22 दिसंबर 2016

आपदा मंत्री प्रो० चन्द्रशेखर मिले गृह राज्य मंत्री से, मेमोरेंडम की राशि की शीघ्र मांग की

बिहार के आपदा मंत्री और मधेपुरा के विधायक प्रो० चन्द्रशेखर ने आज नई दिल्ली में भारत सरकार के गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू से मुलाकात की

 मुलाकात में उन्होंने बाढ़ में हुए क्षति के आलोक में पूर्व में भेजे गए मेमोरेंडम के द्वारा मांगी गई राशि जल्द दिलवाने की मांग की. बिहार के आपदा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर ने गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू को सूचित करते हुए बताया कि 1 अप्रैल 2016 को आपदा हेतु रिस्पांस कोष में 1408. 43 करोड़ रूपये उपलब्ध थे.  2016-17 में प्रथम क़िस्त के रुप में सिर्फ 184.50 करोड़ केन्द्रांश के रुप में प्राप्त हुआ जिसमें राज्यांश की राशि 61.50 करोड़ शामिल किए जाने के बाद कुल राशि 246.00 करोड़ क्रेडिट किया गया. इस प्रकार राज्य आपदा रेस्पोंस कोष की उपलब्ध राशि 1654.43 करोड़ हो गई. एसडीआरएफ की दूसरी क़िस्त के रूप में केन्द्रांश की राशि 184.56 करोड़ प्राप्त हुए हैं और राज्यांश की राशि 61.50 करोड़ शामिल कर क्रेडिट किये जाने कोई कार्यवाही की जा रही है. इसके बाद एसडीआरएफ की कुल राशि 1900.43 करोड़ हो जायेगी.
      मधेपुरा टाइम्स को दी गई जानकारी में आपदा मंत्री ने बताया कि उक्त उपलब्ध राशि में से मुख्यत: बाढ़ एवं विभिन्न आपदाओं से निपटने के लिए इस वर्ष राशि उपलब्ध कराई गई है. व्यय के उपरान्त कुल 1091.51 करोड़ रूपये राज कार्यकारणी समिति के अनुमोदन के बाद डेबिट करने के कार्रवाई हेतु महालेखाकार बिहार पटना को भेजा जा चुका है. वर्तमान वित्तीय वर्ष में विभिन्न विभागों को एसडीआरएफ के अनुमोदित मनु के अंदर आवंटित की गई राशि में व्यय के उपरांत शेष राशि का व्यय प्रतिवेदन प्राप्त करने के लिए एक समय सीमा के अंतर्गत कार्यवाही प्रस्तावित है. इस वर्ष की बाढ़ विभीषिका में हुई क्षति के आलोक में तत्काल पुनर्स्थापन हेतु आधारभूत संरचना से संबंधित विभागों को 600 करोड रुपए देने की कार्रवाई की जा रही है जो आवश्यकतानुसार अपर्याप्त है. इसके अतिरिक्त कृषि इनपुट अनुदान, गृह क्षति इत्यादि में भी राशि आबंटित की जा रही है. वित्तीय वर्ष 2016-17 की समाप्ति में अभी तीन माह शेष है तथा इस अवधि में भी विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं में राशि की आवश्यकता होगी.
        ऐसे में बिहार राज्य के आपदा मंत्री ने गृह राज्य मंत्री से आपदा रिस्पांस कोष की  अद्यतन अवशेष राशि में से उपर्युक्त कार्य हेतु राशि की कमी हो जाने की बात कही है और बताया कि इसके परिणाम स्वरुप तटबंद सुरक्षा एवं अन्य आधारभूत संरचना से संबंधित पुर्नस्थापन का कार्य प्रभावित होगा जिसका प्रतिकूल प्रभाव आने वाले वर्ष में जनमानस पर पड़ेगा. आपदा मंत्री प्रो० चंद्रशेखर ने भारत सरकार के गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू से अनुरोध किया है कि बाढ़ तथा 2016 में हुए क्षति के आलोक में भेजे गए मेमोरेंडम में अधियाचित राशि की प्रतिपूर्ति यथाशीघ्र करवाई जाए जिससे बिहार में  आपदा के मामले में किसी अन्य कठिनाई का सामना ना करना पड़े.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...