05 अप्रैल 2017

मधेपुरा में रामनवमी शांतिपूर्ण संपन्न, प्रशासन ने ली राहत की साँस

इस बार रामनवमी का जुलूस अभूतपूर्व रहा। कई संगठनों के लोगों के साथ आम लोग और खासकर युवा स्वतः स्फूर्त भावना से जूलूस में शामिल होते गए और यह सब इतना जल्दी हुआ कि प्रशासन को भी पूर्वानुमान नहीं हो सका।
लेकिन हिन्दू संगठनों के नेतृत्व कर्ता और स्थानीय लोगों ने सहजता से जुलूस को सबसे संवेदनशील स्थल पर भी शान्ति से पास कराने में सफल रहे।
      तलवार, तीर कमान और अन्य पारंपरिक अस्त्रों से लैश युवा, लाठी भांजते युवा और जय श्री राम का नारा लगाते युवा भगवा झंडा फहराते एक अलग ही नज़ारा पेश कर रहे थे। लेकिन राम ,जानकी और हनुमान की मनोहारी झांकी बरबस वातावरण को भक्तिमय भी बना रही थी।
          पुलिस और प्रशासन ने अपनी व्यूह रचना का केंद्र शहर के मुख्य मार्ग पर स्थित बड़ी मस्जिद को बना रखा था। यहाँ ए एस पी राजेश कुमार ,एस डी ओ संजय कुमार निराला, सी ओ मिथिलेश कुमार और थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने डेरा ही डाल रखा था। यहाँ स्थानीय प्रमुख लोगों को भी आपात स्थिति के लिए आमंत्रित किया गया था। जुलूस जब यहाँ से गुजरी तो स्थानीय लोगों ने बढ़कर शांतिपूर्वक सबको लेकर आगे बढ़ते गए और फिर सबने शांति की साँस ली।
      जुलूस का नेतृत्व कर रहे बजरंग दल के संजय सागर, बव्वाजी, श्री कृष्ण सेना के राहुल यादव, भाजपा के अरविन्द कुमार अकेला, दिलीप सिंह, अन्केश गोप, जटा शंकर दास सहित अन्य लोग और स्थानीय रविन्द्र यादव, आभास आनंद झा, ध्यानी यादव, गणेश गुप्ता, बिशुनदेव यादव, मु कारी ,अशोक यदुवंशी आदि ने शान्ति पूर्ण जुलूस सञ्चालन में भरपूर सहयोग दिया।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...