21 सितंबर 2017

जिन श्रद्धालुओं पर चलती है दुकानदारी, उनके लिए ही परोसते हैं गन्दा

आज हिन्दूओं का महापर्व नवरात्रा का पहला दिन है । मधेपुरा जिले में चारों तरफ इस पर्व की चहल पहल दिखाई दे रही है ।

सिहेंश्वरवासी अहले सुबह उठ कर बाबा सिहेंश्वर नाथ के दर्शन कर नवरात्रि के पूजा अर्चना में मग्न हो जाते हैं । बिहार के इस प्रसिद्ध तीर्थ स्थल जहाँ कोशी, मिथिलांचल के साथ साथ नेपाल के श्रद्धालुओ की भारी भीड़ पहुचती है । लेकिन श्रद्धालुओं की  आस्था पर चोट उस समय लगती है मंदिर के आसपास के लोग ही मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं की राह में गंदे पानी जमा करते रहते हैं । मंदिर पहुचने वाले श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के नाग गेट के सामने स्थित होटलों और घरों का गन्दा पानी नाग गेट के पास जमा रहता है । जिसको पारकर श्रद्धालुओं को मंदिर पहुंचना पड़ता है । गंदे पानी से बदबू भी आती है, लेकिन न तो इन दुकानदारों को इसकी परवाह है और न ही मंदिर प्रशासन ही इसका कोई हल निकाल रहा है । मंदिर रोड के नाला को इन दुकानदारों के द्वारा अतिक्रमण कर लिये जाने के कारण वह अपने होटल का गंदा और जूठा पानी मंदिर के ही आगे बहा देते हैं । और तो और कई होटल वाले रात जमा जूठे पत्तल भी नाग गेट पर डाल आते हैं, जिसमें इनको थोड़ी भी शर्म नही आती है । 

इस बाबत सिहेंश्वर मंदिर न्यास के प्रबंधक उदय झा ने बताया कि बार बार समझाने के बावजूद दुकानदारों पर इस बात का कोई असर ही नहीं पड़ रहा है । डीडीसी साहब के पास भी यह मुद्दा उठाया गया है । इसके लिए अब मंदिर न्यास के द्वारा  कानूनी कार्रवाई के लिए थाना और अंचल से पत्राचार कर रही है । इस बाबत अंचलाधिकारी कृष्ण कुमार सिंह ने कहा ऐसा कोई पत्र आता है तो हम तुरंत उस पर कार्रवाई करेंगे । 

हालांकि मंदिर के पास सभी दुकानदार नाले को ऊँचा कर मजे से दुकान लगाते हैं । किसी को भी श्रद्धालुओं की कठिनाइयों से कोई लेना-देना नहीं है जबकि इन्हीं श्रद्धालुओ के कारण ही इनकी दुकानदारी चलती है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...