30 अप्रैल 2017

'एक तरफ थी बेटी की शादी तो दूसरी तरफ पल पल मौत की तरफ बढ़ती बेटे की जिंदगी'

मधेपुरा जिले के सिंहेश्वर विधायक डा. रमेश ऋषिदेव ने दुर्घटना में मारे गए मृतक ऋषभ कुमार और असामयिक मृत्यु के शिकार इंजीनियर आशीष जायसवाल के परिजनों से भेट कर सांत्वना दी।

उस समय लोग भावुक हो गए जब उनके पिता सचिदानंद चौधरी ने पुत्र के बारे में विधायक को बताते वे रो पडे । मालूम हो कि सचिदानंद चौधरी को एक पुत्र था और एक पुत्री है । पितृधर्म का पालन करते हुए दोनों को पढाया लिखाया और बेटा को इंजीनियर बनाया । लेकिन कुछ ही दिन नौकरी के बाद अचानक ही सन्नी की बीमारी का पता चला । पिता पर तो जैसे आसमान ही टूट कर गिर गया । एक तरफ पुत्री की शादी तो दूसरी तरफ पल पल मौत की तरफ बढती बेटे की जिंदगी । उस पिता इसे कैसे सहा होगा इसकी कल्पना सहज ही की जा सकती है । मालूम हो कि 28 अप्रैल को उनकी पुत्री की शादी सुपौल जिला के सुखपुर के दंत चिकित्सक के साथ तय थी । सन्नी की 25 अप्रैल को अचानक तबियत बिगडऩे से ना चाहते हुए भी समाज के दबाव के कारण आनन-फानन में 25 अप्रैल को ही अपनी बच्ची खुशबू की शादी करनी पड़ी। लड़के वाले ने भी सहृदयता का परिचय दिया और वे पहले आ गए.
खुशबू की शादी में सिंहेश्वर के समाज के सैंकड़ों लोग शामिल थे. इसके लिए उन्होंने अपने समाज को धन्यवाद दिया कि उनकी गैर मौजूदगी में उसकी पुत्री की शादी धूमधाम से कराया । और फिर ह्रदय की गंभीर बीमारी ने बेटे को 26 अप्रैल को हमेशा के विदा कर दिया.

उसके बाद विधायक बारात की गाड़ी को बैक करने के क्रम में हुई दुर्घटना में मौत के शिकार ऋषभ के परिजनों से मिलने पहुंचे और आपदा की राशि के लिये सीओ को आदेश दिया । मौके पर सेवा दल के जिलाध्यक्ष दीपक यादव, राजद प्रखंड अध्यक्ष कार्तिक यादव, भुवनेश्वरी यादव, बबूल ऋषिदेव, सुबोध ठाकुर, गुलशन कुमार, राकेश सिंह आदि मौजूद थे ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...