24 नवंबर 2017

अच्छी खबर: दहेजमुक्त शादी के लिए नव विवाहिताओं को मिल रही प्रोत्साहन राशि

सुपौल। नीतीश सरकार के जन कल्याणकारी योजनाओं में प्रमुख कन्या विवाह योजना जिले में आकार ले रही है। शिविर आयोजित कर इस योजना का लाभ नव विवाहित कन्याओं को चेक के माध्यम से प्रति लाभुक पांच हजार रूपये दिया जा रहा है।


आइसीडीएस कार्यालय सुपौल से मिली जानकारी के अनुसार जिले के 11 प्रखंडों के लिए वर्ष 2015-16 के लिए इस योजना की कुल राशि 46 लाख रूपये आबंटित किया गया है। 

बसंतपुर प्रखंड के 150 लाभुक के बीच राशि का वितरण: इसी कड़ी में बसंतपुर प्रखंड के 14 पंचायत के लाभुकों के बीच कुल 150 लाभुक के बीच प्रोत्साहन राशि बांटी गई. प्रखंड विकास पदाधिकारी रचना भारतीय ने प्रत्येक लाभुक के बीच पांच हजार रूपये का चेक वितरित किया। चेक प्राप्त लाभुक हर्ष व्यक्त करते नीतीश सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया।

दहेज मुक्त शादी के लिए है प्रोत्साहन राशि: मौके पर मौजूद रचना भारतीय ने बताया कि इस योजना का लाभ गरीबी रेखा से नीचे गुजर बसर करने वाले जिसकी वार्षिक आय साठ हजार रुपया से कम हो और जो अपने बेटी का विवाह में दहेज का लेन-देन नहीं किया हो और वो बाल विवाह न हो ऐसे ही परिवार पांच हजार रुपए प्रोत्साहन राशि के हकदार होते हैं। दहेजमुक्त शादी के लिए यह एक प्रोत्साहन राशि है।

कई लाभुक हैं वंचित: योजना का दुखद पहलू है कि आज भी जिले के सैकड़ों लाभुक इस योजना से वंचित हैं। जिसकी शादी पांच वर्ष पूर्व ही हो चुकी है। वैसे लाभुक आज मां का भी दर्जा प्राप्त कर चुकी है। लेकिन आज तक वैसे लाभुक को योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। चकला निर्मली वार्ड नंबर 26 निवासी आशा कुमारी बताती है कि उसकी शादी पांच वर्ष पूर्व ही हुई थी। शादी के उपरांत कन्या विवाह योजना का आवेदन वह कर चुकी थी। इस दौरान वह दो बच्चे की मां भी है, लेकिन कार्यालय का चक्कर लगाते वह थक चुकी। जो योजना के लाभ से वंचित है। ऐसे कई विवाहित हैं जो आज भी योजना के लाभ से वंचित हैं।

खबर से सम्बंधित वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...