26 जून 2016

मधेपुरा: दो पक्षों में जम कर चली तीर और गोलियां

मधेपुरा जिला के चौसा थाना के कलासन में जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच जमकर गोलियां एवं तीर चलाई गयी. जिससे आधे दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए. घटना को लेकर एक पक्ष द्वारा चौसा उदाकिशुनगंज राजकीय उच्च पथ 58 को घंटो जाम कर आवागमन को प्रभावित किया गया.. बाद में चौसा पुलिस द्वारा काफी समझाने बुझाने के बाद जाम को हटाया गया.
          बताया जाता है कि राजेश्वर यादव, जयकृष्ण यादव, नोखेलाल यादव, अर्जुन यादव और अनंत जायसवाल के बीच वर्षो से जमीन विवाद चल रहा है. जमीन विवाद के कारण ही बीते शनिवार को अचानक अनंत जायसवाल, मोनू जायसवाल और रौशन जायसवाल अपने दर्जनों समर्थको के साथ हरवे हथियार को लेकर दूसरे पक्ष के लोगों के घर पर पहुंच कर घर को तोड़ने लगे. घर के तोड़-फोड़ करने को लेकर दूसरे पक्ष के लोगों द्वारा विरोध करने पर मामला काफी गंभीर हो गया और एक पक्ष के समर्थकों द्वारा अंधाधुंध तीर फायरिंग किया जाने लगा. जिससे मुन्ना यादव और जयकृष्ण यादव गंभीर रूप से जख्मी हो गए. घटना की जानकारी मिलते ही चौसा पुलिस मौके पर पहुंच कर घटना स्थल एक दबिया, एक तीर और एक मोबाइल बरामद किया है.
       पुलिस ने बताया कि बरामद किये गये मोबाईल से कॉल्स डिटेल्स भी निकाला जायेगा. घटना को लेकर आक्रोशित लोगों ने चौसा उदाकिशुनगंज राजकीय उच्च पथ 58 को घंटो जाम कर आवागमन को बाधित किया. जिससे आवागमन पूरी तरह बाधित रहा. सड़क पर वाहनों का काफिला लगा रहा.
   इस बावत अनंत जायसवाल बताते हैं कि उनके पास डेढ़ बीघे जमीन का केवाला है जिसे दूसरे पक्ष के लोग इसे जबरदस्ती दखल करना चाहते हैं जबकि दूसरे पक्ष के राजेश्वर यादव, जयकृष्ण यादव, नोखेलाल यादव, अर्जुन यादव का कहना है कि मेरे पास उक्त जमीन का खतियान है.
    घटना को लेकर मालती देवी ने चौसा थाना में एक आवेदन देकर आधे दर्जन लोगों को नामजद और 50 लोगों को अज्ञात अभियुक्त बनाया है. जिसमें पुलिस ने तक्षण कार्रवाई करते हुए मोनू कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. बहरहाल जो भी हो, जमीन का साक्ष्य दोनों पक्ष के लोगों के पास होना बताया जाता है. घटना को लेकर गांव में तनाव व्याप्त है और कभी भी दोनों पक्षों के बीच एक बार फिर खून-खराबा हाने की आशंका व्यक्त की जा रही है.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...