26 अप्रैल 2017

एसबीआई पर ग्राहकों ने लगाया उनके ही रूपये देने से आनाकानी का आरोप

मधेपुरा जिले के एसबीआई सिंहेश्वर में खाताधारकों को  रोजमर्रा के पैसे निकालने के लिए भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बैक में पैसा देने मे आनाकानी के कारण परेशान खाताधारकों ने एसबीआई के आगे सड़क जाम कर दिया।

हालांकि बाद में एसबीआई के मैनेजर द्वारा पैसे दिये पर लोगों ने तोडा जाम । जानकारी के अनुसार एसबीआई द्वारा नगद राशि देने में आनाकानी से परेशान खाताधारकों ने बताया कि बैक से अपना ही पैसा निकालने के लिए बैंक मे दिन भर बैठे रहने के बावजूद पैसा नहीं मिलता है ।

नगद राशि नही देने का बनाया जाता है बहाना: खाताधारक बताते हैं कि बैक में अपना ही पैसा लेने के लिए घंटो परेशान होने के बाद उन्हें ग्राहक सेवा केन्द्र से पैसा लेने की बात अधिकारी कहते हैं । लोगों ने बताया बैंक ने पहले तो खाता खोल दिया अब कभी नगद नही देगे तो कभी अंगूठा लगाने वाले को ग्राहक सेवा केन्द्र से पैसा लेने के लिए भेज कर परेशान करने की मंशा रहती है । एक खाताधारी संजू देवी ने बताया कि हम लोग दूर गांव से आते हैं. दो माह से निकासी का फार्म नही देता है । हम लोग 5 रूपया मे बाहर से फार्म खरीद कर निकासी के लिए भरते हैं । उसके बाबजूद बैक पैसा देने में आनाकानी करता है ।

व्यवसायी प्रकाश चंद्र जयसवाल बताते शाखा प्रबंधक बैंक में  तानाशाही रवैया अपनाते हैं । चेक लेकर जाने वाले वयवसायीयो का भुगतान नही करते है । एटीएम से पेमेंट करने की बात करते हैं।

क्या कहते हैं बैक अधिकारी : एसबीआई के ब्रांच मैनेजर संजीव रंजन दास ने बताया कि राशि नही देने और परेशान करने  का आरोप बेबुनियाद हैं । उन्होंने कहा एक हफ्ते में 272 लोगों को साढ़े सात करोड़ का भुगतान किया है । अंगूठा लगाने वाले खाताधारकों के सुविधा के लिए दो सीएसपी को बैक में समय दिलवाता हूँ ताकि अंगूठा लगाने वाले का भुगतान सीएसपी के द्वारा हो सके । 

एटीएम से हो पैसो का ट्रांजेक्शन:  एसबीआई के बीएम ने बताया कि जानकारी के अभाव में लोग एटीएम से पैसा ट्रांसफर करने के जगह एटीएम से पैसा निकाल कर बैक में आकर पैसा भेजते हैं । जो पूरे दिन के लिए उबाऊ हो जाता है, जिसके कारण लोग परेशान रहते हैं ।

व्यवसायियों के लिए है अलग काउंटर :-  बीएम श्री दास ने बताया कि हमारे यहां स्थिति में काफी सुधार हुआ है । हमने व्यवसायी के लिए अलग काउंटर बना कर उसका दायित्व रौशन कुमार को दिया गया है । ताकि व्यवसायियों का जमा और भुगतान में विलंब न हो । आम लोगों के लिए चार चार क्लिनिकल स्टाफ महेंद्र कुमार, अरूण कुमार,मंगल कुमार और पंकज कुमार एकल खिडकी संभालते हैं ।

 महिलाओं के लिए भी है व्यवस्था:  बीएम श्री दास ने बताया कि हमारे यहा महिलाओं को कोई असुविधा नही हो इसके लिए दो महिला कर्मी भी नियुक्त है । 

फोटो कापी वाला फॉर्म पर नही होता है भुगतान:  दो माह से निकासी फार्म नही रहने की बात पर बीएम श्री दास ने कहा निकासी फार्म की कमी नहीं है । फोटो कापी का उपयोग बैक में नही होता है । ऐसा करने वाले कर्मी पर कानूनी कारवाई की जायेगी ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...