07 अप्रैल 2018

रेल इंजन कारखाना उद्घाटन समारोह का विरोध करेगी किसान मजदूर संघर्ष मोर्चा

मधेपुरा में शनिवार को किसान मजदूर संघर्ष मोर्चा के बैनर तले एक आपातकालीन बैठक की गई. बैठक में किसानों ने 10 अप्रैल को रेल कारखाना उद्घाटन समारोह के विरोध में निर्णय लिया.

उन्होंने कहा कि समाचार पत्र से ज्ञात हुआ कि प्रधानमंत्री वीडियो कांफ्रेंस के जरिए रेल इंजन फैक्ट्री का उद्घाटन करेंगे. स्थानीय राजनेता एवं जनप्रतिनिधि रेल कारखाना में उपस्थित रहेंगे. नि:संदेह उन राजनेताओं के आग्रह पर प्रधानमंत्री स्वीकृति प्रदान किए होंगे. इस संदर्भ में ऐसा प्रतीत होता है कि प्रधानमंत्री को किसानों की मांग से अवगत नहीं कराया गया है जबकि जनप्रतिनिधियों को सारी मांगों की जानकारी दी गई है क्योंकि उन्होंने ही मुआवजा नौकरी संबंधित आश्वासन दिया था किंतु कोई कार्यवाही नहीं हुई, क्योंकि आश्वासन के कारण ही आंदोलन स्थगित किया गया था. प्रधानमंत्री जी को 6 अप्रैल को पत्र भेजकर अनुरोध किया गया है कि वर्णित तथ्यों को संज्ञान में उद्घाटन पूर्व मांगों की पूर्ति की जाए ताकि दलित मजदूर किसान बेरोजगार लोगों की रोजी-रोटी की समस्या दूर हो सके.

कहा कि प्रधानमंत्री वैसे रेल कारखाना का उद्घाटन करने जा रहे हैं जिनमें नियमों की अवहेलना की गई है. उदाहरणार्थ कुछ एक भूमि पर कब्जा ले लिया गया है जिसकी अधिग्रहण की अधिसूचना निर्गत नहीं हुई है. जिन धाराओं में कब्जा लिया गया उसके अनुसार मुआवजे का भुगतान भी नहीं किया गया तथा ब्याज की राशि भी नहीं दी गई है.

यह भी कहा कि समाचार पत्रों से ज्ञात हुआ है कि रेल विभाग के अधिकारियों द्वारा वक्तव्य दिया गया है कि नियुक्ति संबंधित रेल मांग पत्र इस परियोजना में प्रभावी नहीं है जिस संदर्भ में उचित होगा कि पदाधिकारियों को खुली सभा में संघर्ष मोर्चा या किसानों के बीच अपने द्वारा दिए गए वक्तव्य से संबंधित पत्र दिखावे जिसमें कहा गया है कि इस परियोजना में नौकरी नहीं मिलेगी. हम रेल विभाग के पत्र का हवाला दे रहे हैं, जिसके अनुपालन हेतु संपूर्ण देश में लोगों को नौकरी दी जा चुकी है एवं दी जा रही है. ऐसे स्थिति में किसान मजदूर संघर्ष मोर्चा 10 अप्रैल को रेल कारखाना उद्घाटन समारोह का विरोध करेगी क्योंकि उनकी मांगे पूरी नहीं की गई है.

किसान मजदूर संघर्ष मोर्चा की बैठक में संरक्षक निर्मल कुमार सिंह, अध्यक्ष प्रकाश कुमार उर्फ पिंटू यादव, महासचिव अभय कुमार सिंह, उपाध्यक्ष विष्णदेव यादव, भूषण यादव, पुलेंद्र यादव, चित्तो यादव, शिव शंकर वर्मा, मो कयाम, मो फिरोज एवं अन्य किसान उपस्थित थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...