16 अप्रैल 2018

मधेपुरा में भगोड़े शिक्षकों में मोबाइल एप्प का खौफ, एप्प से स्कूलों की जांच शुरू

मोबाइल एप्प से सोमवार के दिन से शुरू किए गए  विद्यालयों की जाँच का खौफ मधेपुरा जिले के बिहारीगंज प्रखंड के विभिन्न विद्यालयों में साफ दिखा। 

एक ओर जहाँ भगोड़े शिक्षक सुबह से ही अपने नीयत समय पर विद्यालय में चहलकदमी करते दिखे वहीं लेट से आने वाले शिक्षक भी आज विद्यालय में समय से पहले पहुंच गये।

ज्ञात हो हाल के दिनों में हीं बिहार के  शिक्षामंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने उक्त एप्प का उद्घाटन किया था। जिसके माध्यम से 16 अप्रैल से जांच आरंभ करने का समय पूर्व से  निर्धारित किया गया था। जिसमें प्रत्येक बीआरपी व हर सीआरसी को पांच पांच विद्यालय जांच करने को आदेशित किया था।

बीआरपी शिवराज राणा, युगेश्वर नायक, ललन प्रसाद यादव, व सीआरसी रवीन्द्र यादव, मुकेश कुमार आदि ने क्रमशः बताया कि उनके द्वारा म०वि० बिहारीगंज, उ०म० विद्यालय बिहारीगंज, प्रा०वि० बढैया बासा, प्रा०वि० ततमा टोला, गायत्री झंवर कन्या म०वि० बिहारीगंज, उ०उर्दू०म०वि० हथिऔंधा रैन टोला, उ०म०वि० हथिऔंधा चण्डी टोला आदि विद्यालय का निरीक्षण किया गया। उपरोक्त स्कूलों में व्यवस्था सही पाया गया। 

वहीं म०वि० मंडल टोला सीआरसी रवींद्र कुमार यादव ने बताया कि दो स्कूलों के निरीक्षण के दौरान उ० उर्दू विद्यालय मस्जिद टोला विद्यालय पर पहुंचने के बावजूद उक्त एप्प में 1.2 किलोमीटर शो करता रहा, उ०म०वि०मोतीचक  पहुंचने पर 1.4 किलोमीटर शो करता रहा इस कारण उक्त विद्यायलयों की जांच प्रपत्र के माध्यम से कर संतुष्ट होना पड़ा। बताया गया कि एप्प में जबतक 500 मीटर से कम दूरी शो नहीं करता है, तबतक वह काम नहीं करता है। फिलहाल जो भी तकनीकी समस्या हो इतना तो आज जरूर हुआ कि विद्यालयों में अचानक सुधार दिखने लगा, जो आने वाले अच्छे दिन के संकेत हैं  ।
(रिपोर्ट: रानी देवी)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...