04 दिसंबर 2016

व्यापारी के गोदाम में लगी भीषण आग, 7 लाख से अधिक के अनाज बर्बाद

मधेपुरा जिले के मुरलीगंज प्रखंड अंतर्गत पचगछिया वार्ड नंबर 14 में शनिवार की बीती रात नरेश साह गल्ला व्यापारी के धान के गोदाम में आग लग गई जिसके कारण  गोदाम और उसमें  रखे फसल बर्बाद हो गए.
बताया गया कि गेहूँ 30 बोरा, धान 800 बोरा, मकई 21 बोरा, पटसन 25 क्विन्टल, 3 बोरा मूंग पूरी तरह खाक हो गया. गोदाम में रखे धान, गेहूं, मकई,  मूंग एवं फर्नीचर के सामान जलकर राख के  ढेर में तब्दील हो गये. प्राप्त जानकारी अनुसार शनिवार की देर रात लगभग 12:45 बजे आग लगी और देखते ही देखते आग की लपटे तेज़ हो गईं. आग लगने की हल्ला सुन आसपास के ग्रामीण इक्कठा हो कर आग बुझाने लगे. घटना की जानकारी मधेपुरा अग्निशमन को दी गयी. मौके पर मधेपुरा की दो और उदकिशनगंज के एक दमकल ने आग को बुझाई.
     आग लगने के सम्बन्ध में पीड़ित ने बताया कि आपसी विवाद के कारण आग लगाई गई है. उन्होंने बताया कि हमलोग सो रहे थे तभी कुछ जलने का आभास हुआ तो हमलोग हड़बड़ा कर उठे और टॉर्च जला कर देखे तो देखा कि दो मोटरसाइकिल पर सवार होकर आये छह लोगो को गोदाम को किरासन तेल और पेट्रोल डालकर आग लगाकर भागते देखा. उन्होंने बताया कि चार व्यक्ति के खिलाफ मुरलीगंज थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई गई है. उन्होंने बताया कि जिन लोगों पर आगजनी का आरोप लगाया गया है उनके साथ अग्नि पीड़ित व्यवसायी  का साझेदारी में  कारोबार वर्षों से चल रहा था. एक  दूसरे पर गबन का आरोप प्रत्यारोप चल रहा था समाजिक स्तर पर विवाद को सुलझाने का प्रयास भी किया गया था, जो कि आपसी विवाद होने के कारण दोनों अलग अलग हो गए हैं. लेकिन इन दोनों के बीच लेन देन का मामला पिछले कई दिनों से लंबित था.  
    पीड़ित ने बताया कि उसी लेन-देन के विवाद के कारण वह बार-बार हमें धमकी दे रहे थे कि आप के गोदाम को आग लगा दूंगा और उन्होंने ने ही  मेरे गोदाम को आग के हवाले किया. बताया कि आग से जलकर 7 लाख 64 हजार 200 की क्षति हुई है. इस घटना के संबंध में मुरलीगंज थाना अध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि इस घटना की जाँच पड़ताल की जा रही है. जाँचो उपरांत अभियुक्तों कानूनी कार्रवाई की जायगी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...