31 अक्तूबर 2017

हाई कोर्ट के ‘समान काम के लिए समान वेतन’ के फैसले पर शिक्षकों में जश्न

आज माननीय उच्च न्यायालय, पटना ने "समान काम के लिए समान वेतन " की मांग को लेकर विभिन्न शिक्षक संगठनों द्वारा दायर याचिका की सुनवाई के बाद अपना फैसला सुना दिया. फैसला शिक्षकों के पक्ष में आया है. लिहाजा बिहार के करीब चार लाख नियोजित शिक्षकों में हर्ष व्याप्त है.


उक्त मौके को आज मधेपुरा जिलान्तर्गत चौसा प्रखंड में अंचल प्राथमिक शिक्षक संघ, बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ, टीईटी शिक्षक संघ और बिहार प्रारंभिक शिक्षक संघ से जुड़े शिक्षकों ने विजय दिवस के रूप में मनाया. शिक्षकों ने जमकर पटाखे फोड़े तथा एक दूसरे को गुलाल लगाकर बधाईयाँ दी. ये लोग आपस में एक-दूसरे को मिठाईयां खिलाकर सुखद भविष्य की कामना भी किये. सभी शिक्षक प्रतिनिधियों ने एक स्वर में कहा कि आज न्याय की जीत हुई. न्यायपालिका ने बिहार के चार लाख नियोजित शिक्षकों को शोषण से मुक्ति दिलाने का काम किया है. शिक्षकों ने माननीय उच्च न्यायालय के प्रति आभार भी प्रकट किया. 
मौके पर वरीय बीआरपी ओमप्रकाश पर्वे, अंचल प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष यहिया सिद्दीकी, संजय कुमार सुमन, टीईटी शिक्षक संघ के अध्यक्ष भालचंद्र मंडल, बिहार प्रारंभिक शिक्षक संघ के सचिव प्रणव कुमार, शिक्षक सत्यप्रकाश भारती, सुभाष पासवान, जवाहर चौधरी, फैयाज अहमद, राजेश कुमार, कुमार राजीव रंजन, मंसूर नदाफ, अनवार आलम, मामून रशीद, समरजीत कुमार, विजय कुमार, राजीव कुमार अग्रवाल, निरंजन कुमार, उमेश यादव, शिक्षिका बिन्दु कुमारी, रेणु कुमारी, रेखा कुमारी, रीणा कुमारी, श्वेता कुमारी, रानी कुमारी तथा माला कुमारी कंचन सहित बड़ी संख्या में अन्य शिक्षकगण उपस्थित थे. 
                                                          

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...