10 अक्तूबर 2017

मधेपुरा: मेडिकल टीम शंकरपुर में डायरिया के रोगियों की कर रही है लगातार जांच

मधेपुरा जिले के शंकरपुर प्रखंड के बेहरारी पंचायत में मंगलवार को गुहिया टोला वार्ड 2 एवं 3 और गिद्धा पंचायत के वार्ड नंबर 3 में चिकित्सा पदाधिकारी डॉ० विनायक कुमार के नेतृत्व में मेडिकल टीम लगातार जांच कर रही है. 

सोमवर की रात्रि को भी रात भर मेडिकल टीम तीनों वार्ड मे घूम-घूम कर जाँच करते नजर आये. मंगलवार को भी गुहिया टोला में 1 बजे तक जाँच में तीन नये मरीजों में डायरिया का लक्षण सामने आया, जिसे समुचित इलाज कर उचित दवाई दिया गया. मालूम हो कि शुक्रवार से ही इस महादलित टोला में डायरिया पांव पसारे हुआ था. डायरिया से अभी तक इस टोला में दो की मौत भी हो चुकी है. इस बाबत जांच कर रहे डॉक्टर सतीश कुमार ने बताया कि मंगलवार को गुहिया टोला वार्ड नंबर तीन में तीन नये मरीज मनीष कुमार, प्रणव कुमार और सुलेखा देवी मिली, जिसे स्लाइन दिया जा रहा है. पूर्व से पीड़ित लोग स्वस्थ हो रहे हैं. वहीं कुछ लोग अपने मरीज़ को बाहर ले जाकर भी दिखा रहे हैं. 

वहीं लोगों का कहना है कि कुछ टोला के लोग को मना करने पर भी मछली मारने से बाज़ नहीं आ रहे हैं. उलटे कहने पर गाली-गलौज करने लगते हैं. वहीं डॉक्टर ने सभी मरीजों को उचित दवा देकर ताजा भोजन करने गरम पानी पीने, भोजन को ढक कर रखने, मछली नहीं खाने, आस पास साफ सफाई करने की सलाह दी है. उन्होंने बताया कि प्रशासनिक स्तर पर चूना और ब्लीचिंग पाउडर आस-पड़ोस और गांव टोला में दिया जा रहा है. कुछ लोगों की मांग है कि मछली मारने वाले पर प्रशासन कोई कार्रवाई करेंगे तभी मछली मारना ये लोग बंद करेंगे. अभी भी इस गांव में डायरिया का भय बना हुआ है. 

टीम में एएनएम मंजू कुमारी, रघुवेन्द्र कुमार, राजेश कुमार, प्रखंड एयर इंडिया मनोरंजन कुमार, दीपक कुमार एवं योग प्रचारक उपेन्द्र कुमार, छविलाल सरदार, सेविका आदि मौजूद हैं. वहीं डायरिया प्रभावित क्षेत्र में शाम करीब पांच बजे जिला मेडिकल टीम डीआईओ डॉक्टर ए.के. वर्मा के नेतृत्व में शीत श्रृंखला प्रबंधक आलोक कुमार, पीएचसी शंकरपुर और बीएचएम प्रमोद कुमार प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किये और इलाज के सही संचालन में पीएचसी शंकरपुर द्वारा लगाये गये मेडिकल टीम की जांच भी किये.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...