31 जुलाई 2017

हर हर महादेव: सावन की चौथी सोमवारी में सिंहेश्वर में अनियंत्रित भीड़

मधेपुरा जिले के बाबा भोले की नगरी सिंहेश्वर में सावन के चौथे सोमवार को श्रद्धालुओं की भीड़ का आलम यह था कि मंदिर परिसर में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लगाए गये बैरिकेटिंग बार बार टूट रहे थे ।


मंदिर प्रशासन का एक अमला उसे ठीक करने की असफल जद्दोजहद करता रहा । अहले सुबह ही संभावित भीड़ की स्थिति को देखते हुए गर्भगृह का दरवाजा दो बजे ही खोला गया । भीड़ के कारण सुबह बाबा के श्रृंगार में भी भीड़ के घुस जाने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ा । भीड़ लगातार बढती ही रही भीड़ के कारण दंड प्रणामी देने वालो और डाक बम को भी परेशानी का सामना करना पड़ा । गर्भगृह में भीड़ को नियंत्रित करने वाले लोग का मूल उद्येश्य गर्भगृह में आए श्रद्धालुओं को बाहर निकाल दिया जाय चाहे उसने पूजा किया हो या नहीं । कई लड़कों को तो ऐसा लग रहा था जैसे उन्हें श्रद्धालुओं को पीटने का लाइसेंस मिल गया हो या इसे अपने मनोरंजन का साधन समझ रहे हों । अगर प्रशासन की ओर ध्यान नहीं देती है तो गर्भगृह में कोई बडी घटना घट सकती है । आज मंदिर के कुआं पर भी जल भरने में श्रद्धालुओं को घंटो इंतजार करना पड़ रहा था । सुबह से ही कावरियों के दल पहुँचते ही रहे । जबकि कल महादेवपुर घाट से हजारों की संख्यां में डाक बम का जत्था बाबा सिहेंश्वर नाथ पर जल चढाने के लिए जल उठाया था । सुबह से ही डाक बम के पहुचने का सिलसिला जारी रहा । सिंहेश्वर में भी भक्तों की लंबी लाइन के कारण घंटो लाईन में लग कर लोगों ने भगवान आशुतोष के दर्शन और पूजन किए।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...