01 जनवरी 2018

मधेपुरा में एक थानाध्यक्ष ऐसा भी, जिन्हें गरीबों का दर्द बाँट कर मिलता है सुकून

मधेपुरा जिला के चौसा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह एवं उनकी धर्मपत्नी अलका सिंह की बात ही कुछ और है. ये तो महज बानगी है पर पहले भी कई मौके ऐसे आये हैं जब किसी बेसहारे के दर्द को देखकर पुलिस पदाधिकारी सुमन कुमार सिंह मानवता की मिसाल बनकर उभरे हैं.


नए वर्ष के आगमन को लेकर जहाँ लोग पिकनिक मनाने की तैयारी में लग जाते हैं और जगह और रेस्टोरेंट के ठिकाने तय करने तथा व्यंजनों की तैयारी में लग जाते हैं वहीँ आज नए वर्ष के आगमन पर इस पिकनिक को चौसा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह और उन की धर्मपत्नी अलका सिंह ने नए अंदाज में मनाया। 

इन्होंने महादलितों के बीच जाकर इस सर्द मौसम में कम्बल और मिठाई बाँट कर उनके चेहरे पर मुस्कान देख कर खुद अपने अंदर ख़ुशी महसूस किया । मौके पर अलका सिंह ने कहा कि लोग अपनी मेहनत की कमाई को फिजूल खर्चों में उड़ा देते हैं।अगर इस पैसे को किसी गरीबों पर खर्च कर के उसके चेहरे पर मुस्कान ला दे और मुस्कान आते ही ग़रीबों की दुआ मिल जाए तो ऊपर वाला बहुत आपकी जल्द सुनते हैं । हम अक्सर हर बड़े छोटे पर्व गरीबों साथ उसके बिना आशीर्वाद के नही मनाती हूँ ।

मौके पर थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह ने कहा कि लोग कोई भी उत्सव मनाने बड़े बड़े रेस्टोरेंट में जाते हैं। पर मुझे वैसा करना अच्छा नहीं लगता है। मैं भी किसान का बेटा हूँ और गरीबों से ही हमारा मधुर सम्बन्ध है और मुझे उसी के साथ खुशियाँ मनाने में संतुष्टि मिलती है।

चौसा थाना के घोषई पंचायत के टुनटुन मल्लिक कहते हैं कि मुझे याद है जब पुलिस को देख लोग दहशत में आ जाते थे और आज एक पुलिस के द्वारा गरीबों के बीच कम्बल वितरण करना और मिठाई खिलाना यह सराहनीय कार्य है. मुझे लग रहा है कि बिहार बदल रहा है और लोगों के अंदर पुलिस और पब्लिक के बीच दोस्ताना मंजर नजर आ रहा है। 

इस अवसर पर महादलितों के बीच चौसा पूर्वी पंचायत के काली स्थान, रसलपुर धुरिया कलासन, छोटकी बढ़ोना, पैना आदि में कुल 50 कम्बल वितरण किया गया। इस मौके पर चौसा थाना के ए एस आई आलोक कुमार अमल, उनकी धर्मपत्नी राधा कुमारी, पुत्री भावना कुमारी, समाज सेवी कुंदन कुमार, पप्पू शर्मा, गोपाल यादव आदि मौजूद थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...