07 अप्रैल 2018

दहेज दानवों ने ली नवविवाहिता की जान, डेढ़ वर्ष पहले हुई थी शादी

एक तरफ जहाँ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दहेजबंदी को लेकर अभियान चला रहे हैं, वहीँ आज फिर एक बेटी समाज को कलंकित करने वाली दहेज़ प्रथा की शिकार हो गयी। 

मामला मधेपुरा जिले के पुरैनी थाना क्षेत्र के वंशगोपाल पंचायत के सोनडीहा बासा से सम्बंधित है, जहाँ वकील साह की शादीशुदा बेटी अपने ससुराल औराय पंचायत के पूर्वी औराय चेंगाही गांव में में दहेज दानवो की शिकार हो गयी, जिसे जहर खिलाकर दहेज लोभी सास-ससुर ने मार डाला ।

इस बाबत मृतका के पिता वकील साह ने पुरैनी थाना में मामला दर्ज कराया है कि उसकी 21 वर्षीय पुत्री गुलाबी देवी की शादी उन्होंनें थानाक्षेत्र के औराय पूर्वी चेंगाही निवासी महेन्द्र साह के पुत्र पप्पू साह के साथ लगभग डेढ वर्ष पूर्व करायी । मृतका का पिता का आरोप है कि विवाह के बाद से ही ससुर महेन्द्र साह और सास दोनो मिलकर हमेशा दहेज को लेकर नवविवाहिता को प्रताड़ित करते थे और एक मोटरसाइकिल और पचास हजार रुपये नगद की मांग कर रहे थे । जिसको लेकर कई बार पंचायत होने की बात भी पिता ने बतायी है । 

पिता द्वारा दिये गये आवेदन मे जिक्र है कि उसने शादी में यथाशक्ति सामान दिया बावजूद मेरी बेटी को प्रताड़ित करते रहे । घटना के बाबत पिता ने कहा है कि बुधवार की मध्य रात्रि करीब 12 बजे उसकी बेटी को सास-ससुर, जेठ जेठानी ने जबरन जहर खिलाकर मार दिया । हल्ला होने पर गुरुवार की सुबह पिता के कथनानुसार घटना की सूचना मिली तब जाकर पिता ने इसकी सूचना पुरैनी थाना को दी । 

इस बाबत थानाध्यक्ष सुनील कुमार भगत ने बताया कि घटना की सूचना पाकर शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया गया. वहीँ पिता द्वारा दिये गये आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए मृतका के ससुर महेन्द्र साह और जेठानी सुलेखा देवी जो की नामजद अभियुक्त है को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेज दिया गया ।

बहरहाल जो भी हो, दहेज प्रथा पर अंकुश लगाने के लिए सरकार तमाम तरह की कोशिश कर रही है बावजूद दहेज दानव दहेज के लोभ में आज भी बेटियों की जिन्दगी लील रहे है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...