21 नवंबर 2017

‘शस्त्र से नहीं, शास्त्र से जाना जाता है ब्राह्मण’: मंत्री

सुपौल। समग्र ब्राह्मण महासभा के तत्वावधान में विद्यापति पर्व समारोह का भव्य आयोजन किया गया। मुख्यालय स्थित मिलन मैरेज पैलेस में आयोजित समारोह का उदघाटन सूबे के पीएईडी मंत्री विनोद नारायण झा ने किया।


समारोह को संबोधित करते मंत्री ने कहा कि ब्राह्मण शस्त्र से नहीं शास्त्र से जाना जाता है। इस संस्कार को हम भूल रहे हैं, जिन्हें बचाना होगा। कहा कि 1934 में आये प्रलयकारी भूकंप से मिथिलांचल दो भागों में विभक्त हो चुका था। जिन्हे जोड़ने का काम अटल जी की सरकार ने किया। जब से कोसी नदी पर महासेतु बना मिथिला अपने पुराने मानचित्र में दिखने लगा।

कहा कि मिथिलांचल की परंपरा विश्व विख्यात है। जहां के लोग शास्त्र से सिद्धि में विश्वास करते हैं। परिणाम है कि मोदी सरकार के नारे में भी संकल्प से सिद्धि तक को जोड़ा गया है। सिद्धि शब्द मिथिला से ही लिया गया है।

मंत्री ने कहा कि बाल विवाह और दहेज उन्मूलन के जो आज कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं। इसको लेकर हमारे पूर्वज महान कवि विद्यापति ने सैकड़ों साल पहले अपने कविता में किया है। महासभा के जिलाध्यक्ष गोविंद झा की अध्यक्षता में आयोजित सभा को कई विद्वानों ने संबोधित किया।  

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...