28 सितंबर 2017

दंगाइयों और पत्थरबाजों से निपटने के लिये अब मधेपुरा पुलिस कॊ मिला पैलेट गन

पत्थरबाजों और दंगाइयों से निपटने के लिये मधेपुरा पुलिस को भी दो पैलेट गन तत्काल उपलब्ध कराया गया है । सभी थाने के दो दो पदाधिकारियों को इस गन के परिचालन का प्रशिक्षण दिया गया है । 


इस गन की  खरीदारी ताइवान से की गयी है। यह ख़बर उनके लिये खास है जो अब तक बात बेबात कहीँ भी पत्थर फेंक कर दंगा करते थे । अब ऐसे तत्वों कॊ मधेपुरा पुलिस भी पैलेट गन से प्लास्टिक की गोली से चटका देंगे । लोग यह सोचना छोड़ दें कि पुलिस के पास बस आँसू गेस के ही गोले हैं ।

 सार्जेंट महेश नारायण ने प्रशिक्षण के दौरान की तस्वीर जारी करते हुए बताया कि यह गन राज्य सरकार ने उपलब्ध कराया है, जिसे ताइवान से खरीदा गया है। इसी माह 22 से 26 सितंबर तक जिले के सभी थानों के दो दो पदाधिकारियों और वरीय अधिकारियों के बॉडीगार्ड को पुलिस लाइन सिंहेश्वर में पैलेट गन चलाने का प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने बताया कि हालांकि दो माह पूर्व जिले के दो पुलिस अधिकारी और दो कांस्टेबल को प्रशिक्षण दिलाया गया था, लेकिन पुलिसकर्मियों के लगातार होने वाले तबादले को देखते हुए स्थानीय स्तर पर भी प्रशिक्षण दिलाया गया, ताकि विषम परिस्थिति में इसका इस्तेमाल किया जा सके। 

सार्जेंट श्री नारायण ने बताया कि वैसे तो पंजाब में भी पैलेट गन बनाया जाता है, लेकिन यह अभी लेटेस्ट टेक्निलॉजी से लैश है। इसका  इस्तेमाल विषम परिस्थिति में भीड़ को तीतर बितर करने के लिए कमर और पीठ पर करना है। उन्होने बताया कि गन की गोली ठोस प्लास्टिक की होती है, जिसके लगाने से बहुत जोर की चोट लगती है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...