20 नवंबर 2017

मधेपुरा: एनएसयूआई ने मनाया इंदिरा गांधी जन्म शताब्दी वर्ष

मधेपुरा जिला मुख्यालय में कॉलेज चौक पर अंबेडकर पाठशाला में एनएसयूआई मधेपुरा ने मनाया इंदिरा गांधी जन्म शताब्दी वर्ष.

भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री आयरन लेडी इंदिरा गांधी का जन्म शाताब्दी वर्ष एनएसयूआई जिलाध्यक्ष निशांत यादव की अध्यक्षता में मनाया गया.

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए एनएसयूआई जिलाध्यक्ष निशांत यादव ने कहा कि इंदिरा गांधी केवल भारत की ही नहीं बल्कि विश्व के सभी महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं. विपरीत परिस्थितियों में भी अपनी सफलता बरकरार रखने के कारण ही उन्हें आयरन लेडी कहा गया. जब उन्होंने देश की बागडोर संभाली थी उस समय देश कई तरह की चुनौतियों का सामना कर रहा था, जिनमें से एक था पाकिस्तान और चीन का भारत के प्रति षड्यंत्रकारी रवैया, जिसका जवाब इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान और बांग्लादेश के बंटवारे से दिया. इनकी निडरता और पराक्रमी गुणों के कारण इस समय के एक विपक्षी नेता ने उन्हें दुर्गा का अवतार तक कह दिया.

वहीं जिला महासचिव गौरव कुमार ने कहा कि इंदिरा गांधी को सिर्फ इसलिए नहीं जाना जाता है कि वह पंडित जवाहरलाल नेहरू की इकलौती पुत्री थी बल्की इंदिरा गांधी अपनी प्रतिभा और राजनीतिक दृढ़ता के लिए विश्व राजनीति के पटल पर हमेशा एक अमिट छाप छोड़कर विदा हुई है. 16 वर्ष तक देश की प्रधानमंत्री के पद पर रही इंदिरा गांधी ने देश के शासनकाल में कई उतार चढ़ाव का सामना डट कर किया.

पूर्व राष्ट्रीय प्रतिनिधि प्रभात कुमार मिस्टर ने कहा कि आज मुझे उनका एक कथन याद आ रहा है "अपने आप को खोजने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप खुद को दूसरे की सेवा में खो दो" आज इस कथन को हर युवाओं को अपने जीवन में उतारना चाहिए, जिसके लिए आज का समय अनुकूल है.

मौके पर आशीष कुमार, विकाश कुमार यादव, अभिनव, दीघरा के समाजसेवी चन्दन कुमार यादव आदि कार्यकर्ता और छात्र नेता मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...