27 जुलाई 2017

‘कहीं ख़ुशी कहीं गम’: कहीं बांटीं मिठाइयाँ तो कहीं जलाया पुतला, चाक-चौबंद पुलिस

कल महागठबंधन के टूटने, नीतीश कुमार के इस्तीफ़ा देने और आज भाजपा से साथ गठबंधन से फिर से नीतीश कुमार के बिहार में सरकार बना लेने के बाद बिहार की राजनीति में भूचाल है.
                      
सूबे भर में जहाँ समर्थन और विरोध दोनों की लहर दिखाई दे रही है वहीँ बिहार की राजनीति में अहम स्थान रखने वाले मधेपुरा में भी कहीं मिठाईयां बांटीं गई तो कहीं नीतीश कुमार के पुतले  भी फूंके गए.

जिला मुख्यालय के भूपेन्द्र चौक पर एनडीए गठबंधन द्वारा बिहार में नीतीश कमार तथा सुशील मोदी के नेतृत्व में सरकार बनने पर एनडीए कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को अबीर लगाकर और मिठाइयाँ खिलाकर जश्न मनाया. मौके पर लोक समता पार्टी के जिलाध्यक्ष राजीव जोशी, लोजपा के महासचिव संजय यादव, हम के शौकत अली, भाजपा शिक्षा मंच के जिलाध्यक्ष आभाष आनंद झा, भाजपा महिला जिलाध्यक्ष मीनाक्षी वर्णवाल, भाजपा के नगर अध्यक्ष अंकेश गोप, जिला महामंत्री गणेश गुंजन, क्रीडा मंच के जिलाध्यक्ष अभिषेक साह, विधानसभा विस्तारक बद्री मंडल, ग्रामीण अध्यक्ष बाल किशोर यादव आदि ने कहा कि नीतीश कुमार का राजद से मोहभंग होने से अब उनके नेतृत्व में बिहार विकास के रास्ते पर चल पड़ेगी.

उधर नीतीश कुमार को विश्वासघाती की संज्ञा देते हुए राजद और कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने नीतीश कुमार का पुतला फूंका. संबोधित करते हुए कांग्रेस के जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया और गठबंधन तोड़ दिया है. बिहार की जनता उन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी. पुतला दहन में उनके साथ डॉ. अरूण कुमार, मनीष कुमार सिंह, राजीव यादव, जैनुल आबुद्दीन समेत दर्जनों नेता उपस्थित थे.

मधेपुरा सदर विधायक राजद के प्रो० चंद्रशेखर के नेतृत्व में राजद के कई दर्जन नेताओं ने स्टेडियम से कर्पूरी चौक तक विश्वासघात मार्च निकाल कर पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार का पुतला जलाया. मौके पर विधायक प्रो० चंद्रशेखर ने कहा कि नीतीश कुमार ने लोकतंत्र की हत्या की है. कहा था कि मिटटी में मिल जायेंगे पर भाजपा से समझौता नहीं करेंगे, पर आज साम्प्रदायिक ताकतों की गोद में जाकर बैठ गए हैं. उधर विकास यादव, सोनू यादव, मणिकांत यादव समेत कई दर्जन छात्र राजद के युवकों ने भी मधेपुरा कॉलेज चौक पर पुतला दहन करते कहा कि जनमत गठबंधन को मिला था. इसे तोड़ कर नीतीश कुमार ने बिहार की जनता का अपमान किया है. जनता उन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी.

उधर किसी अनहोनी की आशंका को देखते हुए मधेपुरा के हर चौराहे पर पुलिस बल को तैनात किया गया था. 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...