19 दिसंबर 2017

BNMU: राजभवन के निर्देशों के अनुसार हो रहे विकास कार्यों का कुलपति ने दिया ब्यौरा

बी.एन. मंडल विश्वविद्यालय राजभवन के निर्देशों का पालन करने हेतु प्रतिबद्ध है। इस अनुरूप कार्य शुरू हो चुका है। यह बात कुलपति प्रोफेसर डॉ. अवध किशोर राय ने कही। वे मंगलवार को अपने कक्ष में संवाददाताओं से बात कर रहे थे।

कुलपति ने बताया कि सोमवार को महामहिम कुलाधिपति के साथ सभी विद्यार्थियों की 16 मुद्दों पर चर्चा हुई है। इसमें बजट, साफ-सफाई, छात्र संघ चुनाव सहित कई बातें शामिल हैं। अब राजभवन में प्रत्येक माह के तीसरे बुधवार को कुलपतियों की बैठक होगी।

कुलपति ने बताया कि 2018-19 के बजट के अनुरूप शीघ्र आवंटन मिलने की उम्मीद है। इसमें वेतन के साथ-साथ पेंशन के भी पैसे शामिल हैं। इस पैसे के आने से सेवानिवृत्त कर्मियों को भुगतान में आसानी होगी। गत दिनों पेंशन अदालत के आयोजन से लेकर अब तक दो सौ से अधिक मामलों का निष्पादन किया गया है।

कुलाधिपति ने विभिन्न प्रकार के अदालती मामलों के त्वरित निष्पादन के निर्देश दिये हैं और ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा है, जिससे कर्मी अदालत जाने को मजबूर नहीं हो। बीएनएमयू में गत 6 माह में इस दिशा में काफी सराहनीय कार्य हुआ है। इस दौरान कुल 500 केस में से अधिकांश का समाधान हो चुका है। सीडब्ल्यूजीसी के 212 में से 67 मामलों का निष्पादन हुआ है।

कुलाधिपति ने शिकायत निवारण कोषांग को सक्रिय बनाने के निर्देश दिये हैं। विश्वविद्यालय में यह कोषांग सक्रिय है। सभी अंगीभूत काॅलेजों में भी इस कोषांग का गठन किया जाएगा। विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय, दोनों स्तर पर प्रति माह इस कोषांग की बैठक सुनिश्चित की जाएगी। 

कुलपति ने बताया कि बीएनएमयू के सभी पाठ्यक्रमों को राजभवन से मान्यता प्राप्त है। यहाँ बिना मान्यता प्राप्त एक भी कोर्स संचालित नहीं हैं। आगे राजभवन की अनुमति लेकर यहाँ एमबीए, एमसीए एवं एमएड कोर्स की शुरुआत की जाएगी। वोकेशनल कोर्सों के लिए एक अलग कोषांग बनेगा और उसके एक प्रभारी भी नियुक्त किए जाएंगे। 

राजभवन ने सभी विश्वविद्यालयों में सत्र नियमित करने के आदेश दिए हैं। 2017-18 का एकेडमिक कैलेण्डर एवं परीक्षा कैलेण्डर बन चुका है। जल्द ही 2018-19 का एकेडमिक कैलेण्डर एवं परीक्षा कैलेण्डर भी तैयार किया जाएगा। इसके अनुरूप बीएनएमयू अनुरूप बीएनएमयू में दिसंबर 2018 तक सभी परीक्षाएंगे अपटूडेट हो जाएगी। 2018 तक सत्र नियमित हो जाएगा।

 पिछले दिनों राजभवन से सभी विश्वविद्यालयों को छात्र संघ चुनाव का ड्राफ्ट प्राप्त हुआ था। कुछ विश्वविद्यालयों ने इसमें कुछ सुझाव भेजे हैं। अब राजभवन से फाइनल नियमावली आने का इंतजार है। उसी के अनुरूप छात्र संघ चुनाव कराए जाएंगे। 

राजभवन का निर्देश है कि छात्र संघ के मद में विद्यार्थियों से जो राशि ली जाती है, उसका 75 प्रतिशत संघ के खाते में दिया जाएगा। इससे संघ सकारात्मक गतिविधियाँ यथा-सेमिनार, कान्फ्रेंस, व्याख्यान, वर्कशाॅप आदि आयोजित करेगा। 

कुलाधिपति ने सभी मद में प्राप्त राशि का ससमय उपयोगिता प्रणाम-पत्र जमा करने के निर्देश दिये हैं। बीएनएमयू से प्रायः सभी मद में अगस्त तक का यूटिलाइजेशन जा चुका है। जो भी कमी है, उसे शीघ्र दूर किया जाएगा। 

सभी विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में मुख्यमंत्री के सात निश्चय के तहत फ्री वाई फाई की व्यवस्था दुरूस्त की जाएगी। शिक्षक, कर्मचारी एवं विद्यार्थी इसका अधिकाधिक उपयोग करें। इसके लिए विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। साथ ही होल्डिंग के माध्यम से इसे प्रचारित किया जाएगा। इस मामले को लेकर बुधवार को विश्वविद्यालय में सभी अंगिभूत महाविद्यालयों के प्रधानाचार्यों की बैठक बुलाई गयी है।

राजभवन ने मार्च तक विश्वविद्यालय के सभी कार्यों एवं स्नातकोत्तर विभागों में मार्च एवं सभी महाविद्यालयों में जून 2018 तक बायोमेट्रिक एटेन्डेस सिस्टम लागू करने के निर्देश दिये हैं। बीएनएमयू भी इसे ससमय लागू करने हेतु प्रयासरत है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...