31 मई 2016

मधेपुरा की बेटी ने पाई निफ्ट में अद्भुत सफलता: बड़ी फैशन डिजाइनर बनना चाहती है नेहा

इन दिनों हर तरफ बेटियों का ही जलवा दिख रहा है. हम किसी के कम नहीं की तर्ज पर कई क्षेत्रों में बेटियां अब बेटों से भी आगे निकल रही है. दूसरी तरफ कोसी के इलाके के छोटे शहरों में भी बयार बदली-बदली सी नजर आ रही है और बेटियां उन क्षेत्रों में भी कामयाबी की दस्तक दे रही है जिससे इलाका करीब अछूता था.
    मधेपुरा नगर परिषद् क्षेत्र के लक्ष्मीपुर मोहल्ला वार्ड नं. 17 के साहा निवास में जश्न का माहौल है. हो भी क्यूं नहीं? सीआईडी में अधिकारी सुनील कुमार साहा उर्फ़ शेखर साहा और गृहणी किरण साहा की बड़ी बेटी नेहा ने कठिन माने जाने वाले निफ्ट (National Institute of Fashion Technology) की परीक्षा में बेहतर रैंक से बाजी जो मार ली है. बेटी के फैशन डिजायनर बनने का सपना साकार हो रहा है तो एक पिता के लिए इससे बड़ी बात और क्या हो सकती है.
    पिता को ही आदर्श व्यक्तित्व मानने वाली वर्ष 1996 में जन्मी नेहा के सफलता की पृष्ठभूमि मधेपुरा से ही शुरू होती है. प्राथमिक शिक्षा से लेकर स्थानीय जेनरल हाई स्कूल से वर्ष 2012 में मैट्रिक और टी.पी. कॉलेज से आई. एस-सी करने के बाद अभी पॉलिटिकल साइंस के प्रथम वर्ष में ही रहते NIFT में सफलता (ऑल इंडिया रैंक- 2648, ओबीसी रैंक- 398) हासिल करने वाली नेहा का इस परीक्षा में चयन गत वर्ष भी हुआ था, पर रैंक बेहतर नहीं रहने की वजह से उसने दुबारा कड़ी मिहनत की और प्रयास रंग लाया.
    मधेपुरा टाइम्स से ख़ास बातचीत में स्केचिंग और ड्राइंग की शौकीन नेहा कहती है कि वह इस सफलता से बेहद खुश है और सारा श्रेय पहले माँ-पिता को देना चाहेगी कि उन्होंने छोटे से जगह से फैशन टेक्नोलॉजी के कैरिअर चुनने के मेरे फैसले में साथ दिया और धैर्य रखते हुए हमेशा से मेरा मनोबल बढाया. अपने शुभचिंतकों और दिशानिर्देश देने वालों का भी आभार व्यक्त करती है. अब सपने सच हुए हैं तो वह एक बड़ी फैशन डिजायनर बन कर दिखाना चाहती है.
     पूर्व में जुड़ो की विधा जीत-कुनैडो से ख्याति अर्जित कर चुकी नेहा कहती है बेटियां हर क्षेत्र में सफलता अर्जित कर सकती है, क्योंकि उनमे लगन है, धैर्य है और माँ-बाप के सपनों को साकार करने की क्षमता है. वैसे भी हम कोसी की बेटियां हैं.
(Report: R.K.Singh)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...