15 जुलाई 2016

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का सुपौल जिले में शुभारंभ, 200 से अधिक महिलाओं को मिला मुफ्त गैस कनेक्सन

सुपौल। केंद्र सरकार की महात्वकांक्षी योजना प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का जिले में शुक्रवार को स्थानीय बीएसएस कॉलेज परिसर स्थित सभागार में समारोह का आयोजन किया गया. मौके पर दर्जनों गरीब महिलाओं के बीच एलपीजी का वितरण भी किया गया. गरीबी रेखा से नीचे जीवन-बसर करने वाली महिलाओं को रसोई गैस का मुफ्त कनेक्सन देने के लिये प्रारंभ की गयी इस योजना से बीपीएल परिवारों में काफी हर्ष का माहौल देखा गया.            
 
 पांच करोड़ गरीबों को गैस उपलब्ध कराने का लक्ष्य: समारोह के प्रारंभ में योजना की नोडल एजेंशी एचपी इंडेन के प्रतिनिधि चेतन रंधीर ने बताया कि योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गत 01 मई को बलिया(यूपी) में किया गया था. योजना के तहत अगले तीन वर्षों में 05 करोड़ बीपीएल परिवारों को रसोई गैस उपलब्ध कराने का लक्ष्य है. जिसमें इस वर्ष 1.5 करोड़ गरीब महिलाओं को रसोई गैस उपलब्ध कराया जायेगा. योजना के तहत मात्र 16 सौ रूपये में चुल्हा, पाईप व रेगुलेटर प्रदान किया जा रहा है. गैस के लिये 625 रूपये देना होगा. जिसमें 225 रूपये सब्सिडी के रूप में लाभुक के खाते में जमा हो जायेगा. योजना के तहत जिले के 2.60 लाख परिवारों को लाभान्वित किया जायेगा. जिसमें अब तक 10 हजार लोगों का पंजीकरण हो चुका है. लाभुकों को गैस कनेक्सन उपलब्ध कराने हेतु गांव-गांव में कैंप का आयोजन किया जायेगा. योजना के सफल कार्यान्वयन हेतु जिले में वर्तमान 14 के अलावा अन्य 14 वितरक प्रतिनियुक्त किये जायेंगे. बताया कि देश में 60 प्रतिशत लोगों के पास रसोई गैस उपलब्ध है. जबकि सुपौल जिले में इसका औसत महज 20 प्रतिशत है.   
          
योजना पर्यावरण के लिए भी लाभप्रद: सांसद रंजीता रंजन ने अपने संबोधन में केंद्र सरकार की इस योजना को विशेष तौर पर महिलाओं के लिये लाभकारी बताया. उन्होंने कहा कि यह एक अच्छी पहल है. इसलिये वे इसका स्वागत करती हैं. कहा कि लकड़ी की वजह से पेड़ कट रहें हैं. कोयले की भी कमी हो रही है. ऐसे में यह योजना पर्यावरण के लिये भी लाभप्रद है. कहा कि अच्छी योजनाओं का सभी राजनीतिज्ञयों को भी स्वागत करनी चाहिये. ताकि उसका लाभ आम लोगों को मिल सके. हालांकि सांसद ने कहा कि यह योजना मुफ्त नहीं है, जैसा कि केंद्र सरकार द्वारा ढ़िंढ़ोरा पीटा जा रहा है. यह अलग बात है कि जहां 55 सौ रूपये में कनेक्सन मिलता था. वह अब मात्र 16 सौ रूपये में मिल रहा है. उन्होंने 425 रूपये में गरीबों को उपलब्ध कराये जा रहे रसोई गैस पर भी सवाल खड़े किये. कहा कि सरकार को उन गरीबों के बारे में भी सोचना चाहिये, जो महज 300 रूपये के मासिक पेंशन पर गुजारा करते हैं. मौके पर सांसद ने केंद्र द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का भी जिक्र किया. कहा कि इनमें से बीपीएल समेत अधिकांश योजनाएं यूपीए सरकार द्वारा प्रारंभ की गयी थी. केंद्र सरकार को सभी योजनाओं के प्रति समान भाव रखना चाहिये. 

एलपीजी कनेक्सन मिलने से महिलाओं में हर्ष: प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के शुभारंभ के मौके पर 200 से अधिक महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्सन प्रदान किया गया. साथ ही उनके बीच गैस चुल्हा, रेगुलेटर आदि का वितरण किया गया. पैसे के अभाव में लकड़ी का चुल्हा जलाने वाले महिलाओं में नये आधुनिक एलपीजी कनेक्सन मिलने से हर्ष का माहौल व्याप्त था. धुंआ रहित आधुनिक गैस चुल्हे पर खाना पकाने का सपना साकार होने की खुशी उनके चेहरों पर स्पष्ट रूप से दीख रही थी.   

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...