22 अप्रैल 2017

मधेपुरा में फसल बर्बादी का अधिकारियों ने किया विभागीय निरीक्षण

कृषि विभाग के अधिकारियों ने मधेपुरा जिले के विभिन्न गांवो में जाकर असमय हुई ओला वृष्टि और बरसात से हुई फसल क्षति का मुआयना किया।

जिला कृषि पदाधिकारी यदुनंदन प्रसाद के नेतृत्व में  गई टीम ने  गेहूं और मक्के की फसल का निरीक्षण किया।

विभागीय जानकारी दी गई है कि जिले में अभी भी गेहूं की लगभग तीस प्रतिशत फसल खेतो में लगी हुई है जबकि कटी हुई फसल भी थ्रेसिंग के इंतजार में और कटी हुई फसल भी खेतो में बिखरी पड़ी है। कई स्थल पर बोझा बंधी निचली सतह पर रखी गेहूं में अंकुर भी निकालने लगे हैं।यह फसल की बरबादी है। यह भी बताया गया कि मक्के की फसल की बरबादी अपेक्षाकृत कम हुई है। इन सबका प्रतिवेदन बना कर भेजा जा रहा है। आपदा विभाग को इस बारे में मुआवजे का निर्णय लेना है।
 
ज्ञातव्य है कि मौसम विभाग के अनुसार चौबीस अप्रैल तक मौसम का मिजाज़ ऐसा ही रहेगा और इस दौरान कभी भी बूंदाबांदी और आंधी आ सकती है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...