06 मार्च 2017

कुलपति का पुतला दहन: सेमिनार के नाम पर भगवा राजनीति का आरोप

मधेपुरा के सिंहेश्वर में राष्ट्रीय सेमिनार के नाम पर भगवा राजनीति के खिलाफ  बी० पी० मंडल चौक के सामने एआईएसएफ ने बीएनएमयू के कुलपति का पुतला दहन किया.

      विगत 3 मार्च को सिंहेश्वर के राम जानकी ठाकुरबाड़ी परिसर में बीएन मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा के सहयोग से आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार को भगवा रंग से रगने का आरोप लगाते उसके खिलाफ आज यहां एआईएसएफ ने किया कुलपति का पुतला दहन.  एआईएसएफ के जिला अध्यक्ष वसीम उद्दीन उर्फ़ नन्हें ने कहा कि राष्ट्रीय सेमिनार में एक राजनीतिक दल के पक्ष में जमकर राजनीति किया गया. छात्रों की बजाय किसी पार्टी एवं नेता को महिमा मंडित किया गया. कुलपति द्वारा सिंहेश्वर मंदिर न्यास समिति को आजीवन सिनेट सदस्य मनोनीत करने की घोषणा दूसरे संप्रदाय विशेष के लोगों को आघात पहुंचाना है. छात्र नेता ने कहा कि सेमिनार में दूसरे किसी राज्य के प्रतिभागी नहीं आए. विश्वविद्यालय प्रशासन या जिला प्रशासन सहयोग किया.  शिक्षा मंच की बजाय राजनीति एवं धार्मिक मंच क्यों बनाया गया? दर्शन को दरकिनार कर रुद्राभिषेक किया गया.
     उन्होंने कहा कि कुलपति को स्पष्ट करना चाहिए कि विश्वविद्यालय की गरिमा क्यों बेची गई? भारत सरकार के मंत्री एवं भाजपा नेता रामकृपाल यादव कौन से शिक्षाविद् हैं. शोध प्रस्तुत करने वाले शोधियों को सम्मानित करने के बहाने भाजपा एवं संघ परिवार की राजनीति क्यों की गई? उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में आरएसएस के घटक सक्रिय थे.इस सेमिनार में सरकारी तंत्र का दुरुपयोग किया गया.  एआईएसएफ इस कृत की निंदा करते हुए इसकी उच्च स्तरीय जांच की मांग करती है.
 इस अवसर पर मौजूद मोहम्मद शमीम, मिंटू कुमार, ओमकुमार, मोहम्मद शमशाद, गोलू कुमार, इरशाद असुद्दीन, बिट्टू, संतोष कुमार, शंकर कुमार, रामकृष्ण, अखिलेश, बच्चन, सोनू, पुष्पराज, दीपक आदि छात्र नेता मौजूद थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...