11 अप्रैल 2017

'युवा किसी भी देश और अर्थव्यवस्था के मजबूत स्तम्भ होते हैं': सेमिनार का समापन

महाराजा हरि बल्लभ मेमोरियल महाविद्यालय सोनबरसा में आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का समापन हो गया और सेमिनार कई सन्देश भी दे गया.
सेमिनार के तकनीकी सत्र में प्रतिभागियों ने देश के निर्माण में युवाओं के अलग अलग भूमिकाओं पर चर्चा की.
   कॉलेज के प्राचार्य प्रोफ़ेसर अमरेंद्र नारायण सिंह ने युवाओं से कहा कि वह इस सेमिनार में हासिल ज्ञान को अपने समाज और देश में लगाएं. उन्होंने कहा कि युवा किसी भी देश और अर्थव्यवस्था के  मजबूत स्तम्भ होते हैं. भारत युवाओं का देश है और भविष्य मे भी रहेगा. साथ ही उन्होंने सेमिनार के सफल आयोजन के लिए महाविद्यालय के शिक्षक और शिक्षकेतर कर्मचारियों के अलावा विश्व विद्यालय के तमाम पदाधिकारियों शोधार्थियों और अन्य लोगों का आभार व्यक्त किया. तकनीकी सत्र का संचालन भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय स्नाकोत्तर विभाग के शिक्षक डॉक्टर मोहम्मद अबुल फजल ने कहा कि पहली बार आयोजित इस सेमिनार में छात्रों के उपस्थिति और उनके सुझाव से न्याय समाज का निर्माण होगा

तकनीकी सत्र के मुख्य वक्ता समिधा ग्रुप मधेपुरा के सचिव संदीप शाण्डिल्य ने कहा कि आर्थिक और पिछड़े  कोसी क्षेत्र के युवाओं का विकास कौशल विकास से ही संभव है. बिहार सरकार द्वारा चलाए जा रहे कौशल युवा कार्यक्रम बिहार के युवाओं में सामाजिक आर्थिक परिवर्तन लाएगा. सूचना के क्षेत्र में अहम् बदलाव और राष्ट्रीय राजनीतीक गढ़ बनने से कोसी मे युवाओं की स्थिति में परिवर्तन शुरू हुआ है. आर्थिक तंगी से जूझ रहे अर्धशहरी कोसी क्षेत्र में कौशल विकाश एक बहुत बड़े विल्कप के तौर पर सामने आया है . कोसी क्षेत्र में सिमित पूंजी और ज्यादा जरुरत होने के कारण यहाँ के युवा अधिक पैसा और समय खर्च करने के स्थिति में नहीं है, इस परिस्थिति में कौशल विकास कार्यक्रम वरदान स्वरुप है. आर्थिक सामाजिक रूप से सुदृढ़ युवा ही विकसित राष्ट्र का निर्माता बनेगा.

मौके पर रूपा कुमारी ने कहा कि युवा खासकर युवा महिलाएं शैक्षणिक विकास करके देश के विकास में अहम योगदान निभा सकती हैं. मोहम्मद मुजाहिद्दीन इस्लाम ने मार्केटिंग मैनेजमेंट में युवाओं को आगे आने की बात कही . अनुजा भारती ने राष्ट्र के निर्माण में युवाओं की सहभागिता पर कहा की युवा अगर ठान ले तो कुछ भी संभव नहीं है. प्रतिभा कुमारी ने देश के आर्थिक विकास में युवाओं की सहभागिता पर अपना व्याख्यान दिया.
सी.एम. साइंस कॉलेज मधेपुरा के कार्यक्रम पदाधिकारी संजय परमार ने कहा कि सुदूर देहात इलाके में अवस्थित महाराजा हरिवल्लभ मेमोरियल कॉलेज में पहली बार आयोजित इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में से खासकर कोसी क्षेत्र के युवाओं को नई दिशा और दशा मिली है. उन्होंने कहा कि कॉलेज के शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों और छात्र छात्राओं ने ऐसा आयोजन कर एक मिसाल कायम किया है.

मौके पर विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर विभाग के डॉक्टर अशोक कुमार, डॉक्टर मोहम्मद अहसान, पूर्व प्राचार्य विक्रम प्रसाद सिंह, प्रोफेसर रुपेंद्र, पंडित मदन मोहन सिंह, मनोज कुमार सिंह, कुंदन कुमार सिंह, सुरेंद्रनाथ प्रसाद, प्रोफेसर अरुण कुमार सिंह, रामविलास सिंह, मोहम्मद मसरूर, रामायण रंजन सिंह, भूतों बाबू, जितेंद्र नारायण सिंह, गरिमा उर्विशा, सुनीत साना सहित कई लोग मौजूद थे. समारोह के संयोजक डॉ अरुण कुमार मिश्रा ने धन्यवाद ज्ञापन किया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...