14 अप्रैल 2018

मधेपुरा में डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती समारोह आयोजित

मधेपुरा जिला मुख्यालय स्थित कलाभवन में शनिवार को जिला जनता दल यू के तत्वाधान में जिला अध्यक्ष  प्रो विजेंद्र नारायण यादव  की अध्यक्षता में डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती समारोह मनाया गया. 


समारोह  का शुभारंभ ऊर्जा तथा मद्य निषेध मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव के द्वारा बाबा साहब डॉ भीमराव अंबेडकर के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया. मौके पर उपस्थित पार्टी के सभी अधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने भी तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित किया.

मौके पर उपस्थित डॉक्टर बी. बी. प्रभाकर ने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के बौद्ध धर्म धारण करने के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए बौद्ध धर्म की विशालता को बताया. प्रो सत्यजीत ने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि संविधान प्रारूप समिति के अध्यक्ष के रूप में संविधान में शोषित दलित अल्पसंख्यकों के अधिकारों का प्रावधान कर हजारों वर्षों से वंचितों को न्याय देने का काम किया. अमर कुमार चौधरी उर्फ भगवान चौधरी ने अंबेडकर को शोषित पीड़ित आवाम को संविधान में सामाजिक शैक्षणिक रूप से पिछले अनुसूचित जाति जनजाति के प्रमुख संवैधानिक अधिकार प्रदान कर वंचितों को न्याय देने का प्रयास मील का पत्थर प्रमाणित हो रहा है. सुपौल के पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्र यादव ने अंबेडकर ने सिर्फ संविधान प्रारूप समिति के अध्यक्ष ही नहीं बल्कि सामाजिक रूप से अपमानित वंचित मनुवादी व्यवस्था के द्वारा निर्धारित जाति व्यवस्था के विरुद्ध शंखनाद किया.

मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव ने बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 127 वी जयंती समारोह में कार्यकर्ताओं तथा उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज अंबेडकर जयंती मनाने की दलों में प्रतियोगिता हो रही है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में डॉक्टर राम मनोहर लोहिया का विचारधारा शिक्षित बनो संघर्ष करो बिहार सरकार में  संगठित रहा. उन्होंने कहा कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री विभिन्न जातियों में बैठे दलितों के छुआछूत के विरुद्ध संघर्ष किया जब पिछड़ों को शूद्र कह कर अपमानित किया जाता था और जातिवादी व्यवस्था चरमोत्कर्ष पर थी. यही कारण है कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने दलित पिछड़ों के संविधान में आरक्षण का प्रावधान किया. मोहम्मद अबुल कलाम आजाद, जवाहरलाल नेहरू, महात्मा गांधी, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने कहा था कि वे लोग सोए हैं इसलिए कि उनके लोग जगे हैं. मैं जगा इसलिए हूं कि मेरे लोग सोए हैं. उन्होंने कहा कि बिहार से साइकिल योजना पोशाक योजना सहित अन्य कल्याणकारी योजनाओं का प्रारंभ कर, प्रत्येक पंचायत में उच्च विद्यालय खुलने से अनुसूचित जाति जनजाति पिछड़ा में शिक्षा के प्रति अभिरुचि पैदा कर डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के सपनों के शंखनाद को अमली जामा पहनाया गया है. 

कार्यक्रम में राजकिशोर यादव, हरेंद्र मंडल, संजय गांधी, महादलित प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष सिकेन्द्र ऋषिदेव, विश्वविद्यालय अध्यक्ष रोहित यादव, जिला उपाध्यक्ष प्रो सुजीत मेहता, प्रदेश युवा महासचिव मो एमएस रहमान बाबुल, मो आजाद, रूपेश कुमार गुलटेन, अशोक चौधरी, मंजू देवी, बुलबुल सिंह, मीना देवी, सरोजिनी कुमारी, सत्यजीत यादव, उमेश साह, नीलाकांत यादव, सियाराम यादव, वीवी प्रभाकर, सियाराम यादव, प्रो गुलशन, प्रदीप साह, शंभू कुमार, जुगल किशोर राय, दीपक कुमार, नरेश पासवान, प्रमोद यादव, अशोक कुमार, चंदेश्वरी राम, मनोज कुशवाहा, डॉ नीरज, अशोक कुमार सिन्हा, महेंद्र पटेल, विवेक कुमार आर्य आदि उपस्थित थे.

इससे पूर्व मधेपुरा के जिलाधिकारी मो० सोहैल, पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष, डीडीसी मुकेश कुमार, अनुमंडलाधिकारी संजय कुमार निराला, डॉ. भूपेन्द्र मधेपुरी, प्रो० श्यामल प्रसाद यादव, पूर्व वार्ड पार्षद ध्यानी यादव, समाजसेवी शौकत अली आदि ने समाहरणालय स्थित डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...