09 सितंबर 2016

आपत्तिजनक स्थिति में स्कूली छात्रा के साथ मनचलों को शिक्षक ने पकड़ा, पुलिस ने छोड़ा

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर प्रखंड में इनदिनों मजनूगिरी चरम पर है. हद तो तब हो जाती है जब ये मजनू सार्वजनिक स्थान पर भी अपनी आशिकी दिखाने से बाज नहीं आते हैं जो साभ्रांत लोगों को नागवार गुजरता है. पर क्या हो जब इनकी आपत्तिजनक हरकत की शिकायत आम आदमी पुलिस से करे और पुलिस इन्हें बाइज्जत रिहा कर दे. जाहिर है ऐसे में ऐसी हरकतें बढती ही जायेगी. कुछ ऐसी ही घटना आज सिंहेश्वर प्रखंड में हुई.
    मिली जानकारी के अनुसार सिंहेश्वर के रमाणी टोला के एक युवक और लालपुर सरोपट्टी के एक युवक योजना बना कर स्थानीय तीन स्कूली छात्रा को मौज-मस्ती के लिए घुमाने सुपौल जिले गणपतगंज के विष्णु मंदिर ले गया. मनचले सुबह स्कूल के बहाने निकली लडकी को ऑटो रिजर्व कर मंदिर ले गए ताकि मौज मस्ती के बाद 4 बजे तक वापस घर पहुंच सके. गणपतगंज से लौटने के क्रम एक स्थानीय शिक्षक ने उनमें से एक लडके और लड़की को आपत्तिजनक स्थिति में देख कर बुढावे पुल के पास ओटो को रूकवाया तो उन्होंने सारी बातें कुछ देर में उगल दिया.
     थाना को खबर कर शिक्षक ने तीनों लड़कियों और दोनों लड़कों को उन्हें सुपुर्द कर दिया. लेकिन थाना में माया ने अपना रंग दिखाया और मजनूओं की वकालत में कई सफेदपोश नेता और जनप्रतिनिधि थाना पहुंचे तो फिर आगे आप समझ सकते हैं. दोनों मजनूओं को फ़ौरन आजादी मिल गई.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...