10 जून 2016

मधेपुरा: नगर परिषद् की सुधि लेने निकले जिलाधिकारी, क्या बदलेगी सूरत?

अपनी घटिया सेवा के लिए कुख्यात और ‘बिहार बोर्ड के टॉपर्स’ की तरह थोथी दलील देने वाले मधेपुरा नगर परिषद को वैसे तो सुधारना काफी मुश्किल है, पर कभी-कभार इसके इलाज के प्रयास के लिए अधिकारी सामने आ ही जाते हैं.
    मधेपुरा नगर परिषद् में कल खुले नाले में एक स्कॉर्पियो के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद जब नगर परिषद् के अधिकारी, जनप्रतिनिधि और कर्मचारियों की कार्यशैली पर सवाल उठे तो आज मधेपुरा के जिलाधिकारी खुद नगर परिषद् क्षेत्र की कमियों का निरीक्षण करने निकले. कई जगह निरीक्षण के बाद उन्होंने नगर परिषद् के हालात पर असंतोष व्यक्त किया और नालों की नियमित सफाई और सभी ढक्कनों को ठीक तरह से लगाने के निर्देश दिया.
    नालों में पानी की आवाजाही बंद होने के सवाल पर उन्होंने नालों को पास की नदी में जोड़ने का अभी आदेश दिया.
    अब देखें कि नगर परिषद् के नालों की तरह जाम जनप्रतिनिधियों की मानसिकता कब साफ़ हो पाती है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...