30 नवंबर 2016

सास की हत्या के आरोपी कैदी की जेल के भीतर फंदे से झूलकर मौत

सुपौल। मंडल कारा के विशेष सेल में बुधवार को हत्या के एक मामले में विचाराधीन बंदी की संदेहास्पद स्थिति में सेल में फंदे से झूलकर मौत हो गयी.
मृतक कैदी जिले के मरौना थाना क्षेत्र के सिसौनी गांव निवासी 35 वर्षीय मो कलीम उर्फ भोल्टू बताया जा रहा है जो अपनी सास की हत्या के आरोप में जेल में बंद था. जेल प्रशासन की सूचना पर पहुंची सदर एसडीपीओ वीणा कुमारी, सदर एसडीओ एनजी सिद्दीकी, सदर थानाध्यक्ष राजेश्वर सिंह ने जेल पहुंच कर घटना का जायजा लिया.
    छानबीन कर जेल से लौटने के बाद अधिकारी द्वय ने बताया कि जेल प्रशासन द्वारा कैदी की मौत को आत्महत्या बतायी जा रही है. काराधीक्षक की सूचना पर पहुंची पुलिस ने जेल के विशेष सेल में फंदे से लटक रहे कैदी के शव को उतार कर बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए शव को सदर अस्पताल भेज दिया है. सदर एसडीपीओ ने बताया कि पुलिस मामले को संदेहास्पद मान कर छानबीन कर रही है.
ज्ञात हो कि मृत कैदी विगत 08 अक्टूबर को मंडल कारा सुपौल से फरार होने में सफल रहा था. जिसे पुन: 12 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था. घटना को लेकर मंडल कारा अधीक्षक सुरेश चौधरी ने बताया कि मृत कैदी मो कलीम विगत एक सप्ताह से जेल के अंदर अनुशासन भंग कर रहा था. जिस कारण उसे विशेष सेल में अकेले रखा गया था. वहीं जिला पदाधिकारी बैद्यनाथ यादव के निर्देश पर शव का पोस्टमार्टम चिकित्सकों की एक टीम द्वारा किया गया. इस दौरान दंडाधिकारी के रूप में विनोद कुमार सिन्हा भी उपस्थित थे. प्रशासनिक अधिकारियों की सूचना पर मृतक के परिजन भी सदर अस्पताल पहुंचे.  परिजनों ने जेल प्रशासन पर कलीम को प्रताडित करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों के हवाले कर दिया है. थानाध्यक्ष ने बताया कि जेल अधीक्षक के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन प्रारंभ की गयी है.

सास की हत्या का था आरोपी:  मो कलीम उर्फ भोल्टू अपनी सास नजमा खातुन की हत्या के आरोप में मंडल कारा में बंद था. इस हत्याकांड को लेकर मरौना थाना में मो कलीम के विरुद्ध कांड संख्या 61/16 दर्ज है. बुधवार को कलीम के मौत की सूचना पर पहुंचे उसके छोटे भाई मो सलीम और मो शब्बीर ने बताया कि कलीम की पहली शादी मधुबनी जिले के अंधरामठ थाना क्षेत्र स्थित दुधैला गांव निवासी मो युनूस की पुत्री फातिमा से हुई थी. इस शादी से उसे एक पुत्री की प्राप्ति भी हुई. उसके बाद फातिमा दोबारा मां नहीं बन पायी. वहीं कलीम ने मधेपुरा जिले के गम्हरिया गांव की एक विधवा से दूसरी शादी रचा लिया. इस शादी से नाराज फातिमा एवं उसकी मां के द्वारा मो कलीम के विरुद्ध दहेज के लिए घर से निकालने और पहली पत्नी के रहते दूसरी शादी रचाने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी. परिजनों ने बताया कि थाना में दर्ज केस के भय से कलीम ने पहली पत्नी से सुलह कर लिया और दूसरी पत्नी को छोड़ दिया. लेकिन इस बात से फातिमा की मां नजमा खातुन नाराज चल रही थी. इसी बात को लेकर हुए विवाद में कलीम ने धारदार हथियार से गला रेत कर अपनी सास की हत्या कर दिया. जिसके बाद पुलिस ने कलीम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...