30 अगस्त 2017

डीएम ने लिया आलमनगर बाढ़ पीड़ितों का हालचाल, दर्द कम करने की कोशिश

मधेपुरा जिला के आलमनगर प्रखंड के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का जायजा जिला पदाधिकारी मधेपुरा, मो० सोहैल ने लिया और सभी समस्याओं पर बातें की और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए.


इस दौरान वे गंगापुर पंचायत के सोनामुखी बाजार पहुंच कर बाढ़ पीड़ितों का हाल-चाल जाना एवं उनकी समस्याओं से अवगत होते हुए बाढ़ पीड़ितों के शिकायत पर उपस्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आलमनगर के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ० बी०के वर्मा को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि पीड़ितों के साथ लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी. सोनामुखी बाजार स्थित बाढ़ पीड़ितों के लिए बनाई गई अस्थायी स्वास्थ्य शिविर में पद स्थापित डाक्टरों के गायब रहने की शिकायत बार-बार मिलता है, अगर ऐसा ही चलता रहेगा तो वेसे डॉक्टरों को निलंबित करने में हम कोई देरी नहीं करेंगे. वहीं दो से तीन दिनों में वैसे क्षेत्र जहां से पानी निकल गया है वेसे क्षेत्रों में तुरंत ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव करने का निर्देश दिया गया है.

उपस्थित बाढ़ पीड़ितों द्वारा बाढ़ के पानी में डूबे चापाकल को अबतक ऊंचा नहीं करने व चापाकल की सफाई नहीं करने की शिकायत पर डीएम ने पीएचडी विभाग के अधिकारी को डांटते हुए अविलंब दो दिनों के अंदर क्षेत्र के सभी चापाकल चाहे वह सरकारी हो या गैर-सरकारी सभी चापाकल को ऊंचा करने के साथ-साथ सफई करने का निर्देश दिया. वहीं उपस्थित बाढ़ पीड़ितों को संबोधित करते हुए कहा कि बाढ़ सहायता राशि दो दिनों के अंदर खाते पर चला जायेगा इसके लिए बड़े स्तर पर कार्य किया जा रहा है, जिन लोगों का खाता नहीं है उनका खाता शिविर लगावाकर खोलाकर राशि दी जायेगी. वहीं जिन बाढ़ पीड़ितों को राशन कार्ड नहीं है उनकी जांच कर राशि दी जायेगी.

डीएम ने कहा कि फसल क्षति मुआवजा का आवेदन लिया जा रहा है जिन किसानों की जमीन की रसीद अद्यतन नहीं है तो अगर उनके पास वर्ष 2015-16, 2016-17 का भी लगान रसीद है तो वे आवेदन कर सकते हैं. उन्हे फसल क्षति का मुआवजा दिया जायेगा. फसल क्षति का मुआवजा खेतों से पानी निकलने के बाद खेत का आकलन कर अगर 33 प्रतिशत से अधिक क्षति होगी तो खेतों का किसान के साथ फोटोग्राफी कर जांचोपरान्त राशि दी जायेगी. वहीं डीएम ने एसडीओ को सभी विद्यालय में मध्याह्न भोजन शुरू करने सहित सभी आँगनबाड़ी केन्द्रों को यथाशीघ्र शुरू करने का निर्देश देते हुए कहा कि इससे इन पोषक क्षेत्र के बच्चों को भोजन की समस्या दूर होगी. वहीं बाढ़ से घिरे सभी गांव एवं टोले में अविलंब कम्युनिटी किचन चालू कराने का निर्देश दिया. उन्होंने उपस्थित उदाकिशुनगंज एसडीओ को निर्देश दिया कि अगस्त माह का पीडीएस दुकानदारों द्वारा राशन शत प्रतिशत वितरण किया गया है या नहीं इसकी जांच कर रिपोर्ट समर्पित करें.

इस दौरान एसडीओ उदाकिशुनगंज एस जैड हसन, बीडीओ आलमनगर मिन्हाज अहमद, आलमनगर थानाध्यक्ष सुनील कुमार, चिकित्सा प्रभारी डा० बी०के० वर्मा, बीइओ नीलम कुमारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...