03 जनवरी 2018

11 वर्षों से अपने हक एवं सम्मान की लड़ाई लड़ रही महिला को अब तक न्याय नहीं

मधेपुरा जिले के आलमनगर प्रखंड मुख्यालय में अपने पति सहित परिवार के अन्य लोगों से प्रताड़ित होकर पिछले 11 वर्षों से अपने हक एवं सम्मान की लड़ाई लड़ रही महिला इंसाफ के लिए दर बदर भटक रही है.

इस मामले में कई बार सामाजिक रुप से भी पहल किया गया परंतु उक्त महिला प्रगति भट्ट को इंसाफ नहीं मिल पा रहा है. नवादा की रहने वाली सुरभट्ट की पुत्री प्रगति  भट्ट  की शादी वर्ष 2007 में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह पूर्व मंत्री स्वर्गीय विद्याकर कवि एवं पूर्व एमएलसी विभूति कवि के परिवार के सदस्य सनत कवि के साथ हुई थी. 

इस बाबत प्रगति भट्ट ने मधेपुरा टाइम्स को अपनी व्यथा बताई कि शादी के 6 माह बाद ही ससुराल वालों के द्वारा पटना एवं सहरसा में जमीन एवं मकान की मांग किया जाने लगा जो मेरे परिवार के लिए देना संभव नहीं था. जमीन एवं भवन की मांग पूरा नहीं करने पर उसे ससुराल से तरह तरह की प्रताड़ना देकर निकाल दिया गया और वह अपने घर नवादा रहने लगी. इसी बीच अपने अधिकार के लिए अपने भाई के साथ अपने ससुराल आलमनगर 12 दिसंबर को आई. ससुराल वालों के द्वारा काम करने वाली बाई के साथ मिलकर मेरे भाई को घर में झूठा मुकदमा कर हरिजन अत्याचार अधिनियम में गलत ढंग से फंसा कर जेल भेज दिया गया एवं घर से मुझे बाहर निकाल दिया गया. मैं स्थानीय पुलिस के शरण में गई जहां पुलिस मेरे पति शरद कवि को थाना लाया जहां समाज के लोगों द्वारा सुलहनामा लिखा कर मामला को रफा-दफा कर दिया गया.

पीड़िता प्रगति भट्ट का कहना है कि उन्हें तरह तरह की यातनाएं दी जा रही है परंतु उसका हौसला बुलंद है वह अपना हक एवं अधिकार लेकर रहेगी. हालांकि मामले को लेकर 17 दिसंबर को पुलिस द्वारा हरिजन एक्ट के मामले में प्रगति भट्ट के भाई प्रकाश भट्ट को जेल भेज दिया गया है. वहीं जब प्रगति भट्ट को घर में ससुराल वालों के द्वारा नहीं घुसने दिया गया तो पुलिस द्वारा उनके पति सनत कवि  को थाने पर लाया गया जहां  जनप्रतिनिधि एवं समाज सेवियों के बीच सुलहनामा बनाया गया. जिसके तहत पति पत्नी की तरह रहने के साथ-साथ भरण पोषण करने तथा स्वसंवाद पति पत्नी का दर्जा देकर रहने की बात कही गई है. वहीँ पुलिस द्वारा प्रगति भट्ट के लिखित आवेदन पर महिला उत्पीड़न एवं दहेज उत्पीड़न के साथ साथ मारपीट करने के आरोप में पति सनत  कवि जेठ शैलेश महाराज, संजय महाराज, गौतनी अरुणा देवी एवं नूतन देवी पर प्राथमिकी दर्ज की गई है.

इस बाबत प्रगति भट्ट के पति सनत कवि का कहना है कि प्रताड़ना की बात सरासर गलत है. मेरे द्वारा अपनी पत्नी से तलाक के लिए कोर्ट में आवेदन दिया गया है जो लंबित है. फिलहाल मैं अपनी पत्नी को सभी चीज मुहैया करा रहा हूं.
(रिपोर्ट: प्रेरणा किरण)

[यदि आप फेसबुक पर हैं तो तुरंत खबर पाने के लिए इस पेज को लाइक कर दें: https://www.facebook.com/madhepuratimes/]

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...