23 नवंबर 2017

एक्यूट फ्लैसीड पैरालिसिस पर कार्यशाला में दी गई कई जानकारियाँ

मधेपुरा जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शंकरपुर में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के वेश्म में एक्यूट फ्लैसीड पैरालिसिस की कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें प्रखंड क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न गांवों में सेवा प्रदान कर रहे करीब तीस ग्रामीण चिकित्सकों ने भाग लिया.

इस कार्यशाला की अध्यक्षता कर रहे डॉ० एस.एन घन ने लोगों को बताया कि अब पोलियो का कोई केस नही मिल रहा है फिर भी इसपर गहन निगरानी की आवश्यकता है ताकि पोलियो के फिर से नये केस नहीं मिले. कार्यशाला में भाग ले रहे प्राथमिक स्वास्थ्य प्रबंधक डॉ० प्रमोद कुमार ने बताया कि पोलियो के साथ मीजिल्स , डिप्थीरिया , टेटनस , काली खांसी तथा कालाजार के नये केस मिलने पर ग्रामीण चिकित्सक दूरभाष के माध्यम से जिले के मुख्य स्वास्थ्य केंद्र पर अवश्य खबर करें ताकि ससमय लोगों को सेवा प्रदान की जाऐगी. 

कार्यशाला में लोगों को विश्व स्वास्थ्य संगठन मधेपुरा के निगरानी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ० आशीष कुमार ने ग्रामीण चिकित्सकों को एएफपी (Acute Flaccid Paralysis) के बारे में प्रशिक्षित कर जागरूक किया. डा० आशीष कुमार के सहायता के लिए मो०अरशद अली ने भी सहायता प्रदान किया. मौके पर डॉ० सुनील कुमार हासदा, लेखापाल सागर कुमार, कार्यपालक सहायक सुमन कुमार, ज्योति कुमार सिन्हा, प्रयोगशाला सहायक आदि स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...