13 जून 2017

मधेपुरा: मोटरसायकिल लूट काण्ड में शामिल दो अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे

मधेपुरा में 8 जून की रात्रि में अनिल यादव पिता बेचन यादव साकिन तिलौरा थाना शंकरपुर जिला मधेपुरा लाल रंग की Apache मोटरसाइकिल से अपने घर लौट रहे थे.

जैसे ही वे बिरली एवं जीरवा के बीच कलवर्ट के पास पहुंचे तो दो व्यक्ति एक काले रंग के हीरो होंडा मोटरसाइकिल ऑवरटेक कर इनके गाड़ी को रुकवा दिए. एक व्यक्ति इनके मोटरसाइकिल से चाभी निकाल लिया तथा दूसरा व्यक्ति इन्हें थ्रीनट सटा दिया तथा उनके पास से रुपया एवं मोबाइल लेते हुए इनके मोटरसाइकिल को भी छीन लिया.

 मधेपुरा थाना में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मधेपुरा के एसपी विकास कुमार तथा एएसपी राजेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि इस संबंध में शंकरपुर थाना कांड संख्या 76 /17 दिनांक 9 जून 2017 धारा 392 आईपीसी दर्ज की गई. पुलिस अधीक्षक मधेपुरा के द्वारा घटना के उद्भेदन के लिए थानाध्यक्ष शंकरपुर, थानाध्यक्ष गम्हरिया एवं डी आई यू टीम के सिपाही अमर कुमार तथा अभिषेक कुमार को मिलाकर एक टीम का गठन किया गया. गठित टीम के द्वारा वैज्ञानिक अनुसंधान के सहारे जो साक्ष्य मिले उसके आधार पर आज सुबह गम्हरिया थाना अंतर्गत चिकनी फुलकाहा गांव से छापामारी कर नीतीश कुमार नाम के एक अपराधी को गिरफ्तार किया गया. पूछताछ के क्रम में उसने अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए इस घटना को कारित करने में अपने दूसरे साथी कुंदन कुमार का नाम बताया. इन्ही के निशानदेही पर कुंदन कुमार को भी गिरफ्तार किया गया तथा दोनों के बताए अनुसार इस कांड में लूटी गई मोटरसाइकिल भी बरामद कर ली गई. उक्त कांड के वादी के द्वारा अपराध कर्मियों पर ₹70000 लूटने का का आरोप लगाया गया था परन्तु पूछताछ के क्रम में अभियुक्त द्वारा बताया गया कि यह लोग केवल मोटरसाइकिल एवं मोबाइल लूटपाट किए हैं, गाड़ी की डिक्की में या वादी से ₹70000 नहीं लूटे गए हैं. अभी तक के अनुसंधान से यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि वास्तव में वादी से पैसा लूटा गया अथवा नहीं, इस बिंदु पर छानबीन की जा रही है.

गिरफ्तार दोनों अभियुक्त को जेल भेजा जा रहा है तथा घटना के उदभेदन हेतु गठित टीम में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत करने की कार्रवाई की जा रही है. उल्लेखनीय है कि गिरफ्तार अभियुक्त नीतीश कुमार पूर्व में भी गम्हरिया थाना कांड संख्या 187 /2015 अंडर सेक्शन 302 आईपीसी तथा गम्हरिया थाना कांड संख्या 48/16 अंडर सेक्शन 377 ऑब्लिक 400 आईपीसी तथा आर्म्स एक्ट में वांछित रहे हैं.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...