17 अप्रैल 2018

डीएम ने लिया तत्काल संज्ञान: आंगनबाड़ी केन्द्रों की जांच के लिए 150 अधिकारी तैनात

अपनी ख़बरों से लगातार असर पैदा कर रहे मधेपुरा टाइम्स की खबर का एक बार फिर तुरंत असर हुआ और आंगनबाड़ी मामले में मधेपुरा के डीएम मो० सोहैल ने तत्काल संज्ञान लिया है.


पूरे जिले में 150 अधिकारियों की टीम बहाल कर दी गई है और अब आंगनबाड़ी केन्द्र की स्थिति को लेकर जिले भर में लगातार औचक निरीक्षण और छापेमारी अभियान चलेगा. डीएम ने इस मामले में अधिकारियों को शख्त निर्देश दिए हैं. वहीं मुरलीगंज प्रखंड के पकिलपार वार्ड संख्या-03 स्थित केन्द्र संख्या 125 के सेविका मनिकला कुमारी और स्थानीय एलएस के विरुद्ध जिला प्रोग्राम पदाधिकारी को डीएम ने दिया सख्त आदेश देते हुए कहा कि इन दोनों से स्पष्टीकरण मांग कर तीन दिनों के अन्दर उनके पास फ़ाइल समर्पित करें.

ज्ञात हो कि मधेपुरा टाइम्स पर लगातार दो दिनों से प्रकाशित खबर, मधेपुरा में आंगनबाड़ी सेविका बहाली में चल रहा है अवैध वसूली का खेल ! तथा आंगनबाड़ी केन्द्र को लेकर मचा बबाल, सेविका बहाली के नाम पर मची है लूट  पर तत्काल प्रभाव से डीएम मो० सोहैल ने संज्ञान लिया और जिले भर में 150 से अधिक अधिकारियों की टीम तैनात कर दी है. अब फर्जी तरीकों से आंगनबाड़ी सेविका बहाली पर विराम लगने की पूरी सम्भावना है क्योंकि खुद डीएम ने इस मामले पर अपनी पैनी नजर बना रखी है.

बता दें कि खासकर मुरलीगंज प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में आंगनबाड़ी केन्द्रों की स्थिति है बद से बदतर है. ज्यादातर केन्द्रों पर बच्चे नदारद रहते हैं तो केन्द्र में लगा रहता है ताला. ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि मधेपुरा टाइम्स को पुख्ता जानकारी देते हुए मुरलीगंज प्रखंड के उप-प्रमुख श्री मति रेणु देवी एवं प्रखंड प्रमुख मनोज कुमार साह ने बताया कि प्रखंड प्रमुख होने के नाते हम अपने टीम के साथ अलग-अलग पंचायतों में औचक निरीक्षण करते हैं जहाँ ज्यादातर केन्द्रों की स्थिति बदहाल ही देखने को मिली है. इतना हीं नहीं इस प्रखंड अंतर्गत हाल के दिनों में आंगनबाड़ी सेविका बहाली मामले को लेकर कई स्थानीय सेविकाओं के पति और पोषक क्षेत्रीय एलएस बिचौलियों के माध्यम से मोटी रकम की उगाही कर रहे हैं जिससे प्रखंड क्षेत्र की जनता में खासा आक्रोश व्याप्त है. 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...