28 दिसंबर 2016

पुरैनी गोलीकांड में विधवा सहित तीन गिरफ्तार : विधवा से थी घायल की ‘नजदीकी’

मधेपुरा जिले के पुरैनी थानाक्षेत्र के कड़ामा गांव में सोमवार की देर शाम गांव को ही सुबोध मंडल नाम के एक युवक को गोली मारकर कर हत्या की कोशिश की गई थी.
युवक पर दो गोलियाँ चलाई गई थी जिसमें से एक घटनास्थल से बरामद हुई और दूसरी गोली सुबोध के कनपटी में जा धंसी थी. पर जाको राखे साइयाँ, मार सके न कोई, बावजूद सुबोध बच गया.
    सहरसा में सफल आपरेशन के बाद सुबोध के कनपटी मे फंसी गोली निकल गयी वही होंश मे आने के बाद पुलिस के समक्ष  सुबोध के द्वारा दिये गये बयान के आधार पर पुलिसिया अनुसंधान मे गांव के ही एक विधवा महिला सहित चार अन्य युवक की संलिप्तता पायी गयी. पुरैनी थानाध्यक्ष राजेश कुमार रंजन के नेतृत्व मे छापेमारी दल मे मौजूद एएसआई जयनारायण राव, रामाश्रय शर्मा शस्त्र बल के द्वारा घटना मे संलिप्त महिला आशा देवी तीन अन्य पप्पू मंडल, मुकेश मंडल सुशील यादव उर्फ सोल्ठी यादव को गिरफ्तार कर लिया गया.
      घटना के बाबत एसडीपीओ अरूण कुमार दुबे ने पुरैनी थाना मे प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि गोलीकांड मे घायल सुबोध मंडल द्वारा दिये गये बयान के आधार पर कड़ामा गांव के ही एक विधवा आशा देवी को गिरफ्तार किया गया. आशा देवी ने बताया कि पति की मृत्यु दो वर्ष पूर्व ही हो चुकी है सुबोध मंडल और महिला के पति के बीच दोस्ती थी. पति के मृत्यु के बाद भी सुबोध मंडल उसके घर आया-जाया करता था इस दौरान दोनो के बीच नजदीकी बढ गयी. आशा देवी उसके मौसेरे देवर सहित कड़ामा गांव के ही तीन अन्य युवक पप्पू मंडल, मुकेश मंडल और सुशील यादव ने मिलकर इस घटना को अंजाम दिया. आशा देवी ने ही फोन कर सुबोध को गांव से दूर खेत की ओर बुलाया और पप्पू मंडल के द्वारा गोली चलाई गयी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...