07 अप्रैल 2018

माँ की ममता पर विकलांगता पड़ गई भारी: बच्ची को छोड़ा मकई के खेत में

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज नगर पंचायत अंतर्गत रेलवे स्टेशन के दक्षिण पश्चिम की तरफ मकई के खेत में शुक्रवार  को एक दो वर्षीया विकलांग बच्ची लावारिस हालत छोड़ दिया गया । 


देर रात मकई के  खेत में  रो रही बच्ची को शहर के कुछ नवयुवकों द्वारा रात के 1:00 बजे   मकई के खेत से निकाला  गया एवं  मुरलीगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र  पहुंचाया।  

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मौके पर मौजूद  डॉक्टर आलोक अमर ने  बच्ची के बारे में  बताया कि बच्ची हाथ और पैर से  विकलांग है.  प्रथम दृष्टया में देखने से  ऐसा प्रतीत होता है कि  बच्चे की उम्र 2 वर्ष रही होगी. बच्चे की मिलने की जानकारी  मुरलीगंज थाने को भी दी गई है. डॉक्टर ने बताया कि  बच्चे के प्राथमिक उपचार के बाद  उन्हें  भोजन के रूप में दूध आदि दिया गया है. इस आशय की सूचना बाल संरक्षण गृह  मधेपुरा को दे दी गई है। बच्ची को बाल संरक्षण गृह  मधेपुरा  के टीम  पहुंचने के बाद  उन्हें  सुपुर्द कर दिया जाएगा।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...