21 जनवरी 2017

बिहार ने रचा इतिहास: मधेपुरा में भी उम्मीद से दुगुना लोगों का हुजूम मानव श्रंखला में

शराबबंदी के समर्थन में बिहार सरकार के आह्वान पर आज मानव श्रृंखला में शामिल होने के लिए लोगों का हुजूम मधेपुरा में उमड़ा. आज समय से पहले ही लोगों ने प्रशासन द्वारा निर्धारित रूट के अलावे जिले की लगभग सभी मुख्य सड़कों पर एक दूसरे का हाथ थाम लिया.

 जिले भर में जहाँ प्रशासन के अलावे सत्ताधारी दल के नेताओं और आम लोगों ने शराबबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला को सफल बनाने के लिए आगे आ गए वहीँ कई एनडीए से जुड़े भी कई लोग मानव श्रृंखला का हिस्सा बनते दिखे. स्कूली बच्चों के अलावे बड़ी संख्यां में महिलाओं की भागीदारी ने एक बार फिर साबित कर दिया कि बिहार में अब शराब के खिलाफ सरकार के अभियान में लगभग सारे लोग सडकों पर आने को भी तैयार हैं. मधेपुरा में एतिहासिक मानव श्रृंखला में जहाँ महिलाओं की बड़ी भागेदारी देखि गई वहीँ बुजुर्गों को भी इसमें शामिल पाया गया.
      
 जिला मुख्यालय में जहाँ जिलाधिकारी मो० सोहैल, पुलिस अधीक्षक विकास कुमार, अन्य पुलिस पदाधिकारी, कमांडो टीम सुरक्षा समेत विधि-व्यवस्था बनाये रखने में सक्रीय दिखे वहीँ सरकार के मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, जिला परिषद् अध्यक्षा मंजू देवी, पूर्व विधायक मनिन्द्र कुमार मंडल ओम बाबू, जदयू जिलाध्यक्ष बिजेंद्र प्रसाद यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष सियाराम यादव, राजद जिलाध्यक्ष देव किशोर यादव, जदयू प्रदेश प्रवक्ता निखिल मंडल, डॉ. भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी, डॉ. सचिदानंद यादव, डॉ. दिलीप कुमार सिंह, डॉ. उजित कुमार राजा, श्यामल प्रसाद यादव, आभाष आनंद झा समेत कई बुद्धिजीवी भी लाइन में खड़े होकर एक दूसरे का हाथ पकड़कर श्रृंखला बनाये हुए थे. विभिन्न कार्यालयों के सामने जुड़े अधिकारी और कर्मचारी भी मानव श्रृंखला बनाए थे तो व्यवहार न्यायालय के सामने अधिवक्ता भी आज शराबबंदी के समर्थन में जमे हुए थे.
   एक तरफ जहाँ राज्य भर से जहाँ लाखो-करोड़ों लोगों के जुड़ने की खबर आ रही है वहीँ मधेपुरा मे भी इसके समर्थन में लाखों लोग विभिन्न सडकों पर मानव श्रृंखला का हिस्सा बन कर इस ऐतिहासिक क्षण के गवाह बने.
         हालांकि इस दौरान छिटपुट दुर्घटनाओं और लोगों के घायल और बेहोश होने की खबर भी मधेपुरा के विभिन्न इलाकों से आती रही.
(MT-Team)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...