़िल्मी अंदाज में कोर्ट में हाजिर हुई. सूत्रो का मानना है कि पहले तो लड़की प्रेम-प्रसंग में घर से निकली थी पर बाद में वह अपने माता पिता के साथ रहने की बात की तथा अपना अपहरण होने की बात कही जिसके बाद पुलिस द्वारा लड़की को उसके माता पिता को सुपुर्द कर दिया गया.

करेंट से भैंस की मौत पर भड़के स्थानीय, बिजली विभाग के खिलाफ सड़क जाम

मधेपुरा नगर परिषद् क्षेत्र में आज तड़के आई आंधी और बारिश के बाद जिले भर में जहाँ जगह-जगह कुछ नुकसान की खबर है वहीं मधेपुरा नगर परिषद् क्षेत्र के पश्चिमी बाय पास भिरखी के वार्ड नं. 21 में एक बिजली के तार के गिर जाने के बाद एक भैंस की मौत हो गई.
    भैंस की मौत के बाद स्थानीय लोगों का आक्रोश बिजली विभाग के खिलाफ जमकर भड़का और उन्होंने मधेपुरा-सहरसा मुख्य मार्ग को जाम कर दिया. लोगों का कहना था कि जिस जगह भैंस की मौत हुई है वहां बिजली का तार काफी दिनों से स्पार्क कर रहा था और इसकी सूचना उन्होंने विभाग को दी थी, पर विभाग ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया.
    बाद में किसी तरह समझा-बुझा कर जाम हटवाया गया. उधर जिले के बिहारीगंज के शेखपुरा पंचायत अन्तर्गत कठौतिया निवासी जवाहर यादव की भैंस की मौत भी व्रजपात से होनर की खबर है. मृत भैंस की  कीमत पचास से 60 हजाररूपये के आसपास बताया गया. 

एसपी पहुंचे चौसा: चुनावी समीक्षा और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा

मधेपुरा पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने चौसा थाना पहुँच कर आगामी 26 मई को नौवे चरण में होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर चुनावी समीक्षा की.
       एसपी  विकास कुमार ने तीसरे चरण के चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न होने पर काफ़ी संतुष्ट होते होते कहा कि अब प्रशासन चौथे चरण की तैयारी में है. मतदान को लेकर प्रशासन की ओर से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शांतिपूर्ण तरीके से मतदान प्रक्रिया सम्पन्न कराई जाएगी. असामाजिक तत्वों पर पुलिस की पैनी नजर है इस के लिए मतदान केन्द्रो को कई जॉन में बाँट कर पेट्रोलिंग मजिस्टेट एवं कई अधिकारी क्षेत्र में भ्रमण  कर सुरक्षा का जायज लेते रहेंगे. उन्होंने कहा कि चुनाव वाले प्रखंड में मतदान पर मैं स्वयं नजर रख रहा हूँ. मतदान को लेकर जिले की सीमा को सील कर दिया जाएगा. सुरक्षा व्यवस्था इतनी कड़ी रहेगी कि कोई भी कही भी गड़बड़ी संभव नहीं हो पाएगी.
         एसपी विकास कुमार ने चौसा में बढ़ रहे प्रेम प्रसंग की घटनाओं को लेकर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि अभिभावक को अपने बच्चों का ख्याल रखना चाहिए और बच्चों को किसी के भावनाओ में नहीं बहना चाहिए. इस तरह के मामले को लेकर जहाँ दोनों पक्ष के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है, वहीं पुलिस के लिए यह एक समस्या बन जाती है.
     इस मौके पर अंचल पुलिस निरीक्षक सुरेश राम, थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह, अवर निरीक्ष फागु राम अदि उपस्थित थे.

मधेपुरा में ग्रीनफील्ड विधुत रेल इंजन कारखाना का हुआ भूमि पूजन

मधेपुरा में बहुप्रतीक्षित और महत्वाकांक्षी योजना मेकिंग इंडिया के तहत लगने वाले ग्रीनफील्ड विधुत रेल इंजन कारखाना का आज भूमि पूजन किया गया. भूमि पूजन की भनक न तो ग्रामीणों को लगी और न ही मीडियाकर्मियों को. जब तक लोग कुछ समझ पाते तबतक भूमिपूजन खत्म हो चुका था और मौके पर पहुंचे बिहार सरकार के ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव भी स्थल से चल चुके थे.
      चुपचाप हुए भूमिपूजन से भू-दाता किसानों में भी नाराजगी देखी जा रही है. लोगों का कहना है कि चूंकि भू-अधिग्रहण से संबंधित मामला पटना उच्च न्यायलय और मुआवजा संबंधित मामला आर्बिट्रेटर के पास लंबित है इसलिए रेलवे आनन-फानन में भूमिपूजन कर काम शुरू करना चाहती है.
   वहीं भूमि पूजन में शामिल ग्रीन फिल्ड विधुत रेल इंजन कारखाना के डिप्टी चीफ इंजीनियर के.के. भार्गव ने बताया कि फ़्रांस की कंपनी एलस्टॉम के द्वारा भूमि पूजन का कार्य किया गया है और जल्द ही निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा. वहीं चुपचाप भूमिपूजन करने के सवाल पर कहा कि एक और कार्यक्रम आयोजित होगा जिसमे सभी लोगों को सूचना दी जाएगी.

सहरसा का युवक नशे की हालत में मधेपुरा में गिरफ्तार

मधेपुरा में बीती रात सहरसा का एक युवक नशे की हालत में मधेपुरा पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया.
      मिली जानकारी के अनुसार घटना बीती रात करीब नौ बजे की है. बताया गया कि अपने ननिहाल सरोपट्टी से सहरसा जिला के रौता निवासी रितेश कुमार अपने घर जा रहे थे. उसी दौरान वे मधेपुरा जिला मुख्यालय के निकट चकला चौक के समीप अपनी मोटरसायकिल रोक कर मोबाइल पर जोर-जोर से बातें कर रहे थे. संयोग से उसी समय मधेपुरा थानाध्यक्ष मनीष कुमार अपने गश्ती टीम के साथ निकले थे और उन्हें युवक के बात करने के अंदाज से नशे में होने की शंका हुई. युवक से पहले पूछताछ की गई तो वह सही से कुछ बता नहीं पा रहा था. मुंह से पीने की दुर्गन्ध आई तो युवक को हिरासत में एक्साइज विभाग के अधिकारी को बुलाया गया. ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट में युवक के द्वारा शराब पीये जाने की पुष्टि हुई जिसके बाद रितेश को गिरफ्तार कर लिया गया.
    युवक का कहना था कि उसने सिंहेश्वर के मेला ग्राउंड में ताड़ी का सेवन किया था.

अब पचास प्रतिशत शिक्षक हीं रहेगें चुनाव में बीएलओ

मतदान केन्द्र स्तरीय पदाधिकारी उर्फ बीएलओ के पद पर तैनात शिक्षकों को अविलंब 50 प्रतिशत कम किये जाने के बावत बिहार सरकार निर्वाचन विभाग पुनः पत्र जारी किया है.
              मिली जानकारी के अनुसार बिहार सरकार निर्वाचन विभाग ने अपने पत्र में स्पष्ट किया गया है कि शिक्षकों के स्थान पर अन्य सरकारी कर्मियों को मई माह में अभिायान चला कर इसे पूरा किया जाए. उक्त संदर्भ में भारत निर्वाचन आयोग के पूर्व पत्र का हवाला देकर कहा गया है कि बारह विभागों की सूची दी प्राप्त है उसी विभाग से बीएलओ के पद पर तैनाती की जाएगी. पर आजतक उक्त बिन्दु पर काम पूरा नहीं किया गया है. अभी भी उक्त पद पर पचासी प्रतिशत शिक्षक कार्यरत है. जबकि उसे घटाकर पचास प्रतिशत करने को कहा गया था.
      पुनः उक्त आदेश के आलोक में मई माह के अंत तक एक अभियान चलाकर उसे पूरा करने का आदेश जारी किया है. इसके पूरा होने पर शिक्षको के सिर से अतिरिक्त बोझ घटेगा और शिक्षा में  सुधार होगा.
(रिपोर्ट: रानी देवी)

आलमनगर में चुनाव की तैयारी पूरी, होगा 14 पंचायतों के 1043 प्रत्याशियों का फैसला

पंचायत चुनाव के चौथे चरण में होने वाले मतदान के तहत शुक्रवार को मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखंड में मतदान किया जायेगा. मतदान के लिए सारी प्रशासनिक तैयारी पूरी कर ली गई है. सभी मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की सुविधा एवं सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है.
      इस बाबत निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ मिन्हाज अहमद ने बताया कि बूथों पर स्टेटिक फोर्स तैनात किया जायेगा. पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ अन्य फोर्स भी तैनात रहेंगे. आलमनगर में सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ निष्पक्ष एवं स्वक्ष चुनाव के लिए दो सुपर जोन बनाये गए हैं. साथ हीं ग्यारह जोनल मजिस्ट्रेट  21 सैक्टर में बांटे गए हैं जिनमें सेक्टर मजिस्ट्रेट के अलावे 63 पेट्रोलिंग पार्टी मतदान के दौरान अंत तक तैनात रहेंगें. वहीं प्रेक्षक के रूप में आर डी झा समूचे प्रखण्ड क्षेत्र में भ्रमण करेंगे और साथ-साथ वरीय पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे.
     चुनाव प्रचार का शोर थमते हीं प्रत्याशी डोर टू डोर जाकर मतदाता को रिझाने का अंतिम प्रयास कर रहे हैं. अंतिम क्षण में प्रत्याशियों ने जीत के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. प्रखण्ड के 14 पंचायतों के  1043 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला एक लाख तीन सौ तेहत्तर मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग से करेगे. जिसमें 52814 पुरूष 45555 महिला एवं अन्य चार मतदाता शामिल है. चुनाव के लिए कुल 202 बूथ बनाये गये है.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

मंगलवार, 3 मई 2016

शराबबंदी पर सरकार: एक तीर से दो शिकार !

शराबबंदी पर सरकार सामाजिक सुधार के साथ राजनीतिक रोटी भी सेंकते हुऐ एक तीर से दो शिकार करती हुई जान पडती है. धन्यवाद बटोरने के सिलसिलेवार कार्यक्रम और डीजीपी  से शराब बंदी के कारण अपराध पर अंकुश लगाये जाने का बयान दिलाकर सरकार खुद अपना पीठ थपथपाती नजर आ रही है.
      सामाजिक परिपेक्ष्य में सरकार के द्वारा लिया गया निर्णय स्वागत योग्य है, लेकिन राजनीतिक दृष्टि से भी यह बड़ा निर्णय कुछ खास मायने रखता है. नीतीश कुमार बिहार के इस सोच को लेकर एक बार फिर से देश भर में शराबबंदी का अलख जगा सकते हैं. सरकार  इस तरह से तैयार किए गए  एजेंडे पर जनता और खासकर महिलाओं की मुहर भी लगवा रहे है. यही नहीं, इसके साथ ही मुख्यमंत्री इस सफलता को अपराध से भी जोड़ कर इसे बड़ी कामयाबी बता रहे है.
   पर इतने सख्त कानून बनाने और थानाध्यक्ष के क्षेत्र में शराब बेचने की जानकारी मिलने पर 10 साल थाना नही मिलने की चेतावनी के बाद भी प्रत्येक दिन शराब और शराब पीने वाले नजर आ रहे हैं. मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर थानाक्षेत्र के लालपुर में तो एक होमगार्ड का जवान ही शराब बेचने का आरोपी पाया गया. उम्मीदवारों के चुनावी रंजिश में लालपुर में लगातार दो दिन 86 और 150 बोतल देशी शराब का मिलना भी पूर्ण शराब बंदी की सफलता पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करती है.
    बीते दिन मिडिया मे जहरीली शराब पीने से मौत होने की खबर,पंचायत चुनाव में जमकर शराब बांटे जाने की बात, हजारो लीटर शराब की जब्ती, होटलों में शराब पीते बड़े लोग  शराबबंदी की मुहिम की पूर्ण सफलता को अभी कठघरे में खड़ा करती है. 
      दूसरी ओर अपराध के मसले पर जब बहस छिड़ चुकी है और जहाँ सहरसा में मुख्यमंत्री और डीजीपी द्वारा अपराध का ग्राफ नीचे आने की बात कही जा रही थी वहां सहरसा के लोगों के लिए इसे गले से नीचे उतारना शायद मुश्किल हो रहा था क्योंकि एक पखवारे में ही दो राजद नेताओं की हत्या के मामले अभी अपराधियों के बुलंद हौसले को बयां करने के लिए काफी है.

अपहृता नाबालिग के परिजनों से मिलने पहुंचे विधायक व विधान पार्षद

सुपौल जिले के छातापुर थाना क्षेत्र के मोहनपुर से बीते 12 दिन पूर्व अपहृता 12 वर्षीया नाबालिग के परिजनों से मिलने राजनीतिक दल व संगठन के प्रतिनिधि व बडे जन प्रतिनिधियों का आगमन जारी है.
    इसी क्रम में सोमवार को छातापुर विधायक नीरज कुमार सिंह बबलू व विधान पार्षद नूतन सिंह पीड़ित परिजन के घर पहुंचे और घटना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की. विधायक व विधान पार्षद  ने घटना की निंदा करते कहा कि असामाजिक तत्वों के घिनौनी करतूत के कारण ही समाज में अशांति फैलती है और सामाजिक सदभाव पर असर पड़ता है. उन्होंने कहा कि ऐसे मानसिकता वाले लोगों को समाज से बहिष्कृत किया जाना चाहिए. उन्होने अपहृता की अबतक बरामदगी नही हो पाने से स्थानीय पुलिस पर नराजगी जाहिर की और कहा कि इस मामले को माननीय मुख्यमंत्री के संज्ञान मे दिया जाएगा. पीडित परिवार को ढ़ांढस बंधाते उन्होने हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया.
    मौके पर विधायक प्रतिनिधि राघवेंद्र झा राघव, विहिप के प्रखंड अध्यक्ष कमलेश सम्राट, उपाध्यक्ष मुकेश कुमार यादव, जवाहर प्रसाद सिंह, भाजपा पंचायत अध्यक्ष जयनारायण चौपाल, सुरेश कुसियैत सहित दर्जनों स्थानीय लोग मौजूद थे.
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...