12 जून 2016

भवन निर्माण के दौरान छड़ बिजली के तार से सटा, मौत

घरों के ऊपर से गुजरते बिजली के तार जानलेवा साबित हो रहे हैं और विभाग घर-घर बिजली पहुंचाने के दौरान छतों और घरों के ऊपर से भी तार ले जाने में सावधानी नहीं बरत रही है.
      मधेपुरा जिले के  मुरलीगंज के पकिलपार गाँव मे आज दोपहर बिरेन्द्र रजक पिता  स्वर्गीय लक्ष्मी रजक जब अपने पक्के भवन का निर्माण करवा रहे थे तो उसी दौरान लोहे के छड़ को  खुद बिरेन्द्र रजक  (उम्र 29 साल) और किनो मंड़ल (उम्र 30 साल) पकड़ कर सीधा कर रहे थे. बताया गया कि उसी क्रम में छड़ पोल के बिजली के तार से सम्पर्क में आ गया और उसमें प्रवाहित करेंट से किनो मंड़ल  की मौत हो  गयी  जबकि बिरेन्द्र रजक बुरी तरह  झुलस चुके हैं. 
   मुरलीगंज अस्पताल मे  उस समय मौजूद डाक्टर सुनील हंसदा ने बताया कि जिस समय किनो मंड़ल को अस्पताल लाया गया था, उसकी मौत हो चुकी थी.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...