जमीन विवाद में जख्मी

CBSE 10th के बेहतर परिणाम

तैयब्बा को चौथा स्थान

मतगणना के लिए प्रशिक्षण

कुचलकर युवक की मौत

आलमनगर में पुनर्मतदान

किसानों के लिए लाभकारी

कंपनी पर ठगने के आरोप

बीडीओ-इन्स्पेक्टर विवाद

सरकार पर बरसे सांसद

आधी आबादी का जोश

सांसद ने की मदद

कहीं हो न जाए हेराफेरी!

चौसा में चुनाव शांतिपूर्ण

छोटू का अबतक सुराग नहीं

कृषि समन्वयक का विरोध

फूँका वीसी का पुतला

2 जून से मतगणना

'असामाजिक तत्व होंगे गिरफ्तार'

चौसा में चुनाव:तैयारी पूरी

शिक्षिका को बचाया!

घायल युवक ने दम तोड़ा

सुपौल में मतगणना कल

मतपत्र की मिली अधकट्टी

एक समान शुल्क का विरोध

सायकिल सवार की मौत

चौसा में चुनाव की तैयारी

गोदाम में लगी आग

स्कॉर्पियो से छात्रा की मौत

दो आदिवासी गिरफ्तार

तोड़ी सुभाष की प्रतिमा

'दिल्ली पर होगा कब्ज़ा'

नाट्य कार्यशाला का समापन

सगे भाइयों में खूनी संघर्ष

मुरलीगंज में चौकीदार की मौत

पुरैनी में चली लाठियां

पुलिस से आहत महिला

चौकीदार की हत्या

आदेश की अवहेलना प्राथमिकी!

नौकरी के नाम पर ठगी

पुरैनी में चुनाव कल

मोटरसायकिल लुटेरे गिरफ्तार

मोटरसायकिल लूटी

महर्षि मेही जन्मदिवस समारोह

दामाद ने की ससुर की पिटाई

शनिवार, 28 मई 2016

जमीन विवाद में महिला और उसके पति को किया जख्मी

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज के पोखराम गाँव के वार्ड  3 मे परमेश्वर यादव उर्फ़ फेकु यादव और रत्नेश यादव के बीच जमीन विवाद को लेकर मारपीट की घटना हुई जिसमे एक महिला समेत दो लोग जख्मी हो गए.
     जमीन विवाद के गढ़ रहे मधेपुरा में इस घटना के बारे में भी मिली जानकारी के अनुसार कुछ दिन पूर्व पंचायत द्वारा दोनों पक्षों के बीच बास की जमीन पैमाईश करवाया गया था. बताया गया कि आज फिर फेकु यादव ने जमीन पैमाईश के दौरान कल के झगड़े को मारपीट मे परिवर्तित कर डाला, जिसमें  नीलम देवी और उसके पति रत्नेश के सर पर चोटें आई हैं. मुरलीगंज अस्पताल मे मौजूद डाक्टर अमित ने बताया कि हालत मे सुधार के बाद दोनों को उपचार के बाद छोड़ दिया गया.
   वहीँ थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने कहा कि मामले की जाँच कर उचित कार्यवाही की जायेगी.

सीबीएसई दशवीं के परिणाम में मधेपुरा के निजी स्कूलों का जलवा

सीबीएसई (सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन) की दशवीं के परिणाम ने मधेपुरा जिले के कई निजी विद्यालयों को एक बार फिर गौरव करने का मौका जरूर दिया है. जिले में इस परीक्षा में सबसे अच्छे ग्रेड यानि 10 CGPA (Cumulative Grade Point Average) लाने वाले छात्रों की संख्यां काफी है.
    मिली जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय के हॉली क्रॉस स्कूल के कम से कम 23 छात्र, किरण पब्लिक स्कूल के एपीयर 64 में से कम से कम 21, दार्जीलिंग पब्लिक स्कूल के 7 में से 6 छात्रों ने 10 CGPA अंक लाकर साबित कर दिया कि जिले में निजी स्कूलों का जलवा अभी भी कायम है.
    उधर मुरलीगंज से मिली जानकारी के अनुसार ऑक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल मुरलीगंज के 10 मे से 8 छात्रों ने 10 CGPA लाकर यह दिखा दिया कि छोटे शहर के स्कूल और छात्र भी पढ़ाई और मेहनत में किसी से कम नहीं हैं.
    इसके अलावे कई अन्य विद्यालयों से भी अच्छे प्रदर्शन की सूचना मिल रही है. जाहिर है ये सफल छात्रों के लिए ख़ुशी मनाने का अवसर है.
(नि.सं.)

नाज कीजिए इस बेटी पर: दर्जी की बेटी तैयब्बा प्रवीण ने इंटर कला में राज्य में चौथा स्थान लाकर बढाया कोसी का मान

“रख तू दो-चार कदम ही सही,
मगर तबियत से
कि मंजिल खुद-ब-खुद.
तेरे पास चल कर आएगी.
ए हालात का रोना रोने वाले,
मत भूल कि तेरी तदबीर ही
तेरा तकदीर बदल पाएगी.”


  ...और कोसी की एक और बेटी ने तदबीर से अपनी तकदीर ही नहीं बदली, बल्कि दर्जी का काम करने वाले पिता और ‘आशा’ मां को भी एक बेटी पर गर्व करने का ऐसा अवसर दे दिया है जिसे जानकर लाखों वैसे युवा प्रेरणा ले सकते हैं जो अपनी विपरीत परिस्थियों को कोस कर संघर्ष पथ पर बिना मंजिल तय किए ही हार मान लेते हैं. 
सहरसा जिले के बख्तियारपुर बस्ती निवासी मो रब्बा की बेटी तैयब्बा प्रवीण ने इंटर कला की परीक्षा में सूबे में चौथा स्थान लाकर सहरसा जिला ही नहीं बल्कि पूरे कोसी का मान बढ़ाया है. पिता दिल्ली में दर्जी का काम करते हैं तो मां सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडलीय अस्पताल में आशा कार्यकर्ता है. साधारण परिवार में बढ़ी और पढ़ी तैयब्बा प्रवीण के इस सफलता से जहां मां शाईस्ता प्रवीण सहित आसपास के लोगो में खुशी थीं वही आने जैसे वाले सभी लोग एक ही बात कह रहे थे कि अब बेटी बेटी में कोई फर्क नही रहा. जहाँ तक हाल के दिनों में जैसे ही लोगों को खबर मिली की राज्य में चौथा स्थान तैयब्बा को मिला है घर पर बधाई देने वालों का हुजूम उमड़ पड़ा. मां खुशी से झूम उठी और बेटी की इस सफलता पर ख़ुशी का बेटी को गले लगी कर करने से नही रोक सकी.
     बचपन से मेधावी रही तैयब्बा प्रवीण ने वर्ग 8 तक की पढाई गांव के ही मध्य विद्यालय फकीरटोला से किया. उसके बाद प्रोजेक्ट कन्या उच्च विद्यालय सिमरी बख्यितारपुर से मैट्रिक की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास कर इंटर की परीक्षा डीसी कॉलेज सिमरी बख्तियारपुर (रोल नम्बर 30375) से दी और 398 अंकों का बेहतरीन अंक प्राप्त कर राज्य में चौथा स्थान हासिल कर लिया.
       जाहिर था, मौके पर अपने छात्र की इस बड़ी उपलब्धि से गदगद डीसी कॉलेज के प्राचार्य जियालाल यादव भी बधाई देने पहुंचे. उधर खगड़िया सांसद चौधरी महबूब अली केशर ने बच्ची को बधाई देते हुए कहा कि कम संसाधन के बाबजूद पढाई कर सूबे में चौथा स्थान प्राप्त कर तैयब्बा प्रवीण ने जिले का नाम रौशन किया है. छात्रा की इस कामयाबी पर नगर पंचायत अध्यक्षा सीमा कुमारी गुप्ता, उपाध्यक्ष रौशन आरा, पूर्व मुखिया मो. फिरोज आलम, मो मोजाहिद आदि ने भी प्रवीन को शुभकामनाएं दी हैं.
      प्रवीण की इच्छा आगे की पढाई कर आइएएस बनने की है. कहती है कि देखना में एक दिन आईएएस बनकर अपने राज्य का नाम रौशन जरूर करूंगी.
(ब्रजेश भारती की रिपोर्ट)

जीत के बाद विजय जुलूस नहीं निकाल सकेंगे प्रत्याशी: 02 जून से होने वाली मतगणना के लिए शिविर लगाकर दिए जा रहे हैं प्रशिक्षण

मधेपुरा में 30 मई को अंतिम चुनाव के बाद 02 जून से होने वाली मतगणना के लिए प्रखंडों में शिविर लगाकर जुड़े लोगों को प्रशिक्षण दिए जा रहे हैं.
      इसी कड़ी में जिले के सिंहेश्वर प्रखंड कार्यालय परिसर में शिविर लगा कर अभ्यर्थी, गणना अभिकर्ता,  निर्वाचन अभिकर्ताओ को प्रशिक्षित करने का प्रयास किया गया. एम.ओ. नरेश चौधरी ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि मतगणना में पूरी पारदर्शिता बरती जायेगी और जिन पंचायतों की गिनती चल रही होगी उसके समर्थकों को प्रखंड कार्यालय से 200 मीटर की दूरी पर ही रह सकते हैं. मतगणना कक्ष एवं मतदान केंद्र के बाहर पर्याप्त उंचाई पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे ताकि महत्वपूर्ण घटना की वीडियोग्राफी हो सके. जिसके आधार पर गड़बड़ी करने वालो को चिन्हित किया जा सके. साथ ही किसी भी प्रत्याशी को जीत के बाद विजय जुलूस नही निकालने दिया जायेगा. मास्टर ट्रेनर निशांत ठाकुर ने कहा मतगणना दो जून से सुबह 8 बजे से  शाम 6 बजे तक होगा, जिसके लिये 20 टेबुल लगाये गए हैं.   
      मतगणना पहले शिफ्ट में 8 बजे से 12:30 बजे तक तथा दूसरे शिफ्ट में दोपहर 1 बजे से 6 बजे शाम तक होगा. सिंहेश्वर प्रखंड में प्रथम दिन सबसे पहले दुलार पिपराही के 13 और भवानीपुर के 7 वार्डों की गिनती होगी. दूसरे सत्र में सुखासन के 12 तथा कमरगामा के 8 वार्डों का परिणाम निकलेगा. 3 जून को पहली पाली में रूपौली के 15, पटोरी के 5 वार्ड, दूसरी पाली में पटोरी के 7 और सिंहेश्वर के 13 वार्डों की तथा 4 जून को पहली पाली में जजहट सबैला के 16, मानपुर के 4 वार्ड, दूसरी पाली में मानपुर के 7 और गौडीपुर के 13 वार्डों का तथा अंतिम दिन 5 जून को पहली पाली में बैहरी के 15 तथा ईटहरी गहुमनी के 5, दूसरी पाली में ईटहरी गहुमनी के 7 तथा लालपुर के 15 वार्डों की मतगणना की जायेगी. उन्होंने बताया कि एक टेबुल पर 6 पदों के मतगणना के लिए 1 प्रर्यवेक्षक और 5 गणना सहायक रहेंगे. प्रखंड मुख्यालय से निर्गत प्रवेश पत्र के बिना किसी को भी मतगणना कक्ष में नहीं जाने दिया जाएगा.
     वहीं बीईओ यदुवंश प्रसाद ने कहा सम्पूर्ण मतगणना कार्य की विडियोग्राफी की जायेगी. मतगणना मे प्रतिनियुक्त कर्मियों पर भी कडी नजर रखी जाएगी. गडबडी करने वाले कर्मियों को तुरंत मतगणना कक्ष से बाहर निकाल दिया जायेगा और उस पर कड़ी कारवाई की जायेगी.

सड़क पर पसरे मकई को बचाने में वाहन से कुचलकर युवक की मौत

मधेपुरा जिले के बिहारीगंज किशुनगंज स्टेट हाइवे सड़क मार्ग पर शनिवार को अहले सुबह मक्करी के पास भाड़ी वाहन की चपेट में आने से एक तीस वर्षीय युवक की कुचलने से मौत हो गयी.
    घटना के बावत ग्रामीणों ने बताया कि अहले सुबह हल्की फुलकी बूंदा-बांदी के कारण सड़क पर पसरे मकई को पानी से बचाने वास्ते नारायण महतो का तीस वर्षीय बेटा फूलो महतो सड़क पर आया. इसी दौरान वाहन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गयी. चालक वाहन समेत भागने में कामयाब रहा.
     बाद में ग्रामीणों के द्वारा सड़क जाम किया गया, जिसके बाद अंचलाधिकारी कुमार कुंदन लाल व थाना से आए पुलिस पदाधिकारियों की पहल पर जाम हटा लिया गया. उन्होंने पीड़ित परिवारो को उचित सरकारी मुआवजा दिलाने का पूरा भरोसा दिलाया.
(रिपोर्ट: रानी देवी) 

आलमनगर में संपन्न हुआ पुनर्मतदान: यहीं हुआ था डीएम-एसपी पर पथराव

मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखण्ड के किशनपुर रतवारा पंचायत में पुर्नमतदान के चार मतदान केन्द्रों पर शांतिपूर्ण मतदान समाप्त हो गया. पुर्नमतदान के दौरान सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता व्यवस्था थी सुरक्षा के दृष्टि से वरीय अधिकारी सहित पुलिस पदाधिकार भारी मात्रा में सुरक्षा बल के साथ-साथ महिला पुलिसकर्मी भी मतदान केन्द्र पर मौजूद थे. हालांकि पुर्नमतदान के दौरान मतदाता डरे-सहमे एक-एक कर मतदान केन्द्र पर आ रहे थे एवं मताधिकार का प्रयोग कर रहे थे जिससे मतदान केन्द्रों पर लम्बी लाईन मतदाताओं की नहीं लगी रही.   
       प्रशासन द्वारा मुरौत गाँव के समीप निर्माणाधीन बाढ़ आश्रय स्थल में मतदान केन्द्र संख्या 176 बनाया गया था. वहीँ मुरौत पुर्नवास के पास चलंत मतदान केन्द्र के तहद 177, 178 एवं 179 मतदान केन्द्र बनाये गये थे.
          ज्ञात हो कि प्रखण्ड क्षेत्र में छः मई को हुये मतदान के दौरान वर्तमान मुखिया के घर पर भोज करने व छापोमारी करने गये जिलापदाधिकारी मधेपुरा मो० सोहैल एवं पुलिस अधीक्षक विकास कुमार के काफिले पर पत्थरबाजी किया गया था. प्रत्याशी द्वारा मतदाताओं को लुभाने और हंगामा के कारण यहाँ  पुर्नमतदान की डीएम की सिफारिश पर चुनाव आयोग ने पुर्नमतदान करने का निर्देश दिया था, जो आज शांतिपूर्ण संपन्न हुआ. 
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

शुक्रवार, 27 मई 2016

खरीफ महोत्सव: इन बातों का यदि रखें ध्यान तो किसानों की कई समस्याओं का होगा हल

मधेपुरा जिले में आज सिंहेश्वर और कुमारखंड प्रखंड में किसानों को उन्नत खेती के तकनीक को किसानों के बीच पहुंचाने के लिए खरीफ अभियान 2016 चला कर प्रखंड स्तरीय खरीफ महोत्सव सह प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया.
   सिंहेश्वर में शिविर का उद्धाटन का बीडीओ अजीत कुमार कुमारखंड में बीएओ नवल किशोर सिंह ने किया. इस अवसर पर बीडीओ श्री कुमार ने कहा कि सरकार किसानों को समृद्ध करने के लिए नई नई तकनीक किसानों तक पहुचा रही है. नई तकनीक से किसानों के उपज में कई गुणा बढोतरी हो जाती है. जरूरत है सभी संसाधनों का उपयोग किसानों करे.
   कृषि वैज्ञानिक मिथिलेश राय ने बताया आज जीरो बजट में खेती करने का उद्देश्य है कि खेती के लिए जिन-जिन संसाधनों की आवश्यकता होती है वे सभी घर में उपलब्ध करना. जीरो बजट खेती आध्यात्मिक कृषि का ही एक रूप है. उन्होंने अच्छादन, मृदाच्छादन, काष्ठाच्छादन, सजीवच्छादन सहित कई तकनीकी जानकारी दी. बीटीएम डा. विनोद कुमार ने बताया कि जीरो टीलेज विधि से बिना जताई के ही बीज बोया जाता है. पैडी ट्रांसप्लांटर से धान की रोपाई के लिए मजदूर की समस्या खत्म हो जाती है. कृषि वैज्ञानिक सुनिल कुमार ने कहा बाढ ग्रस्त क्षेत्रों में जहा 15-5 दिनों तक पानी लगा रहता है वहां के लिए तनाव रोधी धान स्वर्णा सब-1 की खेती की जा सकती है.
     बीऐओ राजदेव राम ने कहा सरकार किसानों को हर प्रकार के बीज पर अनुदान देती है. मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना मे हर राजस्व ग्राम के दो किसानों को 90 % के अनुदान पार बीज दे रही है. शंकर धान में 100 रूपया किलो, बीज ग्राम में 50 % अनुदान, मक्का प्रतिरक्षण में 1600 सौ रुपए का अनुदान दिया जा रहा है. वही प्रखंड का लक्ष्य बताते हुए कहा श्री विधि मे 152  एकड, जीरो टीलेज विधि से 85 एकड, पैडी ट्रांसपलांटर से 27 एकड, तनाव रोधी धान स्वर्णा सब-1 में 35 एकड का लक्ष्य रखा गया है.
    मौके पर प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी डा. श्वेता रानी, डा. आर पी. शर्मा,  आत्मा प्रखंड अध्यक्ष सिंहेश्वर रौशन कुमार सिंह, कुमारखंड भोला यादव, बीटीएम आनंद अकेला, किसान सलाहकार राणा संग्राम सिंह,  अश्वनी पाठक, मनोज कुमार, शिवशंकर कुमार, प्रदीप कुमार, पिंटू कुमार, प्रवीण कुमार राम आदि मौजूद थे.

मधेपुरा में महिलाओं ने किया सड़क जाम: कंपनी के नाम पर भारी रकम ठगने का आरोप

मधेपुरा में आज करीब दर्जन भर महिलाओं ने सदर थाना के सामने सड़क जाम कर हंगामा किया. महिलायें एक कंपनी के नाम पर कुछ युवकों द्वारा उनसे लाखों रूपये ठग लिए जाने का आरोप लगाकर विरोध कर रही थी.
    मधेपुरा के पुरानी बाजार के आसपास की कई महिलाओं का आरोप था कि कुछ लड़कों ने साड़ी बेचने के नाम पर उनसे यह कहकर पांच-पांच हजार रूपये ठग लिए कि इसे उसकी कंपनी कुछ ही दिनों में ही दो गुना कर देगी. पर कई महीने के बाद भी जब उनके पैसे नहीं लौटे और इधर दो दिन पहले जब उनमें से तीन लड़के मोहल्ले में पकड़े गए तो वो अपनी मोटरसायकिल छोड़ कर भाग गए. बाद में उनके द्वारा स्थानीय लोगों पर मोटरसायकिल छीनने का आरोप मढ़ दिया गया, जो सरासर झूठा है.
    विवाद बढ़ने और मामला पुलिस में जाने पर उधर आज कंपनी (ARL Retail Pvt. Ltd.) की तरफ से एक अधिकारी थाना पहुंचा और अपनी कंपनी के टर्म्स और कंडीशन के अनुसार खुद को सही कहा. उनका कहना था कि उनकी कंपनी ‘लेग सिस्टम’ पर आधारित है और रजिस्टर्ड मेंबर जब अन्य लोगों को इससे सदस्य के रूप में जोड़ेंगे तब ही उन्हें अधिक रूपये मिलेंगे और पंद्रह दिन ने अन्दर सदस्य नहीं बढ़ाने पर उनके पैसे वापस करने का भी कोई प्रावधान नहीं है. सबों को सभी शर्ते पहले समझा दिए गए हैं और उन्हें इस व्यवसाय की अनुमति प्राप्त है.
    पुलिस मामले की जांच कर रही है. पर पुलिस के हस्तक्षेप के बाद कई महिलओं को जहाँ उनके पैसे लौटा दिए गए वहीँ कई महिलायें कंपनी के समर्थन में भी दिखी. हालाँकि इस दौरान सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक स्थानीय पत्रकार और एक दलाल के द्वारा महिलाओं को भड़काने और कंपनी के सदस्यों से मामले को सुलझाने के एवज में डेढ़ लाख रूपये मांगे जाने की बात सामने आई है.

मधेपुरा: चौसा बीडीओ ने लगाया सदर इन्स्पेक्टर पर दुर्व्यवहार का आरोप, इन्स्पेक्टर ने कहा गलत हैं आरोप

मधेपुरा जिले के चौसा में कल हुए पंचायत चुनाव के दौरान हुई एक घटना ने विवाद का रूप धारण कर लिया है. चौसा बीडीओ मिथिलेश बिहारी वर्मा ने मधेपुरा के सदर इन्स्पेक्टर मनीष कुमार पर अपने साथ दुर्व्यवहार और गाली-गलौज का आरोप लगाया है.
    मधेपुरा के जिला पदाधिकारी के नाम लिखे आवेदन में चौसा के प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश बिहारी वर्मा ने मधेपुरा के सदर इन्स्पेक्टर मनीष कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव के दिन मनीष कुमार उनके वेश्म में आये और ईंघन की मांग की. प्रधान लिपिक के मौके पर नहीं रहने पर के कारण जब बीडीओ ने उन्हें ड्यूटी करने के बाद तेल के लिए आने की बात कही तो सदर इन्स्पेक्टर भड़क गए और गाली देते हुए चिल्लाने लगे. आवेदन में बीडीओ ने कहा कि उसके बाद वे भी चिल्लाये, पर गाली नहीं दी. प्रधान लिपिक के आने के बाद इन्स्पेक्टर ने उन्हें भी गाली दी. बाद में उन्हें बीस लीटर तेल दिया भी गया. बीडीओ ने जिला पदाधिकारी से न्यायपूर्ण कार्यवाही की मांग की है.
    जबकि आरोप के बावत मधेपुरा के सदर इन्स्पेक्टर मनीष कुमार ने मधेपुरा टाइम्स को बताया कि घटना के समय ईंधन की मांग करने पर बीडीओ ने ना-नुकुर किया तो मैंने उन्हें सिर्फ इतना कहा कि चुनाव ड्यूटी के लिए सरकार ईंधन देती है और ईंधन के लिए चुनाव जैसे महत्वपूर्ण दिन को बार-बार आना संभव नहीं है. इसपर बीडीओ भड़क गए. मौके पर बहस हुई थी पर किसी भी पक्ष से गाली-गलौज या अभद्र भाषा का इस्तेमाल नहीं हुआ है. आवेदन में गलत आरोप लगाये गए हैं. इसकी पुष्टि वहां ड्यूटी पर मौजूद पुलिस तथा अन्य पदाधिकारियों से भी की जा सकती है. 
    जो भी हो चुनाव जैसे महत्वपूर्ण कार्य में कर्त्तव्य निर्वहन के दौरान इस तरह का विवाद ठीक नहीं है और जहाँ तक चौसा बीडीओ के द्वारा लिखे गए आवेदन की बात है तो उसकी भाषा शैली कुछ इस तरह की है कि जिसे हम अपने सभ्य पाठक के सामने प्रस्तुत भी नहीं कर सकते हैं.
(कार्यालय संवाददाता)

गुरुवार, 26 मई 2016

'बिहार में छ: महीने में 2 लाख डकैती, मर्डर किडनैपिंग और बलात्कार हुए हैं': पप्पू यादव

बिहार में पिछले छ: महीने में 2 लाख के लगभग डकैती, मर्डर किडनैपिंग और बलात्कार हुए हैं. इसी माह जन अधिकार पार्टी नीतीश कुमार और गठबंधन के पिछले छ: महीने का रिपोर्ट जनता के सामने लाएगा.
          उक्त बातें मधेपुरा के सांसद सह जनाधिकार पार्टी के संरक्षक राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव ने आज मधेपुरा के जिला अतिथिगृह में कही. उन्होंने बिहार में नीतीश और लालू की सरकार पर जनता को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए पूछा कि कब तक दोनों भाई नूराकुश्ती का खेल खेलकर बिहार की जनता को बर्बाद कीजिएगा.  आपके बड़े भाई लालू यादव लगातार रघुवंश बाबू को कहकर गालीगलौज करवाते हैं तो उन्हें आप कुछ नहीं कहते और जब तस्लीमुद्दीन कुछ बोलते हैं तो आप उन्हें नोटिश थमा देते हैं. शिवदीप लांडे, विकास वैभव, कुंदन कृष्णन और नालंदा के एसपी को आप लालू के कहने के कारण हटा देते हैं.
        सांसद श्री यादव ने सरकार से पूछा कि कब तक पदाधिकारी और जनता को पिसियेगा. कब तक अपराधी, माफिया, पदाधिकारी और नेता के गठजोड़ से इस बिहार को चलाइयेगा. उन्होंने कहा कि इसी माह जन अधिकार पार्टी नीतीश कुमार और गठबंधन के पिछले छ: महीने का विवरण जनता के सामने लाएगा.

चौसा में 78% मतदान:वोट के दौरान दिखा आधी आबादी का जोश

पंचायत चुनाव के नौवे चरण में चौसा प्रखंड के 13 पंचायतों में मतदान हुआ. इस दौरान आधी आबादी में खासा उत्साह दिखा. मतदान में ग्रामीण इलाकों में पुरुषों की अपेक्षा आधी आबादी ने बढ़-चढ़ कर अपनी भागीदारी निभायी.
      लगभग सभी मतदान केंद्रों पर महिलाओं की लंबी  कतारें देखी गयी. गांव की सरकार बनाने के लिए सुबह से ही काफी संख्या में महिलाएं बूथों पर जमा होने लगी थी. कड़ी धूप की परवाह किये बगैर महिलाएं बूथ पर डटी रहीं. कड़ी धूप  होने के बावजूद भी बूथों पर दोपहर में भी कई जगह महिला मतदाताओं की लंबी कतार देखी गयी. वोटर मतदान करने के लिए उत्साहित नजर आये.कई
    मतदान केंद्र पर मतदान शुरू होने के काफी पहले से ही मतदाताओं की लंबी कतार लग गयी थी.
    चिरौरी पंचायत के मतदान केन्द्र संख्या 49, 50 म.वि. चिरौरी, चौसा पश्चिमी पंचायत के मतदान केन्द्र संख्या 115, 116 जनता उच्च विद्यालय चौसा, घोषई पंचायत के मतदान केन्द्र संख्या 40 तेतरी टोला विद्यालय में भी सुबह से ही महिलाओं की काफी भीड़ देखी गयी. यहां महिला मतदाताओं को कतारबद्ध करने के लिए पुलिस को काफी  मशक्कत करनी पड़ी. मतदान केन्द्र संख्या उर्दू म. वि. पैना, मतदान केन्द्र संख्या 27, 28 पंचायत भवन पैना, मतदान केन्द्र संख्या 55, 56, 57 उ. म. वि. तियर टोला, मतदान केन्द्र संख्या 54 न. प्रा. वि. पासवान टोला फुलौत, मतदान केन्द्र संख्या 118, 119 म. वि. चौसा में मुस्लिम महिला काफी उत्साहित थी. मतदान केंद्र संख्या 120,121 कन्या म0 वि0 चौसा,124,125 उ. म. वि. सहौरा टोला में काफी संख्या में महिला मतदाता घंटों कतार बद्ध होकर अपनी बारी का इंतजार करती नजर आयी.
    चौसा में 78 प्रतिशत मतदान के साथ मतदान छिटपुट घटना को छोड़ शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ.

करेंट से मरे युवक के परिजन को सांसद ने दी आर्थिक सहायता

मधेपुरा सदर प्रखंड के धुरगांव पंचायत अंतर्गत वार्ड संख्या 13 के 24 वर्षीय मोहन दास नामक मजदूर की बिजली के करेंट से ट्रक पर मकई लोड करने के दौरान पिछले 18 मई को पड़वा नवटोल चौक पर मौत हो गयी थी.
   मौत के बाद आज गुरूवार को धुरगांव पंहुचे सांसद पप्पू यादव ने मृतक परिजनों से मिलकर पीड़ित परिजनों को सांत्वना देते हुए नगद 25 हजार रुपये भेंट किये और मृतक की बच्ची के नाम 25-25 हजार रूपये का F.D. करवाने का भरोसा भी परिजनों को दिलाया. सांसद ने कहा कि इस दुःख की घड़ी में मैं क्या कुछ कर सकता हूँ, भगवान उनके आत्मा को शान्ति प्रदान करे, यही हमारी ईश्वर से कामना है.
     इस दौरान पंचायत के दर्जनों प्रतिनिधि सहित जिला परिषद प्रत्याषी अधिवक्ता रघुनन्दन दास, जाप पार्टी के सचिव प्रशांत कुमार, शिवमणि सिंह, रूपक सिंह, देबू दास, पंकज कुमार, मिथलेश कुमार, प्रो युगलकिशोर यादव, शैलेन्द्र कुमार, देवाशीष कुमार, इंजिनियर अमित कुमार, मशूद आलम, पप्पू कुमार. मुखिया सीताराम यादव, पड़रिया के पूर्व मुखिया राजकिशोर यादव समेत दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे.   

कहीं मतपेटी की हेराफेरी न हो जाए... ???

मधेपुरा जिले के बिहारीगंज स्थित हंसी मंडल महाविद्यालय कुस्थन में मतगणना केन्द्र ब्रजगृह में बक्से की हेराफेरी की आशंका को ध्यान में रखकर प्रखंड के कई प्रत्याशियों ने निर्वाचन आयोग भारत सरकार नई दिल्ली, राज्य निर्वाचन आयोग पटना, मुख्यमंत्री बिहार पटना, जिला पदाधिकारी मधेपुरा समेत तमाम वरीय पदाधिकारी को फैक्स व ईमेल कर जानकारी दी है.
      पिंकी देवी मुखिया प्रत्याशी मधुकरचक, रेखा देवी पंचायत समिति प्रत्याशी गमैल, नीलम देवी गमैल समेत अन्य कई प्रत्याशियों ने उदाकिशुनगंज थाना कांड संख्या 44/2006 का हवाला देकर लिखा है कि वर्ष 2006 में पूरे प्रखंड का ब्रजगृह उदाकिशुनगंज जेल बनाया था. उक्त जेल में मतपेटी की हेराफेरी कर किसी खास प्रत्याशी को जिताने के पक्ष में मतपेटी को तोड़ा गया था. जिसको लेकर बड़ा उपद्रव मचा था. बड़े पैमाने पर सरकारी संपति को नुकसान भी पहुंचा था. उसी को ध्यान में रखकर ब्रजगृह की सुरक्षा में अतिरिक्त अर्धसैनिक बल की टुकड़ी को लगाने समेत पूरी सुरक्षा की मांग की है, ताकि किसी भी प्रकार की गड़बड़ी किसी के द्वारा नहीं किया जा सके.
    गौरतलब हो कि उक्त मामले में बिहारीगंज से भी कई लोगों को नामजद किया गया था. उसी आशंका को देखते हुए प्रत्याशियों ने मतगणना व उसकी पूर्ण सुरक्षा किए जाने की मांग की है, ताकि किसी भी प्रकार की साजिश को नकारा जा सके.

चौसा प्रखंड में छिटपुट घटना को छोड़ चुनाव शांतिपूर्ण: दो बूथों पर मारपीट में पुलिस समेत दर्जन भर घायल

मधेपुरा जिले के चौसा में आज नौवें चरण के तहत पंचायत चुनाव के लिए मतदान कराये जा रहे हैं. कुल 316 पदों के लिए 176 मतदान केन्द्रों पर आज सुबह सेमतदाताओं की लम्बी लाइन लग गई थी.

      शाम साढ़े पांच बजे तक मिली जानकारी के अनुसार चौसा प्रखंड में अभी तक छिटपुट घटना को छोड़ कर मतदान शांतिपूर्ण कहा जा सकता है. मतदान में महिलाओं के अलावे विकलांगों तथा बूढ़ों ने भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया.

      मिली जानकारी के अनुसार दो अलग अलग बूथों पर आपस में तथा पुलिस-पब्लिक में हुई भिडंत में पुलिस समेत दर्जन भर लोगों के घायल होने की सूचना है.
        बताया गया कि नवयुवक पुस्तकालय लौआलगान केन्द्र संख्या 94, 95, 96 पर पुलिस बल के साथ मारपीट में चौसा थाना के फागू राम घायल हो गए. वहीं बकर टोला में बूथ नं. 132 पर दो गुटों में मारपीट में 7 लोगों के घायल होने की सूचना है. विवाद के कारण काफी देर तक मतदान बाधित रहा.

     परन्तु चौसा में मधेपुरा के जिलाधिकारी मो० सोहैल तथा पुलिस अधीक्षक विकास के  मुस्तैद रहने के कारण स्थिति को फ़ौरन काबू में कर बाधित मतदान शुरू करवाने में प्रशासन सफल रही.

        कई बूथों पर पहले से कतार में खड़े लोगों के कारण वहां अभी तक मतदान जारी था. समाचार प्रेषण तक 65% के आसपास मतदान होने की अपुष्ट खबर मिल रही थी.

बुधवार, 25 मई 2016

गम्हरिया से गायब लड़के का अबतक सुराग नहीं

मधेपुरा जिले के गम्हरिया थानाक्षेत्र के फुलकाहा वार्ड नं.3 से करीब पंद्रह दिन पहले गायब हुए 14 वर्षीय छोटू का अबतक पता नहीं चल पाया है.
    थानाक्षेत्र के फुलकाहा निवासी महेश्वरी यादव ने गत 8 मई को ही गम्हरिया थाना में आवेदन देते हुए कहा था कि उनका 14 वर्षीय लड़का छोटू कुमार गाँव से गायब है. लड़के को सम्बन्धी तथा हर जगह खोजने की तमाम कोशिशें नाकाम हुई है. घर में मातम का माहौल है और गायब बालक के पिता ने जानकारी दी कि उनका बेटा गाँव के ही प्प्राथमिक मध्य विद्यालय में आठवीं कक्षा में पढ़ रहा था.
    पिता को शक है कि उनके बेटे को किसी ने गायब कर दिया है. उधर बालक को ढूँढने में गम्हरिया पुलिस अभी तक नाकाम साबित हुई है.

नियमित नियुक्ति में संविदाकर्मी को अनुभव का लाभ नहीं देने पर कृषि समन्वयक का धरना

संविदा पर कार्यरत कृषि समन्वयकों को नियमित नियुक्ति में उनके अनुभव इक लाभ नहीं दिए जाने पर कृषि समन्यकों में सरकार के प्रति असंतोष है.
    आज मधेपुरा में जिला कृषि कार्यालय के समक्ष संविदा पर काम कर रहे दर्जनों कृषि समन्वयकों ने एक दिवसीय धरना दिया और अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार की घोषणा की. जिला कृषि समन्वयक संघ के अध्यक्ष सुनील कुमार सुमन ने धरना का नेतृत्व करते हुए कहा कि कृषि समन्वयक की नियमित नियुक्ति सेवा शर्त एवं भर्ती नियमावली 2014 के अनुरूप कृषि विभाग में कार्य करने का के अनुभव के अंक को को नियमित नियुक्ति में अधिमानता रहने के बावजूद कर्मचारी चयन आयोग द्वारा कृषि समन्वयक की नियमित नियुक्ति में नहीं देना दुर्भाग्यपूर्ण है.
    धरना पर बैठे कृषि समन्वयकों ने कहा कि यदि कृषि समन्वयकों की नियमित नियुक्ति सेवा शर्त एवं भर्ती नियमावली 2014 के अनुरूप नहीं की जाती है और हमारी मांगें नहीं मानी जाती है तो हम आगामी 27 मई को राज्य स्तरीय धरना एवं प्रदर्शन में भाग लेंगे.

पटना में कुलपति के गार्ड के द्वारा छात्रों पर जानलेवा हमले के खिलाफ मधेपुरा में पुतला दहन

पटना विश्वविद्यालय में आर्ट्स कॉलेज के 11 निर्दोष छात्रों के बेवजह निलंबन के खिलाफ आन्दोलन कर रहे जन अधिकार छात्र परिषद् एवं अन्य छात्र नेताओं पर कुलपति वाई. सी. सिम्हाद्री के गार्ड एवं निजी गुंडों द्वारा फायरिंग के खिलाफ आज मधेपुरा में भी प्रदर्शन हुआ.
     जन अधिकार छात्र परिषद् की प्रदेश इकाई के आह्वान पर मधेपुरा जन अधिकार छात्र परिषद् के छात्रों ने आज कुलपति वाई. सी. सिम्हाद्री का पुतला फूंका. कार्यक्रम का नेतृत्व करते हुए संगठन के विश्वविद्यालय अध्यक्ष आशीष कुमार पप्पू ने कहा कि यह घटना छात्रों के लिए काला दिन है और इसकी जितनी भी निंदा की जाय, कम है. प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीकांत राय ने कहा कि छात्रों पर जानलेवा हमला करवाने वाले वीसी पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज होना चाहिए.
    मौके पर उपाध्यक्ष अजित कुमार गुड्डू, रौशन कुमार बिट्टू, मो० रफीक, मुकेश कुमार, नवीन कुमार, सुभाष कुमार, अनिल कुमार समेत अन्य दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे.
(नि.सं.)

मधेपुरा में अंतिम चुनाव 30 मई को: 2 जून से खुलेगा प्रत्याशियों के भाग्य का पिटारा

मधेपुरा जिले का चुनाव अंतिम चरण में है. 30 मई को ग्वालपाडा में मतदान के बाद मतों की गिनती का दौर 2 जून से शुरू होगा. मतों की गिनती सभी  प्रखंडों में बनाए गये बज्रगृह में होंगे. सभी प्रखंडों में मतों की गिनती के लिए वरीय पदाधिकारियों की नियुक्ति की गई है.
      कुमारखंड में मनोज कुमार पवन कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद, जहां 295 बूथों के लिए 37 टेबुल,  मुरलीगंज में राम कुमार सिंह महाप्रबंधक जिला  उधोग केंद्र, जहां 223 बूथों के लिए 28 टेबुल,  उदाकिशुनगंज में राजेश रौशन जिला आपूर्ति पदाधिकारी, जहां 220 बूथों के लिए 28 टेबुल,  आलमनगर में संजय कुमार कार्यपालक अभियंता, जहाँ 202 बूथों के लिए 25 टेबुल, मधेपुरा में मुकेश कुमार वरीय उप समाहर्ता ,जहां 236 बूथों के लिए 30 टेबुल,  शंकरपुर में अरूण कुमार झा लोक शिकायत निवारण पदा०, जहां 127 बूथों के लिए 32 टेबुल,गम्हरिया में राजेश कुमार कार्यपालक अभियंता, जहां 101 बूथों के लिए 25 टेबुल,  सिंहेश्वर में राखी कुमारी डीपीओ, जहां 162 बूथों के लिए 20 टेबुल,  घैलाढ में कृष्ण मोहन प्रसाद वरीय उप समाहर्ता, जहाँ 116 बूथों के लिए 29 टेबुल,  बिहारीगंज में विजय कुमार कार्यपालक अभियंता, जहां 165 बूथों के लिए 28,  पुरैनी विनय कुमार सिंह भूमि सुधार उप समाहर्ता उदाकिशुनगंज,  जहां 119 बूथों के लिए 30 टेबुल,  चौसा में सुबोध कुमार श्रम अधीक्षक, जहां 176 बूथों के लिए 30 टेबुल,  ग्वालपाडा में रविशंकर शर्मा भुमि सुधार उप समाहर्ता मधेपुरा जहां 147 बूथों के लिए 25 टेबुल लगाया जायेगा.
     निष्पक्ष और निर्बाध मतगणना के लिए मतगणना  कार्य सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. खुली हुई मतपेटी की गिनती को पूरा कर ही मतगणना कार्य बंद किया जा सकता है. सम्पूर्ण मतगणना कार्य का वीडिओ रिकॉर्डिंग किया जायेगा. जिला परिषद, पंचायत समिति सदस्य,  मुखिया,  ग्राम पंचायत सदस्य,  ग्राम कचहरी के  सरपंच एवं पंच  यानि 6 पदों के लिए मतगणना के लिए एक गणना दल होगा. पूरे प्रखंड कार्यालय या मतगणना स्थल पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे जो उपद्रवियों पर नजर रखेगी. मतगणना कार्य में लगे कर्मियों पर भी कडी निगाह रखी जायेगी. सुरक्षा के मद्देनजर अभ्यर्थी, निर्वाचन अभिकर्ता और मतगणना अभिकर्ता को कड़ी जांच के बाद ही बज्रगृह में प्रवेश करने दिया जाएगा. मतगणना के दौरान उपद्रव करने वालो को छोडा नही जायेगा.
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...