22 जनवरी 2018

दुर्व्यवहार का विरोध करने वाली छात्राएं अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर होंगी सम्मानित

मधेपुरा के स्टेशन रोड पर छात्राओं के साथ सरेआम दिनदहाड़े छेड़छाड़ व मारपीट की घटना पूरे मधेपुरा को शर्मसार कर गया है.


मनचलों को सबक सिखाने की जगह भीड़ का तमाशबीन बने रहना आम लोगों का अपने सामाजिक और नैतिक दायित्व से किनारा कर लेना है, जो मानवता को झकझोरता है, महिलाओं को डराता है और पुरुषत्व को ललकारता है. वहीं दूसरी तरफ छात्राओं द्वारा किया गया प्रतिरोध उनकी बुद्धिमता, साहस, निडरता आत्मानुशासन तथा दृढ़ आत्मबल का परिचायक है. 

कोसी वूमन डिग्निटी फोरम मधेपुरा की अध्यक्ष डॉ. शान्ति यादव ने उक्त विचार रखते हुए मधेपुरा के आम नागरिकों, बुद्धिजीवियों, शिक्षकों, छात्र-छात्राओं आदि से सक्रिय सहयोग की अपील करते हुए  प्रशासन से त्वरित ऐसी कार्यवाही की मांग की है ताकि मधेपुरा में दूसरी बार को इस प्रकार का दुस्साहस करने की कोई सोच भी ना सके. 

साथ ही कोसी वूमन डिग्निटी फोरम उन छात्राओं को आगामी अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च 2018) के अवसर पर सम्मानित करने की घोषणा की है, जिन्होंने खामोश रहकर झेल जाने की बजाय सशक्त और सक्रिय विरोध करते हुए सड़क से थाने और विश्वविद्यालय तक डटी रही. उन्होंने कहा कि वे बालिकाएं समाज के लिए मशाल और मिशाल दोनों हैं.
(वि. सं.)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...