09 जनवरी 2018

ऐतिहासिक होगी सुपौल में मानव श्रृखंलाः सुपौल डीएम

सुपौल। जिले में दहेज उन्मूलन एवं बाल विवाह जैसे कुरीतियों को समाप्त करने के लिए बनाए जाने वाले मानव श्रृंखला को ऐतिहासिक बनाने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है। 


इसी सिलसिले में सुपौल के टीसीपी भवन में जिलाधिकारी वैद्यनाथ यादव ने मंगलवार को जिले के तमाम अधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की है।  

बैठक में जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए बताया कि 21 जनवरी को आयोजित की जाने वाली मानव श्रृंखला सुपौल जिले में 334 किलोमीटर लंबी होगी। इसके लिए मार्गो का चयन कर लिया गया है।

इन मार्गों में रहेगी मानव श्रृंखला: जिले के एसएच 91 पर 51 किलोमीटर, एनएच 327 ई पर 75 किलोमीटर, एनएच 106 पर 39 किलोमीटर, एनएच  57 पर 48 किलोमीटर, पुनः एनएच 57 पर निर्मली मोड़ से मझारी होते हुए सरायगढ़ भपटियाही तक 23 किलोमीटर, वहीं एनएच 327 ई सरायगढ़ भपटियाही किशनपुर मार्ग पर 25 किलोमीटर, सुपौल-हरदी चैराहा होते हुए मधेपुरा जिला की सीमा तक 18 किलोमीटर, जबकि एस एच 91 के मुख्य मार्ग में छातापुर चुन्नी होते हुए सोहटा तक 17 किमी, सुपौल-सहरसा पथ में परसरमा से लौकहा तक 7 किलोमीटर, प्रतापगंज से टेकुना, सुरजापुर एवं छातापुर तक 10 किलोमीटर, राजेश्वरी थाना से एसएच 91 तक 11 किलोमीटर और किशनपुर मेहासिमर गणपतगंज एनएच 106 तक 10 किलोमीटर तक लंबी मानव श्रृंखला बनाया जाएगा।

डीएम ने बताया कि जिले के 11 प्रखंड,दो नगर पंचायत एवं एक नगर परिषद क्षेत्र मानव श्रृखंला से जुड़ेगें जिसके लिए व्यापक तैयारी की जा रही है। इसी कड़ी में 09 जनवरी से लेकर 20 जनवरी तक का रोडमैप तैयार किया चुका है।

21 जनवरी से पूर्व होंगे कई कार्यक्रम: मानव श्रृंखला की सफलता के लिए डीएम ने संबंधित अधिकारियों को कई निर्देश जारी किया है। इसके तहत प्रखंड स्तर से लेकर पंचायत स्तर एवं विद्यालयों में बैठक करने का निर्देश दिया है। वहीं कार्यक्रम को लेकर साइकिल रैली, प्रभात फैरी, मोटर साइकिल रैली, पतंग उड़ाओ प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता, मेंहदी, रंगोली एवं कबड्डी प्रतियोगिता के आयोजन को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिया है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...