16 मई 2016

बारात आए बच्चे को दूसरी बस ने मारी ठोकर, नाजुक

जश्न को मातम में बदलते देर नहीं लगती. पिता के साथ बड़े शौक के बारात आया बच्चा अभी जिन्दगी और मौत के बीच जूझ रहा है.
     बताया गया कि सुपौल जिले के चैनसिंह पट्टी के अलीम उद्दीन का 6 वर्षीय बेटा जब पिता के साथ बारात जाने की जिद करने लगा तो पिता उसे अपने साथ मधेपुरा लाने को तैयार हो गया. पापा के साथ मधेपुरा एक शादी में बरात आये हुऐ इस बच्चे को इस बात का जरा भी एहसास नहीं था कि कुछ ही पलों में वह मौत से लड़ने लगेगा.
 सिंहेश्वर के पास रास्ते में बरात की बस रूकी तो अपने बस से उतर क़र पेशाब करने के लिये दिलखुश जैसे ही नीचे आया, विपरीत दिशा से आ रही एक पुष्पक विमान नामक बस BR 50D 19 7545 ने दिलखुश  को बुरी तरह से जख्मी क़र दिया. बस को सिंहेश्वर पुलिस पकड़ कर थाना ले आई है. उधर अस्पताल में चिकित्सक दिलखुश की नाजुक हालत को देखकर इलाज के लिए बाहर रेफर करने की तैयारी में थे.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...