11 फ़रवरी 2017

मधेपुरा: दुर्घटना में युवक की दर्दनाक मौत, 8 महीने पहले हुई थी शादी


आज शनिवार सुबह 10:00 बजे एसएच 91 पर सड़क दुर्घटना में एक 28 वर्षीय व्यक्ति विद्यानंद राय  स्वर्गीय राम कृष्ण यादव घर नेमुआ बराही थाना उदाकिशुनगंज  की मृत्यु हो गई.


दुर्घटना में मुरलीगंज थानाक्षेत्र में रजनी परसादी चौक से पहले तीखे मोड़ के पास बिहारीगंज की तरफ से आ रही ट्रक जिसका नंबर बी आर 10 जी ए 5625 और मोटरसाइकिल चालक जो हीरो होण्डा के ग्लैमर गाड़ी जिसका नंबर बी आर 43 एफ 9143 की भिड़ंत आमने-सामने हो गई. इस दुर्घटना में विद्यानंद राय की मौत घटनास्थल पर ही हो गई और ट्रक के आगे फंसी हुई मोटरसाइकिल लगभग 2 किलोमीटर तक घसीटती हुई कोल्हापट्टी दुर्गा स्थान तक चली आई. लोगों ने ट्रक को आगे से घेर शोरगुल किया तो गाड़ी चालक गाड़ी रोक दिया और तब देखा कि  मोटरसाइकिल आगे में फंसी हुई थी. ग्रामीणों की उग्र भीड़ ने ट्रक को आग लगाना भी चाहा ।
    ग्रामीणों ने दुर्घटना की एक बड़ी वजह सड़क का अतिक्रमण बताया. मुरलीगंज शहर के एसएच 91 पर दुर्गा स्थान चौक से लेकर अतिक्रमण यूं ही बरकरार है. शहर के चौक चौराहों पर अवैध ढंग से वाहनों को खड़ा करने से भी जाम की समस्या से आम जन परेशान हो रहे है. सड़क दुर्घटनाओं का भी एक कारण अतिक्रमण है. खासकर चौक चौराहों पर अतिक्रमण के कारण कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो रही है. शहर के प्राय: सभी वर्गों पर अतिक्रमण की समस्या गंभीर बनी हुई है. जिला प्रशासन से लेकर के स्थानीय प्रशासन सिर्फ तमाशा देखने का काम करती है इस दिशा में अब तक कुछ भी सार्थक प्रयास नहीं किया गया.
      ट्रक पर क्षमता से अधिक बड़े स्टोन लोड थे.  दुर्घटनास्थल पर भेलाही गांव के अनमोल  कुमार ने पहुंच कर बताया कि हम मृतक के बहनोई हैं. और मेरे यहां से ही यह अपने घर नेमुआ बड़ा ही के लिए निकला था. 8 महीने पूर्व इसकी शादी मुरली चंदवा में हुई थी. मृतक का 30 नवंबर को द्विरागमन आगमन हुआ था. ग्रामीणों ने मृतक के शरीर को सड़क से उठने नहीं दिया और ग्रामीणों का कहना था कि पहले सड़क को अतिक्रमण मुक्त करवाओ. सड़क के किनारे लगे वृक्ष के कारण इस तीखे मोड़ पर दोनों तरफ से वाहन चालक को कुछ भी  दिखाई नहीं देता और और आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है.  इसी जगह 10 मौतें पिछले बरस हो चुकी है. इस समस्या का स्थाई निदान होना चाहिए जबतक निदान नहीं होगा हम लोग लाश को नहीं उठने देंगे. दूसरी तरफ पुलिस को काफी मशक्कत के बाद लौटना पड़ा था. पुनः प्रखंड विकास पदाधिकारी अनुरंजन कुमार और प्रभारी थानाध्यक्ष उपेंद्र शर्मा द्वारा दिन के 3:00 बजे घटनास्थल पर पहुंच कर ग्रामीणों को समझाने बुझाने का प्रयास किया गया और कहा गया हम कंस्ट्रक्शन कंपनी गैमन इंडिया को भी पत्र लिखकर इस दिशा में कारगर कदम उठाने के लिए प्रयास करेंगे तथा ही वन विभाग के रेंजर से पेड़ों की छटनी एवं तीखे मोड़ पर स्पष्ट दृश्यता के लिए कटाई करवाने का भी अनुरोध करेंगे.
        पर ग्रामीणों की जिद थी कि जब तक इस तीखे मोड़ पर लोहे की दोनों तरफ रेलिंग नहीं लगाई जाती तथा दोनों एक हर जगह तीखे मोड़ पर रोड डिवाइडर पक्की  व्यवस्था या लोहे की ग्रिल लगाकर सड़क को दो भागों में नहीं बांटा जाता और सड़क के दोनों किनारे अतिक्रमण को मुक्त नहीं करवाया जाता तब तक हम सड़क सड़क जाम को नहीं खोलने देंगे और मृतक को मुआवजे की राशि मिलनी चाहिए.
    पुनः प्रखंड विकास पदाधिकारी के आश्वासन पर ग्रामीणों ने सड़क जाम हटाया तथा मृतक के शरीर को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने की दिया। ड्राइवर का नाम देवचंद यादव पिता सुमन यादव घर नवगछिया वार्ड नंबर 23 जिला भागलपुर झारखंड से गाड़ी बड़े मेंटल को लेकर के आ रही थी ड्राइवर ने बताया कि मालिक का नाम विनोद कुमार पिता नरेश मिश्र घर भ्रमरपुर थाना बिहपुर जिला भागलपुर है. 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...