21 नवंबर 2017

‘दहेज़ लेना और देना दोनों अपराध है’: बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन अभियान



मधेपुरा जिले के शंकरपुर प्रखंड मुख्यालय स्थित कृषि कायांलय परिसर में  मंगलवार को बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन अभियान प्रथम चरण  के कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रखंड विकास पदाधिकारी आशा कुमारी ने किया । 


बीडीओ आशा कुमारी ने  कहा कि ऐसे कार्यक्रम से आमजनो में काफी जागरूकता आती है  साथ  ही  सरकार की महत्वपूर्ण पहल है. उन्होंने कहा कि दहेज़ लेना और देना दोनों अपराध है. परिसर में जन चेतना कला जत्था के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया  गया । इस अभियान के तहत  कला जत्था  के  माध्यम  से  गीत-संगीत एवं नुक्कड़ नाटक कर यह समझने का प्रयास किया कि कोई भी व्यक्ति बेटी को बोझ न समझे। और गीत के माध्यम से यह भी कहा कि लड़की की शादी 18 वर्ष से ऊपर और लड़के  की शादी 21 साल के बाद हीं करनी चाहिए।

कलाकार बिपिन बिहारी, रोहित नंदन यादव, नत्थन राम, नीतिश कुमार, विपिन कुमार, सोनेलाल कुमार, शैलेन्द्र यादव, दिलाकर, विकास, सपना कुमारी, प्रिया कुमारी, सुनीता, पूजा आदि थे जिन्होंने आम लोगों को यह कहकर संकल्प दिलवाया कि आज के बाद न तो  दहेज लेंगे और न ही दहेज देंगे. 

कार्यक्रम में मंच संचलान  प्रखंड समन्यक भीम शंकर सिंह ने किया। मौके पर बीडीओ आशा कुमारी के अलावे प्रखंड कृषि पदाधिकारी वैधनाथ साहू, पीएचसी के डा. एस एन घन, प्रखंड सांख्यिकी पदाधिकारी शैलेश चन्द्र मिश्रा, थानाध्यक्ष प्रसुजंय कुमार सहित कई ग्रामीण भी मौजूद थे।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...