21 फ़रवरी 2018

बैंक के सामने झपटमार गिरोह के दो शातिर गिरफ्तार, चोरी की बाइक बरामद

मधेपुरा में आज कमांडो दस्ता ने बुधवार को स्टेट बैंक मुख्य शाखा के सामने नाटकीय ढंग से झपटमार गिरोह के दो शातिर बदमाश को गिरफ्तार कर लिया. जिसके बाद लूट की बाइक भी रामद की गई.


मिली जानकारी के अनुसार अपराधी बैंक से रूपये निकाल कर बाहर जाने वाले ग्राहक का रेकी कर रहे थे गिरफ्तार अपराधियों ने जिले मे तीन घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार किया है ।
 
बताते चलें कि 14 फररी को जब अधिकाँश पुलिस बल सिहेंश्वर मेला के आयोजन में शरीक थे तो उसी का फायदा उठाकर झपटमार  गिरोह के दो बाइक सवार अपराधियों ने सदर अस्पताल के एक एएनएम बिमला विसरा के एक लाख रूपये लेकर उस समय फरार हो गए जब वह एक स्वास्थ्यकर्मी के साथ बाइक से जा रही थी. पुलिस की जांच मे पता चला कि घटना को कटिहार जिले के कोढ़ा गांव के  अपराधी ने अंजाम दिया था ।
आज भी गिरफ्तार अपराधी कोढ़ा गांव के रहने वाले हैं. चूंकि बुधवार से मैट्रिक की परीक्षा शुरू हो रही थी और इन्हें पता था कि पुलिस परीक्षा और सुरक्षा व्यवस्था में लगी है. अपराधी इसी का फायदा उठाने के फिराक मे थे लेकिन एसपी विकास कुमार ने कमांडो दस्ता को परीक्षा सुरक्षा के साथ साथ  अपराधी पर विशेष नजर रखने का आदेश  दिया था । 

सदर थानाध्यक्ष के०बी० सिंह ने आयोजित पत्रकार सम्मेलन मे बताया कि होली के मौके पर पराधिक घटना को अंजाम देने की आशंका के मद्देनजर एसपी के निर्देश पर तमाम बैंक के आसपास चौकसी बधाई गई थी. इस दौरान आज कमांडों ने स्टेट बैंक के सामने दो युवकों को देखा जो अपनी बाइक  लगाकर खड़े थे. जिले के बाहर होने की आशंका पर और कुछ शक होने पर कमांडो हेड विपीन कुमार ने युवक से पूछ कि घर कहां है तो युवक ने अपना घर जिले के शंकरपुर होने की बात कही, लेकिन युवक की तलाशी ली तो उसके जेब से एक बाइक और डिक्की का मास्टर चाबी रामद हुआ. फिर दोनो को गिरफ्तार कर थाना लाया गया । अपराधी ने पुलिस को पूरी तरह रगलाया और छोड़ने के एवज में 50 हजार रूपये की पेशकश भी की, पर उनकी कोई चतुराई काम न आई.

पूछताछ मे दोनों अपराधियों ने जिले के तीन छितनई की घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार की, जिसमें शहर में 14 फरवरी को एक नर्स से एक लाख, आलमनगर मे एक लाख 20 हजार और सिहेंश्वर में  22 हजार रूपये लेकर ये फरार हुए थे
 
थानाध्यक्ष श्री
सिंह ने ताया कि पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ कि बाइक चोरी, पाकेटमारी, रूपया छीनने की घटना को ये अंजाम देते थे
बताया कि रामद वाइक चोरी की है.  अपराधी ने इसे पूर्णिया से चोरी करने की बात बताया लेकिन जांच में पता चला कि बाइक मुजफ्फरपुर के गरौल थाना क्षेत्र के चेहर काला गांव के रघुनाथ चौधरी की पल्सर है जिसका नम्बर BR 06 1N 5776 था लेकिन अपराधी ने गलत नम्बर BR 37 R 4051 का नंबर प्लेट लगा रखा था ।

थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी के कटिहार जिले के कोढ़ा गाँव के नया टोला के दीपक यादव और श्रृषि यादव के रूप मे पहचान हुई है ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...