14 मई 2017

शराबबंदी को ले जांच अभियान शुरू: पहले दिन पकड़े गए 46 ओवर लोडेड वाहन

रविवार को अहले सुबह साढ़े चार बजे से मधेपुरा के जिलाधिकारी मु सोहैल के नेतृत्व में मानिकपुर से मुरलीगंज तक वाहनों की सघन जांच शुरू कर दी गई।

पुलिस और प्रशासन को जिस चीज की तलाश थी, वह तो नहीं मिल पाई, लेकिन कुल 46 वाहनों को ओवरलोड के आरोप में धर लिया गया।

दरअसल शराबबंदी कानून    के उल्लंघन करने वालों से परेशान प्रशासन को सीधे मुख्यमंत्री स्तर से कड़ी कार्रवाई का निर्देश मिला है।शराब को चोरी चोरी शराबियों तक पहुंचाने वाले कूरियर और इसके व्यवसाय करने वालों को सीधे जेल भेजने के लिए बड़ी व्यूह रचना भी की गई है।
 
इसी परिप्रेक्ष्य में रविवार को अहले सुबह जिलाधिकारी मु सोहैल, अनुमंडल अधिकारी एस के निराला, उत्पाद विभाग के पदाधिकारी, थाना अध्यक्ष मनीष कुमार सहित अन्य पदाधिकारी और पुलिसकर्मी सड़क पर आ गए। जांच के दौरान वाहनों की सघन जांच की गई। खासकर पान के पत्तों की ढेर और मछलियों से लदी वाहनों की जोरदार तलाशी हुई। लेकिन ऐसे वाहनों का भाग्य अच्छा था कि किसी वाहन पर कोई शराब नहीं मिली। दरअसल सरकार की इस कड़ाई की जानकारी सभी शराबबंदी तोड़कों को हो चुकी है और वे पूरी सावधानी बरतने लगे हैं।

बहरहाल सुबह नौ बजे तक जांच जारी रही और इस दौरान कुल 46 वाहनों को ओवरलोड के आरोप में पकड़ कर स्टेडियम मैदान में रखा गया है,जहां उनसे जिला परिवहन पदाधिकारी वाहन अधिनियम के विभिन्न प्रावधानो के तहत दंड शुल्क वसूली जाएगी। जिलाधिकारी ने बताया कि अभी यह अभियान जिले के विभिन्न इलाकों में भी जारी रहेगा।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...