11 सितंबर 2016

सिंहेश्वर मंदिर में भारी भीड़: श्रद्धालु होते रहे परेशान, पुलिस फरमाती रही आराम

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर मंदिर में आज भादो के अंतिम मकर को लेकर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण पूरा सिंहेश्वर अस्त व्यस्त रहा. भीड़ का आलम यह था कि आधी रात से शुरू हुई बारिश में भीग-भीग कर बाबा भोलेनाथ पर जलाभिषेक के लिए आते रहे.
     हालांकि सुबह तक चली बारिश के कारण सुबह 10 बजे तक सामान्य भीड़ ही थी जो प्रशासन के नियंत्रण में था. लेकिन अचानक ही भीड़ बढने लगी और पुलिस प्रशासन के लापरवाही के कारण ही भीड को नियंत्रित नही किया जा सका. चाहे नाग गेट हो या बाय पास हो या मेन रोड के पास तैनात पुलिसकर्मी हो, आराम फरमाते दिखे. नाग गेट के पास ने बीच रोड को जाम कर फलवाले ठेला लगा कर फल बेचते रहे और उन्हें हटा कर साईड भी करवाना मुनासिब नहीं समझा. हर मोर्चे पर तैनात पुलिस अपने लिये कही न कही आरामगाह तलाश कर आराम फरमाते दिखे.
    वहीँ सुबह 10 बजे के बाद श्रद्धालुओं की भीड़ लगातार बढ़ती गई 12 बजते-बजते मंदिर और बाजार में तिल रखने की जगह नहीं था. भीड़ को नियंत्रित करने की जगह कुछ पुलिस कर्मी पीपुल्स फ्रेंडली के दावे ठोकर मारते हुए आम लोगों के साथ अभद्र व्यवहार करने में कोई कमी नहीं छोड़ रहे थे. हद तो तब हो गई जब बाय पास हो कर अपनी बाइक से पीएसएस सिंहेश्वर जा रहे बिजली विभाग के जेई के साथ एक पुलिस वाले ने अभद्र व्यवहार कर दिया.
     गर्भ गृह मे कई श्रद्धालुओं के सोने की चेन की चोरी भी हो गई. मघेपुरा निवासी प्रिंस गौतम ने बताया मेरा लगभग डेढ़ लाख रुपये का सोने का चेन किसी ने खींच लिया. वहीं स्काउट गाईड के लडकों ने एक महिला पाकेटमार को एक श्रद्धालु का 3500 रूपया निकालते समय पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...