अचानक बढ़ी ठंढ से निकले स्वेटर और जैकेट

संवाददाता/०७ नवंबर २०११
कल अचानक मौसम में आई तब्दीली ने जिले के लोगों को भरपूर ठंढ का एहसास करा दिया है.सुबह से ही कुहासा और ठंढ से जहाँ लोग परेशान दिखे वहीं दिन की बारिश से ठंढ में और भी वृद्धि दर्ज की गयी है.अचानक आई इस ठंढ ने जहाँ कईयों की तबियत खराब कर दी वहीं लोगों को स्वेटर और जैकेट निकालने को भी मजबूर कर दिया.शाम के बाद शहर में भी बहुत से लोग स्वेटर, मफलर और टोपी लगाये दिखे.लोगों का कहना था कि पिछले साल ठंढ बहुत देर से आई थी जिससे लोग अभी ठंढ का सामना करने को मानसिक रूप से तैयार नहीं थे.यही वजन थी कि लोग ठंढ के कपड़े अभी निकाले नहीं थे.दिन की बारिश भी बेमौसम थी जिसने ठंढ को बढाने में कोई कसर नहीं छोड़ी.जिले के लोगों का यह भी मानना है कि नवंबर के शुरुआत में ही जब ठंढ ने इस कदर बेहाल कर दिया है तो दिसंबर और जनवरी में ये अपना कहर बरपा सकता है.
               बाजार में कुछ लोगों का कहना था कि दो-चार साल पहले जब ठंढ कम पड़ी तो वैज्ञानिकों ने इसे ग्लोबल वार्मिंग का परिणाम बता अपनी बात ऊपर करनी चाही.कहा जनसंख्यां वृद्धि और प्रदूषण बढ़ने से गरमी बढ़ी है,पर अब तो विश्व की जनसंख्यां सात अरब हो चुकी है और प्रदूषण में भी इजाफा ही हो रहा है,तो फिर ठंढ क्यूं? पास खड़े एक रिक्शाचालक बूढ़े ने यह कहकर सबको चुप करा दिया कि ईश्वर और प्रकृति की लीला वैज्ञानिकों की समझ से बाहर की चीज है.
अचानक बढ़ी ठंढ से निकले स्वेटर और जैकेट अचानक बढ़ी ठंढ से निकले स्वेटर और जैकेट Reviewed by मधेपुरा टाइम्स on November 07, 2011 Rating: 5

1 comment:

  1. सही कहा, मैंने भी आज सुबर हैकेट पहनी

    ReplyDelete

Powered by Blogger.