16 जून 2016

मीडियाकर्मी पर पुलिस के हमले से लोकतंत्र और मानवता शर्मशार: मधेपुरा में पीड़ित पत्रकार से मिली लवली आनंद

पूर्व सांसद लवली आनंद ने आज पुलिस की बर्बरता के शिकार डिक्शन राज के मधेपुरा जिले के गम्हरिया स्थित आवास पर उनसे मुलाक़ात की.
    पूर्व सांसद ने पीड़ित पत्रकार से मुलाक़ात के दौरान कहा कि गम्हरिया में मीडियाकर्मी पर पुलिस का हमला न सिर्फ लोकतंत्र बल्कि मानवता को भी शर्मशार करने जैसा है. लालू-नीतीश के जंगलराज में अपराधियों और पुलिस की मनमानी सीमा को पार कर चुकी है. जब इस शासन में चौथा स्तम्भ भी सुरक्षित नहीं है तो आम आदमी का क्या? लवली आनन्द ने कहा कि 19 जून के बाद गम्हरिया में इन घटनाओं के विरोध में धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया जाएगा.
    पूर्व सांसद ने आज गम्हरिया के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा भी किया और बभनी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि उनके पति और पूर्व सांसद आनंद मोहन को राजनीतिक षड्यंत्र का शिकार बनाकर जेल में रखा गया है. उनकी रिहाई के लिए एकजुट होने की आवश्यकता है. उन्होंने आगामी 19 जून को महाराणा प्रताप, भामा साह, हकीम खान सूरी, राणा पूंजा, झाला सरदार की याद में सहरसा में "विराट शोभा यात्रा और स्मृति सभा" को सफल बनाने हेतु लोगों से भारी संख्यां में पहुँचने की अपील की.
(नि.सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...