19 नवंबर 2016

स्वच्छता अभियान के तहत ‘खुले में शौच’ को रोकने के लिए कार्यक्रम

मधेपुरा जिला मुख्यालय स्थित पार्वती विज्ञान महाविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना के सौजन्य से  खुले में शौच को रोकने के लिए विश्व शौच दिवस (World Toilet Day) मनाया गया.
कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाचार्य राजीव सिन्हा के द्वारा किया गया. कार्यक्रम के संबोधन में उन्होंने कहा कि छात्र जीवन साधना एवं तपस्या का जीवन है. छात्र ही देश के भाग्य विधाता हैं. इसलिए छात्रों को स्वच्छता अभियान के तहत खुले में शौच मुक्त करने के लिए गांव-गाँव जा कर लोगों को जागरुक करना चाहिए. कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ अभय कुमार ने सभी छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है. शारीरिक रूप से स्वस्थ व्यक्ति समाज और देश की सच्ची सेवा कर सकता है और स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छता आवश्यक है. हम सब के सहयोग से खुले में शौच मुक्त भारत का सपना साकार हो सकता है.
    इस अभियान को सफल करने के लिए खुले में शौच मुक्त अभियान में स्वयंसेवी सोनी राज शाहीन कौसर,  नजराना प्रवीण, शिल्पी सुमन, सूफी चिश्ती, ममता कुमारी, रीता कुमारी, काजल कुमारी, सियाशरण भारतीय आदि शामिल थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...